For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    उत्तर रामायण का ग्रांड फिनाले - आंसुओं के साथ राम - सीता की विदाई, देखिए रिएक्शन

    |

    रामायण का आखिरी एपिसोड, जहां लव कुश के गाने के साथ पूरी रामायण की कथा सुनाई गई और इसके बाद सीता माता धरती में समा गई। लोगों ने काफी भावुक होकर ये एपिसोड देखा और अपने रिएक्शन दिए।

    इस एपिसोड में जहां लव और कुश, श्रीराम को बताते हैं कि प्रभु श्रीराम ही उनके पिता हैं वहीं माता सीता, वापस धरती की कोख में समा जाती हैं। लोग ये सीन देखकर बहुत इमोशनल हुआ।

    गौरतलब है कि उत्तर रामायण, 1989 में बनी थी। इस दौरान, रामानंद सागर पर काफी केस चल रहे थे और वो सेट पर बहुत कम आ पाते थे। इस सीरियल की शूटिंग उनके बेटों ने पूरी की थी।

    वहीं अब लोग एक बार फिर से ये सीरियल देखकर काफी खुश हुए। वैसे भी रामायण के आखिरी एपिसोड के बाद अब लोग वैसा ही खालीपन महसूस कर रहे हैं जैसे अपने फेवरिट सीरियल के बंद होने के बाद करते हैं। यहां देखिए लोगों के रिएक्शन

    उत्तर रामायण का आखिरी एपिसोड

    उत्तर रामायण का आखिरी एपिसोड

    जब पूरा देश एक साथ रोया - उत्तर रामायण का ग्रांड फिनाले

    जमकर तारीफ

    जमकर तारीफ

    आत्मा और परमार्थ का सही ज्ञान आज के उत्तर रामायण के एपिसोड में मिला। क्या शानदार शो बनाया था।

    सुकून भरा शो

    सुकून भरा शो

    बहुत ही दिल को सुकून देने वाला एपिसोड। इतना शानदार शो जो आपकी सारी भावनाएं जगा देगा।

    परिवार का समय

    परिवार का समय

    मुझे याद नहीं कि आखिरी बार कब पूरे परिवार के साथ बैठकर टीवी देखी थी।

    यादों में रहेगा ताज़ा

    यादों में रहेगा ताज़ा

    इस सीरियल का आखिरी सीन।

    रामानंद सागर की तारीफें

    रामानंद सागर की तारीफें

    ये देश रामानंद सागर का आभारी रहेगा जिन्होंने इतने शानदार सीरियल को बनाया। डीडी नेशनल और अरूण गोविल का धन्यवाद कि उन्होंने लोगों के दिल में इतने प्यार से जगह बना ली।

    जीवन में कुछ अच्छा

    जीवन में कुछ अच्छा

    उत्तर रामायण देखने के बाद अब पूरा देश एक साथ श्रीकृष्ण की लीलाओं को देखने के लिए तैयार है। इन धारावाहिकों ने जीवन में कुछ अच्छा बदलाव किया है। ऐसा लगता है कि हर दिन की शुरूआत सतसंग से होती है। ज्ञान, भक्ति और धर्म की बातों के साथ।

    पूज्य पिता - श्रीराम हमारे

    पूज्य पिता - श्रीराम हमारे

    उस दुखिया के राजदुलारे
    हम ही सुत श्री राम तुम्हारे
    सीता माँ के आँख के तारे
    लव कुश है पितू नाम हमारे।।

    यूँ ही सीता माँ नहीं कहलाती
    क्या क्या नहीं सहा है माँ ने।श्री राम और माँ सीता के चरणो में नमन
    भावुक प्रदर्शन

    भावुक प्रदर्शन

    स्वप्निल जोशी इतने भावुक प्रदर्शन के लिए धन्यवाद। बेहद शानदार अभिनय। अब तो सच में नहीं पता कि कल से रात और सुबह 9 बजे हम करेंगे क्या!

    ढेर सारी बधाई

    ढेर सारी बधाई

    मेरे माता पिता स्वप्निल जोशी को ढेर सारा प्यार और आशीर्वाद दे रहे हैं। कुश आपसे बेहतर और कोई नहीं कर सकता था। ईश्वर आपको काफी सफलता दे।

    बेहद मज़बूत सीन

    बेहद मज़बूत सीन

    इस सीन को देखकर फैन्स के रोंगटे खड़े हो गए। सीता के आह्वान पर धरती फटती है और सीता जी, धरती माता के साथ उसमें समाहित हो जाती है।

    English summary
    Uttar ramayan last episode made the nation emotional with Luv Kush. Audiences bid a teary farewell to Ram and Sita.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X