»   » #Shock: दीपिका के बिना कैसे बनेगा ये ब्लॉकबस्टर सीक्वल?

#Shock: दीपिका के बिना कैसे बनेगा ये ब्लॉकबस्टर सीक्वल?

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

स्टार प्लस का सीरियल दीया और बाती हम सुपरहिट था और हमेशा टीआरपी की लिस्ट में सबसे ऊपर रहता था। यही कारण था कि जब शो बंद हुआ तो फैन्स को काफी झटका लगा। इसलिए सीरियल की लोकप्रियता भुनाते हुए इसके सीज़न 2 को अनाउंस कर दिया गया।

लेकिन शो की लीड हीरोइन दीपिका सिंह यानि कि संध्या बींदणी इस सीज़न 2 के लिए राज़ी नहीं हुईं और स्टार प्लस ने दीया और बाती हम का स्लॉट प्राइम टाइम यानि कि 9 बजे से उठाकर सीधा दिन में 2 बजे कर दिया है।

Diya-aur-baati-hum-season-2Diya aur baati hum, tv serial, sandhya, sooraj, दीया और बाती हम Diya aur baati hum, tv serial, sandhya, sooraj, दीया और बाती हम

माना जा रहा है, कि शो की पूरी कास्ट वही है पर लीड नहीं। और लीड पेयर सूरज - संध्या यानि कि दीपिका सिंह और अनस रशीद के बिना, ये शो हिट होगा, इस बारे में स्टार प्लस को काफी डाउट है। वैसे भी पिछली बार की गलती स्टार प्लस दोहराना नहीं चाहता है।
[[ये हैं टीवी की बेस्ट जो़ड़ियां...इतना रोमांस कि देखते रह जाएंगे]] 

दरअसल, बरूण सोबती और सनाया ईरानी स्टारर इस प्यार को क्या नाम दूं के साथ भी ऐसा ही हुआ था। शो की लीड खुशी कुमारी गुप्ता और अर्णव सिंह रायज़ादा की लव स्टोरी सुपरहिट थी लेकिन दोनों ने अचानक शो छोड़ा और शो को बंद करना पड़ा।

बाद में स्टार प्लस इस प्यार को क्या नाम दूं के सीज़न 2 के साथ लौटा जो इतना पॉपुलर नहीं हुआ और उसे खिसका कर 6 बजे शाम का स्लॉट मिल गया।
[[केवल शाहरूख खान को कॉपी करते हैं टीवी के ये 10 एक्टर!]] 

अब देखना है कि दीपिका - अनस के बिना दीया और बाती हम सीज़न 2 का क्या हाल होता है। जानिए क्यों था ये सीज़न सुपरहिट -
 

कहानी का अनोखा कॉन्सेप्ट

कहानी का अनोखा कॉन्सेप्ट

एक लड़की जिसका सपना था अफसर बनना और उसकी शादी हो जाती है एक हलवाई से। और वही हलवाई यानि सूरज उसकी पत्नी का सपना पूरा करने में साथ देता है। ये एक कॉन्सेप्ट साबित हुआ जिसने लोगों का दिल जीत लिया।

हिट जोड़ी

हिट जोड़ी

पढ़ी लिखी संध्या और अनपढ़ सूरज की अनोखी लव स्टोरी को दर्शकों के सामने इस तरह से पेश किया गया कि ये जोड़ी एक आदर्श जोड़ी के रूप में मानी जाने लगी।

सूरज का भोलापन

सूरज का भोलापन

पूरे सीरियल का आकर्षण का केंद्र रहा सूरज का भोलापन, उसकी इमानदारी। सूरज का किरदार एक मासूम और भोले व्यक्ति का किरदार था, जिसने लोगों को अपने साथ बांधे रखा।

भाभो का खट्टा-मीठा मिजाज

भाभो का खट्टा-मीठा मिजाज

सीरियल के शुरुआत में भाभो को एक ऐसी सास दिखाया था जो बहुत कड़वे स्वभाव की थी। संध्या की पढ़ाई के पूरी तरह खिलाफ। फिर बाद में उसी भाभो का संध्या का एक मां की तरह उसकी पढ़ाई में साथ देना और उसके अफसर बनने के बाद गर्व करना...ये देखकर लोगों का दिल खुश हो गया।

आदर्श बहू, ईमानदार अफसर

आदर्श बहू, ईमानदार अफसर

एक तरफ संध्या का आदर्श बहू होना दूसरी ही तरफ एक ईमानदार और कड़क पुलिस अफसर। दो किरदारों को बखूबी निभाया है संध्या ने। एक ये कारण भी रहा है शो के हिट होने का।

एक तरफ नाजुक तो दूसरी तरफ स्ट्रॉंन्ग संध्या

एक तरफ नाजुक तो दूसरी तरफ स्ट्रॉंन्ग संध्या

एक तरफ साड़ी पहनकर पल्ला लेने वाली नाज़ुक संध्या, जरूरत पड़ने पर दुश्मनों के साथ मारपीट भी करती है। ऐसे में लोग तो इंप्रेस होने ही थे।

मीनाक्षी की कॉमेडी

मीनाक्षी की कॉमेडी

अब शो में मीनाक्षी जैसा किरदार न होता तो भी शायद टीआरपी कम हो सकती थी। मीनाक्षी का तीखी मिर्ची जैसा किरदार लोगों को हसने पर मजबूर कर ही देता था।

टाइमिंग

टाइमिंग

शो की टाइमिंग भी कोई खराब नहीं थी। रात को 9 बजे टेलिकास्ट होना शो की टीआरपी को बढ़ाने में कारगर साबित हुआ।

फैंस थे निराश

फैंस थे निराश

काफी समय तक हिट रहने वाले इस शो की बेशक टीआरपी कम हो गई थी लेकिन शो बंद होते ही फैंस काफी निराश हुए थे।

क्या कमाल करेगा सीज़न 2

क्या कमाल करेगा सीज़न 2

शो का सीज़न 2 क्या कमाल करेगा ये तो देखने लायक होगा। वैसे भी शो में कुछ नए चेहरे और नई लव स्टोरी दिखने वाली है।

Read more about: mumbai
English summary
Star Plus not confident about Diya aur Baati Hum without Deepika Singh.
Please Wait while comments are loading...