For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    सन्स ऑफ द सॉयल रिव्यू : दिलचस्प और प्रेरक है अभिषेक बच्चन की 'जयपुर पिंक पैंथर्स' का सफर

    |
    Rating:
    3.5/5

    निर्देशक - एलेक्स गेल

    स्टारकास्ट - अभिषेक बच्चन और पूरी जयपुर पिंक पैंथर्स टीम

    प्लेटफॉर्म - अमेज़न प्राइम वीडियो

    एपिसोड - 5 एपिसोड/हर एपिसोड की अवधि - 30 मिनट

    'सन्स ऑफ द सॉयल- जयपुर पिंक पैंथर्स' स्पोर्ट्स डॉक्यूमेंट्री सीरीज का निर्माण बीबीसी स्टूडियोज इंडिया और निर्देशन 2 बार बाफ्टा स्कॉटलैंड पुरस्कार जीत चुके एलेक्स गेल ने किया है। सीरीज में प्रो कबड्डी लीग के सातवें सीजन में जयपुर पिंक पैंथर्स के प्रेरणादायक सफर को दिखाया गया है। अभिषेक बच्चन की इस टीम का सफर दर्शकों को कई अनछुए, अनसुने पहलूओं से अवगत कराएगा।

    प्रो कबड्डी लीग ने भारत में अपनी एक अलग पहचान बना ली है, जिसके जरीए इस खेल को एक दमदार प्लैटफॉर्म मिला है। अभिषेक बच्चन इस खेल के सबसे प्रमुख योगदानकर्ताओं में से एक हैं जो टीम जयपुर पिंक पैंथर्स के मालिक हैं। बीबीसी स्टूडियो इंडिया द्वारा निर्मित, सन्स ऑफ द सॉयल- जयपुर पिंक पैंथर्स इसी टीम के अविश्वसनीय सफर को दिखाता है, जहां इनका उतार- चढ़ाव किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं। इसमें दर्शकों को खिलाड़ियों की मजबूत दृढ़ता, कड़ी तैयारी और जबदस्त मेहनत देखने का मौका मिलेगा।

    पूरी तरह से unfiltered सीरिज

    पूरी तरह से unfiltered सीरिज

    इस सीरिज के बारे में अच्छी बात यह है कि इसमें कबड्डी को ग्लैमराइज नहीं किया गया है। इसमें टीम की जीत और हार नाटकीय नहीं लगती है। कह सकते हैं कि यह पूरी तरह से unfiltered है। सीरिज की शुरुआत अभिषेक बच्चन के संचालन से होती है, जहां वो कहते हैं- शुरुआत में जब मैंने लोगों को बताया था कि मैंने कबड्डी टीम खरीदी है, तो सभी मुझ पर हंस पड़े थे। लोगों ने कहा था, 'अब इसके बाद क्या, गल्ली डंडा!' लेकिन मुझमें इस खेल और अपनी टीम को लेकर एक पैशन है।

    मजबूत कंटेंट

    मजबूत कंटेंट

    सन्स ऑफ द सॉयल कबड्डी से ज्यादा, इस बात को दिखाती है कि मीडिया स्पॉटलाइट से आए पैसे और प्रसिद्धि की चकाचौंध में युवा खिलाड़ी किस तरह चुनौतियों का सामना करते हैं और जवाब देते हैं। अभिषेक बच्चन यहां खेल के बारे में, देश के लिए इस खेल की महत्ता और इसके खिलाड़ियों के बारे में बताते हैं। यह सीरिज साफ तौर पर ऐसे लोगों के लिए बनाया गया है, जिन्हें इससे जुड़ी ज्यादा जानकारी नहीं है।

    भावनात्मक सफर

    भावनात्मक सफर

    टीम से जुड़े लोग किस तरह खेल के माध्यम से अपना पूरा जीवन गढ़ रहे हैं, इस सीरिज में यह भी देखने को मिलता है। साथ ही यहां टीम की कमियों को भी पेश किया गया है। यह शो टीम के चार प्रमुख खिलाड़ियों के जीवन की गहराई में ले जाता है- कप्तान दीपक हुडा, दीपक नारवाल, नीलेश संलुखे और नितिन रावल। उनके अलग अलग संघर्ष रहे, लेकिन यहां तक पहुंचने का उनका सफर काफी भावनात्मक रहा।

    क्या अच्छा, क्या बुरा

    क्या अच्छा, क्या बुरा

    जैसा कि हमने पहले कहा कि यहां खेल को ग्लैमराइज नहीं किया गया है.. शो में टीम की हार भी आपको झंझोरती है। यहां तक कि एक मैच में हारने के बाद, अभिषेक बच्चन कैमरामैन को कमरे से बाहर रहने की हिदायत देते हैं। बंटी वालिया का गुस्सा भी साफ दिखता है कि वह सिर्फ कैमरा के लिए नहीं है। तमाम सकारात्मक पक्षों के बावजूद सीरिज में कुछ कमियां हैं। यदि आप इस खेल के बारे में थोड़ी- बहुत जानकारी भी रखते हैं, तो बोरियत हो सकती है। कई दृश्यों में दोहराव है। साथ ही सीरिज का अंत ज्यादा प्रभावी नहीं बन पाया है।

    Must Watch है सीरिज

    Must Watch है सीरिज

    बहरहाल, एक कबड्डी मैच के दौरान ही नहीं, बल्कि उससे पहले और बाद में क्या होता है.. यहां शानदार तरीके के साथ दिखाया गया है। खासकर यदि आप प्रो- कबड्डी को फॉलो करते हैं तो यह शो आपके लिए एक ट्रीट साबित होगी। जाहिर तौर पर ओटीटी पर देखने के लिए यह एक बेहतरीन कंटेंट है।

    English summary
    Sons Of The Soil Review: Abhishek Bachchan’s Jaipur Pink Panthers journey is an unfiltered treat for audience, released on Amazon Prime Video.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X