For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    रामायण की फीस बताने में शर्म आती है, मुझे अवॉर्ड भी नहीं मिला- सीता 'दीपिका चिखलिया' का दर्द !

    |

    की सीता दीपिका चिखलिया लगातार अपने बेबाक बयान को लेकर चर्चा में हैं। इस बार दीपिका ने ये खुलासा किया है कि रामायण की फीस इतनी कम थी कि वह इसका जिक्र किसी से भी नहीं कर सकती हैं। उन्होंने इसे लेकर अपना दुख जाहिर किया है। दीपिका ने एक वेबसाइट से बातचीत में कहा है कि फीस के साथ मुझे कभी कोई पुरस्कार भी नहीं मिला।

    मेरे अनुसार मुझे 3 फिल्मों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिल सकता था। राजेश खन्ना के साथ मैंने खुदाई फिल्म की। इसके लिए मुझे अवॉर्ड मिलना चाहिए था।

    वह कहती है कि कई प्राइवेट अवॉर्ड समारोह में मुझे बुलाया गया, जब मैं नहीं गई और पूछा कि कहां है अवॉर्ड तो बोला गया कि किसी और को दे दिया गया।

    दीपिका ने बताया कि उस वक्त सरकार की तरफ से बेरुखी दिखाई गई थी। चलिए जानते हैं कि दीपिका चिखलिया ने रामायण की फीस को लेकर क्या खुलासा किया है।

    मैंने अपने पति को भी फीस नहीं बताई- दीपिका चिखलिया

    मैंने अपने पति को भी फीस नहीं बताई- दीपिका चिखलिया

    एकवेबसाइट से बातचीत में दीपिका चिखलिया ने कहा कि मेरे पति को आज तक नहीं पता कि मुझे कितनी फीस मिली थी। मैं कभी बताऊंगी भी नहीं। वरना लोग सोचेंगे कि इसे इतनी कम फीस कैसे दे सकता है कोई।
    रामायण में इस वजह काम किया इसे अच्छे तरीके से बनाया गया था

    रामायण केवल टीवी शो नहीं है

    रामायण केवल टीवी शो नहीं है

    वह आगे कहती हैं कि रामायण को केवल टीवी शो नहीं समझना चाहिए। रामायण की टीम ने इसमें कला, सभ्यता और कई प्रमुख चीजों को जोड़ा है। इस शो के हर कलाकार ने किरदार में डूब कर काम किया है।

    तब भी फीस बताने में शर्म आती थी और आज भी आती है

    तब भी फीस बताने में शर्म आती थी और आज भी आती है

    राय साझा करते हुए दीपिका ने कहा कि दर्शकों ने हमें भगवान समझ लिया, हमने कई भी पैसे की लालच में कोई भी ऐसा काम नहीं किया जिससे उनकी भावना दुखी हो। उस समय की मौजूदा सरकार से हमें कोई भी सम्मान नहीं मिला। कोई भी पुरस्कार नहीं। रामायण में काम करने की फीस इतनी कम थी कि मुझे तब भी लोगों को बताने में शर्म आती थी, आज भी शर्म आती है।

    हमें कोई रॉयल्टी भी नहीं मिली- दीपिका चिखलिया

    हमें कोई रॉयल्टी भी नहीं मिली- दीपिका चिखलिया

    हमेंकोई रॉयल्टी भी नहीं मिली। हमारा अधिकार है रॉयल्टी पर। हॅालीवुड में देखिए, वहां के कलाकारों को रॉयल्टी मिलेना का बड़ा और अच्छा कानून है। इतना ही नहीं मेरी फिल्में भी सुपरहिट रही थीं। लेकिन उसके लिए भी मुझे कोई पुरस्कार नहीं मिला।

    दीपिका चिखलिया ने की मोदी सरकार से अपील

    दीपिका चिखलिया ने की मोदी सरकार से अपील

    दीपिका ने मोदी सरकार से अपील करते हुए कहा है कि जिस तरह रामायण शो को एक बार फिर से दुनिया के सामने लाने का काम किया गया है। जैसा लोगों का प्यार मिला है। अगर मोदी जी को लगे कि रामायण की टीम ने समाज में कुछ काम किया है तो हमें पद्म सम्मानों से सम्मानित करने के बारे में सोचें।

    30 से अधिक सालों तक रामायण को हमने जिंदा रखा

    30 से अधिक सालों तक रामायण को हमने जिंदा रखा

    रॉयल्टी की मांग करते हुए दीपिका ने इससे पहले कहा था कि ये हमारे पास नहीं है। मुझे लगता है कि हमें रॉयल्टी मिलनी चाहिए। मैं इसके बारे में लोगों से बात कर रही हूं। यहां बात सिर्फ रामायण की नहीं है। बल्कि हमने करियर के 30 से अधिक सालों तक रामायण को आज भी लोगों के बीच जिंदा रखा है। उन्हें हमें रॉयल्टी देनी चाहिए। मुझे नहीं पता कि ये कैसे होगा। लेकिन होना चाहिए।

    हम नहीं होते तो आप रामायण नहीं देख पाते

    हम नहीं होते तो आप रामायण नहीं देख पाते

    सरकारको इसमें आगे आना चाहिए।। हमें रॉयल्टी देनी चाहिए। रामायण से इसकी शुरुआत होनी चाहिए। हमने अपना अहम योगदान दिया है। हम नहीं होते तो आप रामायण को आज नहीं देख पाते। उन्हें हमसे रॉयल्टी शेयर करना चाहिए।

    Read more about: ramayan रामायण
    English summary
    Ramayan Sita deepika chikhalia reaction on fees and national award, here read full detail news about the same
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X