For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    डीडी रामायण के सुपर हीरो असलम खान , हजारों की भीड़ को देख बनते भगवान राम, दिलचस्प किस्सा

    |

    दूरदर्शन रामायण का टेलीकास्ट 33 साल बाद हो रहा है। इस शो ने राम-सीता और लक्ष्मण की लोकप्रियता को आसमान पर पहुंचा दिया। कहीं ना कहीं एक स्टार ऐसा भी रहा जो उस वक्त भले छिप गया हो लेकिन आज सबके सामने आ गया है। हम बात तक रहे हैं कलाकार असलम खान की। उन्होंने रामायण में एक नहीं बल्कि दर्जन भर भूमिका निभाई।

    शक्तिमान का सीक्वल होगा, एकता कपूर ने महाभारत का मर्डर किया- मुकेश खन्ना का भड़का गुस्साशक्तिमान का सीक्वल होगा, एकता कपूर ने महाभारत का मर्डर किया- मुकेश खन्ना का भड़का गुस्सा

    यहां तक भगवान राम भी कई सीन में बने हैं। मेकअप के कारण ये कोई नहीं पहचान पाया कि एक ही एक्टर रामायण में कई जरूरी रोल निभा चुका है। आज जब सोशल मीडिया पर ये शो छाया हुआ है।

    ऐसे में खुलासा हुआ कि असलम खान ने भगवान राम की भूमिका अरुण गोविल की जगह निभाई है। हजारों की भीड़ में मेकर्स राम के ना होने से परेशान हो जाते तो बुलाया जाता असलम खान को। यहां पढ़ें दिलचस्प किस्सा।

    असलम खान ने राम से लेकर राक्षय की भी भूमिका निभाई

    असलम खान ने राम से लेकर राक्षय की भी भूमिका निभाई

    दूरदर्शन के रामायण के टेलीकास्ट के बाद ऐसी रोचक जानकारी सामने आ रही है। जिसे जानना काफी दिलचस्प है। उस दौरान असलम खान ऐसे कलाकार होते जो हर किरदार में फिट हो जाते थे। इस वक्त सोशल मीडिया पर उन्हीं की चर्चा हो रही है। कैसे उन्होंने राक्षस से लेकर भगवान राम की भी भूमिका निभाई है।

    रामायण में निभाए एक नहीं कई किरदार

    रामायण में निभाए एक नहीं कई किरदार

    आप ये भी कह सकते हैं कि असलम साहब ने कई मेजर किरदार रामायण, में निभाए हैं। उनका मेकअप इस तरह किया जाता कि कोई समझ ही नहीं पाता था, कि एक ही कलाकार कई रोल कर रहा है। आज इसका खुलासा सोशल मीडिया के जरिए हो रहा है। कई मीम्स वायरल हो रहे हैं।

    भीड़ के कारण बनाया जाता राम

    भीड़ के कारण बनाया जाता राम

    एक वेबसाइट से बातचीत में असलम खान ने खुलासा किया है कि कैसे उन्हें रामायण के सेट पर राम बना दिया जाता था। उन्होंने एक किस्सा शेयर करते हुए कहा कि कैसे राम के मौजूद ना रहने पर और भारी भीड़ को देखते हुए मेकर्स के पास कोई चारा नहीं रहता और उन्हें राम बना दिया जाता था।

    गांव वाले आ जाते तो मुझे राम बनाया जाता

    गांव वाले आ जाते तो मुझे राम बनाया जाता

    असलम खान ने बताया कि राम जी कई बार सेट पर कम आते थे। इस बीच शूटिंग करने के लिए पूरी वानर सेना और गांव वाले भी आ जाते थे। तब सब परेशान हो जाते। ऐसे में राम का डुप्लीकेट मुझे बनाया जाता। उनका गेटअप मैं पहनता। मुझ पर अधिकतर लॅान्ग शॅाट फिल्माया जाता।

    मुझे रामायण करने से कोई शिकायत नहीं

    मुझे रामायण करने से कोई शिकायत नहीं

    वह अपनी बात को पूरा करते हुए वह कहते हैं कि मैंने रामायण क्यों की? ऐसा मुझे कभी नहीं लगा। बहुत अच्छा लगा मुझे काम करके। रामायण में हर कोई घर की तरह काम करता था। मुझे कोई शिकायत नहीं है।

    रामायण में ऐसा होता था युद्ध का सीन

    रामायण में ऐसा होता था युद्ध का सीन

    आपको बता दें कि उस जमाने में स्पेशल इफेक्ट नहीं हुआ करता था। ऐसे में किसी बड़े सीन को करने के लिए हजारों लोगों को जुटाया जाता था। रामायण की शूटिंग गुजरात के अंबरगांव में की गई थी। युद्ध के सीन के लिए जूनियर कलाकारों को बुलाया गया था।

    राम-अरुण गोविल की लोकप्रियता

    राम-अरुण गोविल की लोकप्रियता

    राम-अरुण गोविल की लोकप्रियता का आलम ये था कि वे जहां भी जाते उनका स्वागत भगवान की तरह किया जाता था। लोग उनके आगे हाथ जोड़ते और पैर छूने लगते थे।

    English summary
    Doordarshan ramayan facts Aslam Khan was second ram in place of Arun govil , here read full news
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X