For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    रामायण के हनुमान 'दारा सिंह' को लाखों की फीस, मरने से पहले आखिरी इच्छा, हनुमान बनने से इंकार !

    |

    1987 के दूरदर्शन के रामायण ने एक बार फिर अपने टेलीकास्ट के साथ कुछ ऐसे दिलचस्प किस्से सामने ला दिए हैं। जिनको जानना किसी हैरानी से कम नहीं है। रामानंद सागर का रामायण राम और सीता के साथ हनुमान के किरदार के लिए भी याद किया जाता है। इस भूमिका को निभाया था दारा सिंह ने। दारा सिंह हमारे बीच में नहीं हैं।

    उनका निधन हो चुका है। लेकिन एक बार फिर से उन्हें टीवी पर देखकर उनकी चर्चा तेजी से हो रही है। आपको बता दें कि उनकी कास्टिंग के पीछे भी काफी दिलचस्प कहानी है।

    साथ ही मरने से पहले उन्होंने अपने बेटे विंदू दारा सिंह को अपनी आखिरी ख्वाहिश जो बताई वो रामायण से जुड़ी हुई है। ये भी बता दें कि जब टीवी पर उन्होंने हनुमान की भूमिका निभाई तो कई ऐसे मंदिर थे जहां उनकी तस्वीरें लगाई जाती। ऐसे ही कई दिलचस्प किस्से हैं..चलिए आपको बताते हैं...

    रामायण में हनुमान की कास्टिंग का दिलचस्प किस्सा

    रामायण में हनुमान की कास्टिंग का दिलचस्प किस्सा

    जब भी भगवान हनुमान की बात आती है तो हमारे सामने दारा सिंह जी की तस्वीर आ जाती है। हनुमान के किरदार में दारा सिंह ने अमर भूमिका निभाई है। लेकिन आपको बता दें कि उनकी कास्टिंग से पहले कई किस्से सामने आ रहे हैं। पहली बात तो वह इस किरदार को नहीं निभाना चाहते थे।

    दारा सिंह जी की पंजाबी टोन

    दारा सिंह जी की पंजाबी टोन

    सबसे पहले आपको बता हैं कि उनकी कास्टिंग से पहले ये था कि दारा सिंह जी का पंजाबी टोन था। रामायण के सभी डायलॅाग साफ हिंदी में थे। लेकिन इसके बावजूद बिना किसी झिझक के उन्होंने इस किरदार को अमर बना दिया।

    विंदू दारा सिंह ने बताई पिता की आखिरी इच्छा

    विंदू दारा सिंह ने बताई पिता की आखिरी इच्छा

    बेटे विंदू दारा सिंह ने एक इंटरव्यू में बताया कि मरने से पहले उनके पिता की आखिरी इच्छा दोबारा से रामायण देखने की थी। विंदू दारा सिंह ने कहा कि मेरे पिता ने तीन बार अपने करियर में हनुमान का किरदार निभाया। सबसे पहले वह 1976 की फिल्म जय बजरंग बली में हनुमान की भूमिका निभाई। इसके बार रामानंद सागर की रामायण और फिर बीआर चोपड़ा के टीवी शो महाभारत में। उनके जैसा हनुमान कोई नहीं।

    हनुमान की भूमिका निभाने से किया इंकार

    हनुमान की भूमिका निभाने से किया इंकार

    मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दारा सिंह ने पहले हनुमान जी की भूमिका केे लिए इंकार कर दिया था। उनका मानना था कि वह इस किरदार के लिए काफी बड़े हैं इसके लिए किसी यंग एक्टर को कास्ट करना चाहिए। लेकिन निर्माता रामानंद सागर ने उनकी बात नहीं सुनी। उन्हें कास्ट किया। 60 साल की उम्र में उन्हें हनुमान बनाया गया।

    दारा सिंह को हनुमान बनने के लिए मिली सबसे अधिक फीस

    दारा सिंह को हनुमान बनने के लिए मिली सबसे अधिक फीस

    मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रामायण के लिए सबसे अधिक फीस दारा सिंह को दी गई थी। तब उन्हें 30 लाख के करीब की फीस दी गई थी। जो कि उस जमाने के हिसाब से सबसे अधिक रही है। आज के दौर में ये रकम 9 से 10 करोड़ के बीच मानी जा सकती है।

    रामानंद सागर ने दारा सिंह को फोन किया

    रामानंद सागर ने दारा सिंह को फोन किया

    रामानंद सागर ने पहले से ये तय कर लिया था कि जब वह रामायण बनायेंगे तो हनुमान की भूमिका सिर्फ दारा सिंह निभायेंगे। उन्होंने रामायण की कास्टिंग के दौरान दारा सिंह को फोन लगाया और कहा कि आप मेरे नए टीवी शो में हनुमान का रोल कर रहे हैं।

    English summary
    Ramanand Sagar Doordarshan ramayan hanuman Dara singh last wish revealed by son Vindu Dara singh, here read
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X