»   » युवी की भाभी आकांक्षा ने दी हैजल को दी सलाह...सासू मां शबनम कौर से रह बचके!

युवी की भाभी आकांक्षा ने दी हैजल को दी सलाह...सासू मां शबनम कौर से रह बचके!

Written By: Goldi
Subscribe to Filmibeat Hindi

हाल ही बिगबॉस के घर में नजर आयीं युवराज सिंह की भाभी आकांक्षा शर्मा ने अपनी टूटी हुई शादी को लेकर हालिया इंटरव्यू में काफी खुलासे किये।

बता दें, आकांक्षा बिग बॉस के घर से दूसरे हफ्ते ही बेघर हो गयी थी।इस दौरान घर के  अंदर उन्होंने अपनी शादी को लेकर खूब सुर्खियां बटोरी थी। आकांक्षा क्रिकेटर युवराज सिंह के भाई जोरावर सिंह की पत्नी रह चुकी हैं, लेकिन उनकी शादी ज्यादा समय तक चल नहीं पाई।
 

bigg boss 10 ex contestant Akansha Sharma another shocking interview

आकांक्षा ने हाल ही में स्पॉटइ बॉय को इंटरव्यू दिया है।जहां शबनम कौर और योगराज सिंह अपने बड़े बेटे के तलाक पर कुछ भी बोलने से बच रहें हैं, तो वहीं आकांक्षा ने एक बार फिर मीडिया के सामने उनकी पोल खोली। आकांक्षा ने अपनी ख़ुशी जाहिर करते हुए कहा कि, अच्छा हुआ मै उस घर से भाग आई जहां मै अपने पति के साथ पार्टी तक अटेंड नहीं कर सकती थी। हमेशा मेरी सास मेरे साथ होती थी। आकांक्षा ने कहा अगर वह इस बारे में बात नहीं चाहते ना करें..लेकिन मै करूंगी क्योंकि हर किसी को बोलने की आजादी है।

स्लाइड्स में पढ़िए क्या कहा आकांक्षा ने 

 क्या आपको कभी आपके पति से प्यार नहीं हुआ?

क्या आपको कभी आपके पति से प्यार नहीं हुआ?

इसके जवाब में आकांक्षा ने कहा कि, मै कैसे किसी ऐसे इन्सान से प्यार कर सकती हूं जिसने कभी ये नहीं कहा हो कि वह मुझे समझता है।आज के समय में हर कोई सास अपने बेटे बहु के मामलो में टांग अड़ाते है लेते है लेकिन क्या एक बार भी बेटे को अपनी पत्नी के खिलाफ स्टैंड नहीं लेना चाहिए।

एक तस्वीर है जिसमे आप और जोरावर हैपिली कपल की तरह डांस कर रहें है?

एक तस्वीर है जिसमे आप और जोरावर हैपिली कपल की तरह डांस कर रहें है?

यह तस्वीर झूठी है..हमे इस तरह पोज करने के लिए फोटोग्राफर ने कहा था। यह तस्वीर मेरी मेहंदी फंक्शन की है।

आप चार महीने जोरावर के साथ रही..कभी आपको उनकी याद नहीं आई?

आप चार महीने जोरावर के साथ रही..कभी आपको उनकी याद नहीं आई?

बिल्कुल नहीं कभी नहीं..जोरावर से मेरा कोई कनेक्शन था ही नहीं। जिस दिन मै उस घर से भागी वह दिन मेरी जिंदगी में अब तक का सबसे अच्छा दिन था।

आपके माता-पिता ने कभी आपको आपके फैसले पर दोबारा सोच विचार करने को नहीं कहा?

आपके माता-पिता ने कभी आपको आपके फैसले पर दोबारा सोच विचार करने को नहीं कहा?

मेरे माता-पिता ने भी काफी अपमान सहा है।मेने कहा कि मेरी एक जोड़ी में हुई है, मेरी जिन्दगी से खेल हे थे वो लोग।

कैसे?

कैसे?

पहले उन्होंने कहा कि कोई बाबा जी हैं, जो चाहते है कि यह शादी 7 दिन के भीतर हो जाये। फिर बाद मे उन्होंने कहा कि अब वही बाबाजी चाहते ही कि अब ये शादी यहीं खत्म हो जाये।

कौन है ये बाबाजी?

कौन है ये बाबाजी?

वे सभी किसी गुरूजी/बाबाजी पर अंधा-विश्वास करते हैं।

क्या वह बाबाजी आपका अलगाव पहले नहीं देख सके?

क्या वह बाबाजी आपका अलगाव पहले नहीं देख सके?

हां, लेकिन मेरे उस घर से भागने के बाद।

क्या?

क्या?

उस बाबा ने शबनम कौर को दो संतरे दिए और कहा,' ये लो आकांक्षा को दो बच्चे होंगें।

क्या शबनम ने आपको खाने के लिए दिए ?

क्या शबनम ने आपको खाने के लिए दिए ?

नहीं , उन्होंने वह अपने पास ही रखे हुए थे।

काफी फनी है ये

काफी फनी है ये

जी हां! यह परिवार उस 50 साल पीछे रहता है। शबनम को 2016 में जीना होगा।

क्या होगा अगर शबनम युवराज और हैजल के साथ रहें?

क्या होगा अगर शबनम युवराज और हैजल के साथ रहें?

मै दुआ करती हूं कि वह अकेले रहें ताकि उनकी जिन्दगी में शबनम को कोई दखलबाजी ना हो। हैजल काफी लकी है जिसकी शादी युवराज से हो रही है।, युवी एक बेहद अच्छे इन्सान है। वह मेरे पारी की तरह बिल्कुल भी नहीं है।

यानी युवराज अपने मन की करते हैं..आपका मतलब

यानी युवराज अपने मन की करते हैं..आपका मतलब

हां, वह दिल्ली में बमुश्किल तीन दिन से ज्यादा कभ नहीं रुकते।

दो ओरेंज के अलावा कोई फनी वाक्या

दो ओरेंज के अलावा कोई फनी वाक्या

हां, काफी कुछ है।

बताइए?

बताइए?

इनकी एक मार्बल फैक्ट्री है। जोरावर और उनके दोस्त विवेक की ये दोनों इस फक्ट्री में बिजनेस पार्टनर है। विवेक एक दिन मुझे काउंसल करते हुए कहते है कि मुझे अपने अपने पति से कैसे फिजिकल होना चाहिए। मेने उनसे कहा, तुम पागल हो गये क्या जो मुझे ये सब बता रहे हो कि मुझे अपने पति के साथ कैसे सेक्स करना चहिये। तुम मुझे बिल्कुल जानते नहीं हो...चुपचाप यहां से चले जाओ।

आगे

आगे

एक दिन, मुझे बताया गया कि, जोरावर किसी कारण से आठवीं के बाद अपनी आगे पढ़ाई नहीं कर सके। हमेशा ही योगराज और शबनम में झगड़ा होता था जिसके चलते वह अपनी पढ़ाई नहीं कर स
के।

जोरावर को अपने क्या शौक थे?

जोरावर को अपने क्या शौक थे?

जोरावर ने अनुपम खेर इंस्टीयूट से एक्टिंग कोर्स किया है।वह एक एक्टर बनना चाहते थे।

क्या उन्होंने अच्छा एक्टर बनने के लिए कुछ किया?

क्या उन्होंने अच्छा एक्टर बनने के लिए कुछ किया?

उन्होंने एक फिल्म प्रोड्यूस की है जिसमे वह बच्चो के साथ खेल रहे हैं।युवराज के परिवार ने ही वह फिल्म प्रोड्यूस की थी। अगर आपको जिन्दगी में कुछ अचीव करना है तो उसके लिए कड़ी मेहनत करनी होती है। आपको फिट होना होता है। आपको सभी चीजें चांदी की थाली में नहीं मिलेगी। जोरावर ने जिम ज्वाइन किया वह भी चुपचाप ।
जब परिवार वालो ने उन्हें मार्बल फैक्ट्री की देख रेख सौंप दी। जब मै वहां गयी तो सब देखकर हक्की बक्की रह गयी सब कुछ एकदम खण्डहर था । जब मेने इस बारे में विवेक जोरावर से पूछा तो वह चुपचाप काउच पर बैठे रहे।जब मेने उन्हें फैक्ट्री में ढंग से काम करने को कहा तो वह बाहर जाकर बच्चो के साथ क्रिकेट खेलने लगे।

क्या आपके घर छोड़ने के बाद उन्होंने आपसे सम्पर्क किया?

क्या आपके घर छोड़ने के बाद उन्होंने आपसे सम्पर्क किया?

हमारे बीच कुछ भी नहीं था। मुझे उनकी तरफ से एक सिंगल काल नहीं आया। यहां तक की हम अच्छे दोस्त भी नहीं थे। मेने अपने माता पिता से कह दिया था कि अगर वह मुझे वापस भेजेंगे, तो मै कहीं और जाकर रह लूंगी। क्या आप तलाक के दौरान जोरावर के घरवालो से एलेमनी की डिमांड करेगीं? नहीं मुझे एलेमनी नहीं चहिये।

उस दिन के बारे में बताये जब आप जोरावर के घर से भागीं थी?

उस दिन के बारे में बताये जब आप जोरावर के घर से भागीं थी?

शबनम को यह बात घर की नौकरानी के जरिये पता लग चुकी थी, कि मै अपने सामना समेत रही हूं। उन्होंने मेरे माता-पिता को बुलवा भेजा और मेरे कमरे का दरवाजा खटखटाने लगीं, लेकिन मेने दरवाजा नहीं खोला। मेरे पेरेंट्स ने वापस जाकर मेरे भाई अभिमन्यु को भेजा। वह सिर्फ अकेला ऐसा इन्सान था, जो मुझे समझता था और जानता था कि मेरे साथ क्या हो रहा है। और हां में आपको एक और वाक्या बताती हूं।

आकांक्षा शर्मा

आकांक्षा शर्मा

शबनम खुद बिजनेस क्लास में ट्रेवल करती थीं और मुझे इकॉनमी में ट्रेवल कराती थी। हम वैष्णो देवी गये हुए थे। जब हम वहां पहुंचे तो मुझे रो और महिलायों के साथ कमरा शेयर करना पड़ा जोकि हमारे साथ ही दर्शन करने गयीं थी।

जोरावर साथ नहीं थे क्या?

जोरावर साथ नहीं थे क्या?

नहीं, जोरावर से ज्यादा मेरी शादी शबनम से हुई थी। और आप यकीन नहीं करेंगे कि वहां क्या हुआ?

दरअसल ,मेरे पिता आर्मी बैकग्राउंड से हैं। इस कारण हमे दर्शन के दौरान आर्मी वाले बतौर गाइड हमारे साथ थे। जो तीन महिलाएं हमारे साथ थी उन्होंने उन आर्मी वालो को अपनी चप्पले थमाते हुए कहा चप्पलो को ध्यान रखने को कहा। जो आर्मी हमारे लिए बॉर्डर पर लड़ती है उस आर्मी को वह अपनी चप्पले पकड़ने के लिए कह रही थी।

बिग बॉस के घर से बाहर आने के बाद बिग बॉस देखतीं हैं आप ?

बिग बॉस के घर से बाहर आने के बाद बिग बॉस देखतीं हैं आप ?

नितिभा मेरी दोस्त है, मैं उसके लिए वोट भी कर रही हूं। मानवीर भी अच्छा है..देखो आगे क्या होता है

 आकांक्षा शर्मा

आकांक्षा शर्मा

भगवान जाने क्या बिगाड़ा था मेने जोरावर के परिवार का जो उन्होंने मेरे साथ इतना बुरा बर्ताव किया।

English summary
bigg boss 10 ex contestant Akansha Sharma another shocking interview
Please Wait while comments are loading...