For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    NCB ने कोर्ट से की भारती सिंह- हर्ष की जमानत रद्द कर कस्टडी की मांग, ड्रग्स केस में बड़ी मुसीबत

    By Filmibeat Desk
    |

    सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच के दौरान बॅालीवुड में ड्रग्स कनेक्शन की जानकारी एनसीबी के हाथ लगी। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने फिल्मी दुनिया के कई स्टार्स से इस मामले में पूछताछ की। दीपिका पादुकोण, सारा अली खान और श्रद्धा कपूर को समन भेजा गया। लेकिन कुछ महीने बाद लोकप्रिय कॅामेडियन भारती सिंह और उनके पति हर्ष लिंबाचिया के घर पर एनसीबी के छापा मारने से हर कोई हैरान हो गया।

    गांजा लेने और रखने के आरोप में एनसीबी ने भारती सिंह को 22 नवंबर और उनके पति हर्ष को लंबी पूछताछ के बाद 23 नवंबर को गिरफ्तार किया। फिर जमानत पर दोनों को रिहाई मिल गई। अब इस पूरे मामले में एनसीबी ने बड़ा कदम उठाया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार नारकोटिस्क कंट्रोल ब्यूरो ने भारती सिंह और हर्ष की जमानत के खिलाफ स्पेशल एनडीपीएस कोर्ट की तरफ अपने कदम को बढ़ाया है।

    एनसीबी भारती और हर्ष के जमानत के खिलाफ है। एनसीबी ने भारती सिंह और उनके पति हर्ष की जमानत रद्द करने की मांग की है। इसके साथ ही लोअर कोर्ट के ऑर्डर को दरकिनार करते हुए दोनों को कस्टडी में लेकर पूछताछ करने की अनुमति भी मांगी है। कोर्ट ने भी इस मामल पर अपना मत सामने रखते हुए मंगलवार को भारती और हर्ष को नोटिस जारी किया है।

    ड्रग्स केस से टूटी भारती सिंह ने पति हर्ष के लिए लिखा बेहद भावुक पोस्ट- हमारी परीक्षा ली जाती हैड्रग्स केस से टूटी भारती सिंह ने पति हर्ष के लिए लिखा बेहद भावुक पोस्ट- हमारी परीक्षा ली जाती है

    एनसीबी की इस मांग को लेकर अगले सप्ताह सुनवाई हो सकती है। गौरतलब है कि इससे पहले एनडीपीएस कोर्ट ने दोनों को 4 दिसंबर तक न्यायिक हिरासत में भेजा था। लेकिन 14 नवंबर को दोनों को 15 हजार-15 हजार के बॅान्ड पर कोर्ट से जमानत मिल गई थी। रिपोर्ट्स अनुसार भारती और हर्ष के घर से 86.5 ग्राम गांजा मिला था।

    bharti singh

    भारती और हर्ष ने गांजा लेने की बात कबूली थी। कोर्ट ने ये कहा था कि भारती और हर्ष के घर से कम मात्रा में गांजा मिला है। ऐसे में दोनों को पुलिस कस्टडी में रखने की जरूरत नहीं है। अदालत ने जमानत के दौरान ये भी कहा था कि जिन धाराओं के साथ दोनों को गिरफ्तार किया गया है उसमें सिर्फ एक साल की सजा का प्रावधान है। ऐसे में रिमांड जरूरी नहीं है।

    English summary
    Bharti Singh and Haarsh limbachiyaa drug case NCB wants custodial interrogation
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X