For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    अंकिता लोखंडे पर भड़कीं शिबानी डांडेकर, जवाब मिला - सभ्य बनिए, आपकी दोस्त सुशांत को ड्रग्स देती थी

    |

    रिया चक्रवर्ती की दोस्त और फरहान अख्तर की गर्लफ्रेंड शिबानी डांडेकर और सुशांत सिंह राजपूत की एक्स गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे सोशल मीडिया पर आमने सामने आ चुके हैं और एक दूसरे को अजीब अजीब सी बातें सुना रहे हैं। जो ना पढ़ने में अच्छी हैं ना ही सुनने में।

    शुरूआत हुई अंकिता लोखंडे के एक पोस्ट के साथ। अंकिता ने हाल ही में रिया चक्रवर्ती की गिरफ्तारी के बाद अपने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट डाला। इस पोस्ट में लिखा था - कुछ भी बाय चांस या किस्मत से नहीं होता है। आप अपना भाग्य अपने कर्मों से लिखते हैं। इसे ही कर्म का फल कहते हैं।

    इसके बाद पत्रकार रोहिणी सिंह ने अंकिता को टार्गेट करते हुए कहा - पुरूष मानसिकता में जकड़ी हुई राजकुमारियों को बात करते देखना अजीब लग रहा है। वो जो 34 साल के एक आदमी के ज़िंदगी जीने के तरीके को 28 साल की एक लड़की पर थोप रहे हैं। क्योंकि ज़ाहिर सी बात है एक आदमी की हालत के लिए एक औरत को ज़िम्मेदार ठहराना लोगों की आदत है।

    शिबानी डांडेकर ने इस पर जवाब देते हुए लिखा - हम में से हर कोई जानता है कि ये राजकुमारियां कौन हैं। इन्हें कर्म के फल के बारे में काफी कुछ पता है। मैं टैग नहीं करूंगी लेकिन सब समझ गए हैं कि वो कौन है।

    अब अंकिता लोखंडे ने शिबाना डांडेकर का नाम लिए बिना ही उन्हें दो टूक शब्दों में जवाब दिया है -

    अंकिता का खत

    अंकिता का खत

    Dear Haters,

    चलिए मान लेते हैं कि आप अपनी दोस्त के बारे में सब कुछ जानती थीं। उसकी ज़िंदगी में क्या चल रहा है, कैसा चल रहा है। उसका रिलेशनशिप कैसा था। अच्छा लगा देखकर कि आखिरकार आपकी नींद टूट गई है। लेकिन काश आपकी नींद पहले टूट गई होती। काश आप उसको समझा पाती कि अगर सुशांत ड्रग्स ले रहा है तो मत लेने दो।

    आपकी दोस्त के बारे में कुछ बातें

    आपकी दोस्त के बारे में कुछ बातें

    जब आपकी दोस्त को सुशांत की मानसिक हालत के बारे में पता था और उसने पब्लिक में कहा है कि सुशांत डिप्रेशन में था तो क्या आपकी दोस्त को डिप्रेशन से जूझ रहे एक आदमी को ड्रग्स लेने देना चाहिए था? क्या इससे कोई मदद मिलती?

    इतनी गैर ज़िम्मेदार?

    इतनी गैर ज़िम्मेदार?

    इससे किसी भी आदमी की हालत इतनी खराब हो सकती है कि वो ऐसा कोई कदम उठा सकता है, जैसा कहा जा रहा है कि सुशांत ने उठा लिया। वो सुशांत के सबसे नज़दीक थी उस समय।

    ड्रग्स भी और दवा भी

    ड्रग्स भी और दवा भी

    एक तरफ वो कहती है कि वो सुशांत के ईलाज के लिए डॉक्टरों से अपॉइंटमेंट लेती थी और सुशांत चाहता था कि वो ये सारी चीज़ें मैनेज करे। दूसरी तरफ वो सुशांत के लिए ड्रग्स भी मैनेज कर रही थी।

    कौन सा इंसान ऐसा करेगा?

    कौन सा इंसान ऐसा करेगा?

    क्या ऐसा कोई भी इंसान जो किसी से प्यार करने का दावा करता है, दूसरे इंसान को ऐसी मानसिक स्थिति में ड्रग्स लेने देगा? क्या आप ऐसा करेंगी? मुझे लगता है कि कोई भी ऐसा नहीं करेगा। तो इसे आपकी दोस्त की गैर ज़िम्मेदाराना हरकत और बेगारी क्यों ना कहा जाए?

    कर्म का फल

    कर्म का फल

    उसके मुताबिक, उसने सुशांत के परिवार को दवाईयों और ईलाज के बारे में सब बता दिया था। क्या उसने कभी सुशांत के परिवार को उसके ड्रग्स की आदत के बारे में बताया? मेरे ख्याल से नहीं। क्योंकि उसे शायद खुद भी ड्रग्स लेने में मज़ा आता था। और इसलिए मेरे हिसाब से यही कर्म का फल है।

    थोड़ी सभ्यता दिखाइए

    थोड़ी सभ्यता दिखाइए

    आपके लिए छोटी सी हिदायत है। आप अपनी दोस्त की रक्षा करिए और मैं अपने दोस्त के परिवार के साथ खड़ी हूं। लेकिन हम इतने तो सभ्य हो सकते हैं कि एक दूसरे पर direct, indirect अटैक ना करें।

    साफ बात करती हूं

    साफ बात करती हूं

    मैं फिर से साफ कर देना चाहती हूं, मीडिया मुझसे बार बार पूछता है कि ये मर्डर है या सुसाइड है। मैंने कभी नहीं कहा कि ये मर्डर है या फिर इस घटना के लिए कोई भी ज़िम्मेदार है।

    मेरा दोस्त था सुशांत

    मेरा दोस्त था सुशांत

    मैंने हमेशा मेरे दोस्त सुशांत के लिए न्याय का प्रोत्साहन किया है। मैं हमेशा उसके टूट चुके परिवार के साथ खड़ी रही हूं। और मेरा मानना है कि जांच एजेंसियां सच्चाई सामने लेकर आएंगी।

    मेरे साथ तक की कहानी

    मेरे साथ तक की कहानी

    एक मराठी होने के नाते और भारतीय नागरिक होने के नाते, मेरा महाराष्ट्र सरकार की पुलिस और केंद्रीय जांच एजेंसी पर पूरा भरोसा है। हालांकि जब मेरे लिए सौतन या विधवा जैसे शब्द इस्तेमाल किए गए, मैंने कभी उनका जवाब नहीं दिया। मैं केवल ये बताने के लिए सामने आई हूं कि 2016 तक सुशांत की मानसिक स्थिति कैसी थी।

    English summary
    Ankita Lokhande and Shibani Dandekar hit each other on social media through cryptic posts. Lokhande, blasts Rhea for feeding drugs to Sushant.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X