»   » मर्दानी तो एक शुरुआत है- फिल्म समीक्षा

मर्दानी तो एक शुरुआत है- फिल्म समीक्षा

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

मर्दानी देखकर हमारे हिंदुओं के पूज्य ग्रंथों में लिखी दो पंक्तियां याद आ गयीं- ढोल गंवार क्षुद्र पशु नारी, ये सब ताड़न के अधिकारी। ये पंक्तियां उस ग्रंथ में लिखी हैं जिनकी हम लोग पूजा करते हैं। लेकिन इन्हीं पंक्तियों से इतर हमारे ग्रंथों में नारी को देवी, दुर्गा का रुप भी कहा गया है। तो शायद ये हमारे समाज की नींव रखने वाले खुद ही थोड़ा सा कंफ्यूज थे और इसी वजह से आज हमारा समाज पूरी तरह से गलत दिशा में भटक चुका है। रानी मुखर्जी की मर्दानी शायद इस भटके हुए समाज को सही दिशा देने की।

कहानी- मर्दानी फिल्म की कोई स्क्रिप्ट नहीं ये एक सच है जो कि हमारे समाज में हर रोज, हर एक शहर में किसी ना किसी कोने में हो रहा है। जो कुछ भी फिल्म में दिखाया गया है वो सभी सच्ची घटनाएं हैं। कुछ समय पहले मुंबई में एक महिला पुलिस ने करीब 2500 लड़कियों को इस तरह के रैकेट से छुड़ाया था। मर्दानी फिल्म की शिवानी शिवाजी रॉय (रानी मुखर्जी) उसी महिला पुलिस का किरदार निभाया है।

फिल्म का एक एक दृष्य दर्शकों को खुद से जोड़े रखता है, फिल्म में दर्शकों को सिनेमाहॉल में खींचने के लिए तड़कत भड़कते गानों, हनी सिंह के सेक्सी बोल या किसी आइटम गर्ल का डांस नहीं रखा गया है लेकिन फिल्म की कहानी, स्क्रीनप्ले और अभिनय में जो कसाव है वो बॉलीवुड के फिल्मी मसालों से कई गुना बेहतरीन है।

कहानी

कहानी

आज भले ही बॉक्स ऑफिस पर बाजीराव सिंघम, चुलबुल पांडे जैसे मेल पुलिस इंस्पेक्टर्स की किक चलती हो लेकिन सालों पहले हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में महिलाओं ने भी बेहतरीन पुलिस इंस्पेक्टर्स के किरदार निभाए हैं जो आज भी याद किये जाते हैं। मर्दानी में शिवानी शिवाजी रॉय भी कुछ ऐसा ही किरदार निभाती नज़र आएंगी जो सालों बाद भी लोगों के जहन में जिंदा रहेगा।

अभिनय

अभिनय

अभिनय की बात करें तो रानी मुखर्जी ने काफी समय बाद सिनेमाहॉल के परदों पर अपनी खूबसूरती और अपने दमदार अभिनय, संवाद अदायगी से लोगों को प्रभावित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। रानी तो बेहतरीन अदाकारा हमेशा से ही रही हैं लेकिन मर्दानी में विलेन के किरदार में ताहीर भासीन ने भी बेहतरीन अभिनय किया है।

निर्देशन

निर्देशन

प्रदीप सरकार ने मर्दानी में बेहतरीन निर्देशन किया है। मर्दानी का एक एक फ्रेम बेहतरीन है। मर्दानी फिल्म देखते समय शायद ही किसी पल आपको अपने आस पास की दुनिया की याद आए।

संगीत

संगीत

संगीत की बात करें तो मर्दानी फिल्म में कुछ खास गाने नहीं और ना ही ये ऐसी फिल्म है जिसमें गानों की बेहद जरुरत है। हालांकि फिल्म में जो एंथम सॉंग है वो बहुत ही बेहतरीन है।

देखें या नहीं

देखें या नहीं

आंकड़ों के अनुसार लड़को की तुलना में लड़कियों की संख्या बेहद कम है। मर्दानी जैसी फिल्में लड़कियों को हिम्मत देंगी ताकि वो अपने खिलाफ हो रहे अत्याचारों का डटकर सामना कर सकें।

English summary
Mardaani movie hitting the box office today. Rani Mukherjee starer Mardaani is based on real incident happened in Mumbai, when female police cop has saved 2500 girls child.
Please Wait while comments are loading...

रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi