»   » REVIEW: ढीली स्क्रिप्ट.. लेकिन 'जग्गा जासूस' में शानदार हैं रणबीर कपूर

REVIEW: ढीली स्क्रिप्ट.. लेकिन 'जग्गा जासूस' में शानदार हैं रणबीर कपूर

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi
Rating:
2.5/5

कास्ट- रणबीर कपूर, कैटरीना कैफ, शाश्वत चटर्जी
डायरेक्टर -अनुराग बसु
प्रोड्यूसर - अनुराग बसु, सिद्धार्थ रॉय कपूर, रणबीर कपूर
लेखक - अनुराग बसु
शानदार पॉइंट - रणबीर कपूर, कॉन्सेप्ट, सिनेमेटोग्राफी, म्यूजिक
निगेटिव पॉइंट - अधिक लंबी फिल्म
शानदार मोमेंट - एक सीन में जब छोटा जग्गा शाश्वत चटर्जी के साथ गाने के अंदाज में बात करता है, इसे देखकर आपका गला भर आएगा।

                                [ बुक करें जग्गा जासूस की टिकट यहां]

 प्लॉट

प्लॉट

फिल्म शुरू होती है साल 1995 से जब पश्चिम बंगाल के पुरुलिया में अवैध हथियार हवाई जहाज से गिराए जाते हैं। अभी के समय में श्रुति सेनगुप्ता (कैटरीना कैफ) बच्चों को जग्गा जासूस के कॉमिक किताबों के जरिए जग्गा जासूसकी दुनिया से रुबरू करवा रही है।

प्लॉट

प्लॉट

श्रुति के नैरेशन के जरिए हम जग्गा के बचपन में झांक पाते हैं। जग्गा के पापा टूटी फूटी (शाश्वत चटर्जी) उसके जैविक पिता नहीं है। बचपन में जग्गा ने ट्रेन से उनकी जान बचाई थी और तब से एक दूसरे के साथ बहुत ही प्यारा रिश्चा शेयर करते हैं। लेकिन खुशियों में जल्द ही ग्रहण लग जाता है जब टूटी फ्रूटी जग्गा को बोर्डिंग स्कूल में डाल देता है लेकिन कभी लेने वापस नहीं आता। हालांकि वो हर जन्मदिन पर टेप की हुई रिकॉर्डिंग भेजता है।

डायरेक्शन

डायरेक्शन

म्यूजिक का हमारी बॉलीवुड फिल्मों में बहुत बड़ा किरदार नहीं होता है इसलिए जग्गा जासूस ताजे हवा की तरह है। अनुराग बसु की दाद देनी होगी जिन्होंने डिज्नी जैसे बैकड्रॉप के साथ जादूकर दिखाया है लेकिन यहां कुछ नियम और शर्तें भी लागू होती हैं!


फिल्म की कहानी शुरूआत में काफी मजेदार है धीरे धीरे ये बिखरी हुई नजर आती है और अंत तक आप अपना अटेंशन खो देते हैं। फिल्म में कई सब-प्लॉट हैं जो मुख्य प्लॉट को कमजोर कर देते हैं।

आप खुद धीरे धीरे फिल्म में कुछ मिस करने लगेंगे। इंटरवल के बाद फिल्म पूरी तरह से बिखरी नजर आती है और फिल्म का क्लाईमैक्स भी अच्छी तरह से नहीं दिखाया गया है।

परफॉर्मेंस

परफॉर्मेंस

जग्गा जासूस पूरी तरह से रणबीर कपूर का शो है। वो अपने कंधो पर पूरी फिल्म का भार लिए नजर आते हैं वो भी पूरे कॉन्फिडेंस के साथ। उन्होंने फिल्म में एक बार फिर अपनी एक्टिंग का हुनर दिखाया है जो आपको अचंभित कर देगी। फिल्म
देखकर लगता है कि क्या कोई ऐसा रोल है जो रणबीर कपूर नहीं कर सकते हैं।

कैटरीना कैफ फिल्म में रणबीर के बाद मुख्य किरदार में हैं। उनका कैरेक्टर फिल्म में बैड लक से ग्रसित है जो किसी ना किसी तरह मुसीबतों को बुलाने में कामयाब होती है। एक समय के बाद उनका किरदार ज्यादा हंसा पाने में कामयाब नहीं होता है।

शाश्वत चटर्जी भी फिल्म में काफी मजेदार रोल में हैं और उन्हें स्क्रीन पर देखना किसी ट्रीट से कमनहीं है। सायानी गुप्ता के किरदार को बरबाद कर दिया गया है। सौरभ शुक्ला का भी फिल्म में काफी अच्छे लगे हैं।
यंग जग्गा और चटर्जी के कुछ सीन देखकर आपको हो सकता है आंसू भी आ जाए।

तकनीकी पक्ष

तकनीकी पक्ष

रवि बर्मन का दमदार विजुअल जग्गा जासू में अधिक रंग भरते हैं। 2 घंटे 40 मिनट की फिल्म आपको कहीं कहीं उबाऊ भी लग सकती है और वजह है इसकी कमजोर लिखी गई कहानी। अकिव अली की धारदार एडिटिंग खासकर इसे देखने लायक बनाती है।
कुछ कुछ जगहों पर फिल्म के वीएफएक्स और अच्छे हो सकते थे।

म्यूजिक

म्यूजिक

अनुराग बसु की इस फिल्म में म्यूजिक सबसे मुख्य है। इसमें गानों से डायलोग बोले गए हैं। जिन्हें ये नहीं अच्छा लगता वो फिल्म के दौरान बोरियत महसूस कर सकते हैं।

उल्लू का पट्ठा, मुसाफिर, गलती से मिस्टेक हमारे फेवरिट ट्रैक हैं।झूमरीतलैया और खाना खाके भी आपका ध्यान आर्कषित करेगी। फिर वहीं भी इमोशन से भरपूर गाना है।

Verdict

Verdict

जग्गा जासूस आपको एक अलग ही दुनिया में ले जाएगी। हालांकि ये थोड़ी रोलर कोस्टर राइड की तरह है लेकिन रणबीर कपूर आपका दिन पूरी तरह बरबाद होने से बचा लेंगे।

English summary
Jagga Jasoos movie review Story plot and rating,
Please Wait while comments are loading...