For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    गुड न्यूज़ फिल्म रिव्यू- चेहरे पर मुस्कान, दिल में ढ़ेर सारा प्यार छोड़ जाएगी ये 'गुड न्यूज़'

    |

    Rating:
    3.5/5

    निर्देशक- राज मेहता

    कलाकार- अक्षय कुमार, करीना कपूर, कियारा आडवाणी, दिलजीत दोसांझ

    जब डॉक्टर जोशी दोनों बत्रा जोड़े को बताते हैं कि स्पर्म मिक्स अप हो गया है, एक किरदार आवेगवश बोलता है- "अरे गाने हैं जो मिक्स कर दिया".. इसी तरह से हल्के फुल्के संवाद और दिलचस्प किरदारों से सजी है फिल्म 'गुड न्यूज़'। राज मेहता के निर्देशन में बनी यह फिल्म निश्चित तौर पर साल का परफेक्ट अंत है। 2018 में धर्मा प्रोडक्शन ने 'सिंबा' के साथ दर्शकों को साल का शानदार अंत दिया था और 2019 में 'गुड न्यूज़' के साथ। हालांकि फिल्म में कुछ बातें हैं जो चुभती हैं, खासकर adoption (गोद लेना) को लेकर बोले गए सभी संवाद। आईवीएफ को दर्शकों के दिमाग तक पहुंचाने के लिए adoption को गलत बताना कतई सही नहीं है.. और निर्माता- निर्देशक को इसके प्रति अपनी जिम्मेदारी का अहसास होना चाहिए।

    फिल्म की कहानी

    फिल्म की कहानी

    वरुण बत्रा (अक्षय कुमार) और दीप्ति बत्रा उर्फ दीपू (करीना कपूर) की शादी को 7 साल हो चुके हैं, लेकिन उन्हें बच्चा नहीं है। इनके पास अच्छी नौकरी, मुंबई की हाई सोसाइटी में घर, भरा पूरा परिवार सभी कुछ है, लेकिन एक बच्चे की कमी दीप्ति को हमेशा खलती है। ऐसे में वरुण के बहन की सलाह पर दीप्ति और वरुण डॉक्टर (आदिल हुसैन) से मिलते हैं, जहां डॉक्टर उन्हें आईवीएफ (In Vitro Fertilisation) से माता- पिता बनने की सलाह देते हैं। दोनों राजी हो जाते हैं और सारी प्रक्रिया भी पूरी करते हैं। लेकिन अब यहां विलेन बनता है इनका सरनेम 'बत्रा'। वरुण और दीप्ति के अलावा उसी क्लीनिक में आईवीएफ से माता- पिता बनने आए हैं हनी (दिलजीत दोसांझ) और मोनिका बत्रा (कियारा आडवाणी)। ये दो कपल एक दूसरे से बिल्कुल उत्तर-दक्षिण हैं.. एक मुंबई के हाई सोसाइटी बिजनेसमैन, तो दूसरा चंडीगढ़ का अल्हड़ देसी। अब डॉक्टर द्वारा आईवीएफ तकनीक में एक गड़बड़ी हो जाती है.. और वह गड़बड़ी है स्पर्म मिक्स अप.. यानि की हनी का स्पर्म दीप्ति में और वरुण का स्पर्म मोनिका में। अब दोनों कपल इस अटपटी स्तिथि से कैसे निकलते हैं और उन्हें बच्चे का सुख मिल पाता है या नहीं.. पूरी फिल्म इसी के इर्द गिर्द घूमती है।

    अभिनय

    अभिनय

    फिल्म के सबसे मजबूत पक्षों में से एक है फिल्म की स्टारकास्ट। अक्षय कुमार और करीना कपूर बतौर कपल बेहद शानदार दिखे हैं। उनके बीच का रोमांस, नोक झोंक, आवेग सभी हाव भाव खुलकर सामने दिखते हैं। खासकर करीना हर फ्रेम में जबरदस्त दिखी हैं। वहीं, दिलजती दोसांझ और कियारा आडवाणी की देसी जोड़ी स्क्रीन पर रंग भर देती है। उनका बिंदास अंदाज़ चेहरे पर हंसी लाता है। कॉमेडी और इमोशनल दृश्यों में ये चारों कलाकार खूब जमे हैं। सह कलाकारों में आदिल हुसैन और टिस्का चोपड़ा ने अपने किरदारों के साथ न्याय किया है।

    निर्देशन

    निर्देशन

    राज मेहता ने फिल्म के निर्देशन में ही नहीं बल्कि लेखन में भी योगदान दिया है। बतौर निर्देशक पहली फिल्म होने के बावजूद इस क्षेत्र पर राज मेहता की मजबूत पकड़ दिखती है। आईवीएफ जैसे विषय पर एक मनोरंजक फिल्म बनाना आसान नहीं रहा होगा। फिल्म में जहां एक दृश्य आपको हंसाती है, वहीं दूसरा दृश्य देखकर संवेदनशील महसूस करते हैं। लेकिन 2 घंटे और 13 मिनट की यह कहानी कहीं भी बोर नहीं करती। कुछ एक डायलॉग असहज करते हैं, जो टाले जा सकते थे। एक सीन में करीना उर्फ दीप्ति मोनिका (कियारा) से सवाल करती हैं कि तुमने बच्चा गोद क्यों नहीं लिया.. तो मोनिका आंखों में आंसू लिये कहती है- अपना बच्चा तो अपना ही होता है ना। कहीं ना कहीं यह संवाद आपत्तिजनक है। दुनिया में कई दम्पति ऐसे हैं, जो बच्चे गोद लेते हैं, उनकी सही परवरिश करते हैं और अपने बच्चे की तरह ही प्यार देते हैं। आईवीएफ को सही बताने के लिए Adoption को गलत बताना सही नहीं है।

    तकनीकि पक्ष

    तकनीकि पक्ष

    ज्योति कपूर, राज मेहता और ऋषभ शर्मा द्वारा लिखी गई कहानी और संवाद फिल्म को मजबूती देते हैं। फिल्म में कॉमेडी और इमोशन को काफी नापतोल पर रखा गया है। फर्स्ट हॉफ जहां हंसते मुस्कुराते गुज़र जाएगा.. सेकेंड हॉफ में आंखें नम होंगी। परफेक्ट एडिटिंग के लिए मनीष मोरे की तारीफ होनी चाहिए। विष्णु राव की सिनेमेटोग्राफी कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाती।

    संगीत

    संगीत

    फिल्म में संगीत दिया है तनिष्क बागची, रोचक कोहली, बादशाह आदि ने। गाने लिखे हैं कुमार, रश्मि विराग, तनिष्क बागची, गुरप्रीत साइनी, माइकल पोलॉक, वायु ने। जाहिर है इतनी लंबी चौड़ी लिस्ट के बाद कुछ गाने अच्छे बन पड़े हैं। चंडीगढ़ में, लाल घाघरा, सौदा खरा खरा आदि गाने चार्टबस्टर रहे हैं।

    देंखे या ना देंखे

    देंखे या ना देंखे

    शानदार अदाकारी के साथ एक हल्की फुल्की मजेदार फिल्म देखना चाहते हैं तो इस साल का अंत 'गुड न्यूज़' के साथ कर सकते हैं। फिल्मीबीट की ओर से फिल्म को 3.5 स्टार।

    English summary
    Akshay Kumar and Kareena Kapoor Khan starring Good Newwz delivers fantastic humour with right amount of emotion. Film directed by Raj Mehta.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X