»   » प्यार जो हंसी के बाद आंसू दे दे- एक विलेन रिव्यू

प्यार जो हंसी के बाद आंसू दे दे- एक विलेन रिव्यू

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

स्टार- 3
निर्माता- एकता कपूर, शोभा कपूर
निर्देशक- मोहित सूरी
अभिनेता- सिद्धार्थ मल्होत्रा, श्रृद्धा कपूर, रितेश देशमुख, आमना शरीफ, कमाल आर खान
संगीत- अंकित तिवारी, मिथुन

जब तक हम किसी के हमदर्द नहीं बनते,
तब तक दर्द हमसे और हम दर्द से जुदा नहीं होते,

कुछ यही सोच है मोहित सूरी की फिल्म एक विलेन में। इतनी खूबसूरत सी सोच जिस फिल्म में हो और जिस फिल्म का आधार प्यार रखा जाए भला वो फिल्म खराब कैसे हो सकती है। लेकिन कहना गलत नहीं होगा कि मोहित सूरी इस बार अपने प्यार और आशिकी से दर्शकों को जोड़ने में, उनकी आंखों में आंसू लाने में नाकाम हो गये। हालांकि कोशिश पूरी थी। एक विलेन के गाने बेहतरीन हैं, अभिनय की बात करें तो सिद्धार्थ, रितेश और श्रृद्धा तीनों ने ही अपना बेहतरीन परफॉर्मेंस दिया है। फिल्म की कहानी भी काफी एंटरटेनिंग है लेकिन कहीं ना कहीं फिल्म के स्क्रिनप्ले में वो बात नहीं जो मोहित की अब तक की फिल्मों में देखने को मिली थी।

कहानी- ये एक विलेन की लव स्टोरी है। जिसमें कोई दूसरा आकर विलेन बन जाता है। गुरु (सिद्धार्थ मल्होत्रा) एक गुंडा है। उसने बचपन में अपने मां बाप को खो दिया था और इसी गुस्से का बदला वो पूरी दुनिया में लोगों को मार मार कर लेता है। गुरु की मुलाकात एक दिन होती है श्रृद्धा कपूर से जो कि किसी बीमारी से जूझ रही है और उसके पास वक्त बहुत कम है। वो अपने कुछ सपनों को पूरा करना चाहती है। गुरु को श्रृद्धा की सादगी, उसकी हंसी और उसके साफ दिल से प्यार हो जाता है और वो श्रृद्धा के साथ अपनी पूरी जिंदगी बिताने का फैसला करता है। दूसरी तरफ कहानी है रितेश देशमुख की जो कि अपनी पत्नी सुलोचना (आमना शरीफ) से बेहद प्यार करता है लेकिन आमना रितेश से कभी भी संतुष्ट नहीं होती। उसकी ख्वाहिशें बहुत ऊंची हैं।

अब इन दोनों में से कौन किसकी जिंदगी का विलेन बनता है और फिल्म की कहानी क्या ट्विस्ट टर्न लेती है ये जानने के लिए आपको एक विलेन देखनी होगी। फिल्म से जुड़ कुछ खास पहलू हम यहां पेश कर रहे हैं-

बेहतरीन अभिनय

बेहतरीन अभिनय

अभिनय की बात करें तो एक विलेन में सिद्धार्थ मल्होत्रा ने बेहतरीन अभिनय किया है। रितेश देशमुख ने भी अपनी तरफ से हर एक सीन में जान डालने की कोशिश की है। हालांकि कुछ सीन्स में श्रृद्धा थोड़ा सा ओवर एक्टिंग करती महसूस हुईं लेकिन ओवर ऑल श्रृद्धा काफी खूबसूरत लगी हैं। इसके अलावा फिल्म में कमाल आर खान के कुछ सीन्स हैं जो कि काफी ढीले हैं।

हिट गाने

हिट गाने

एक विलेन के गाने फिल्म की जान हैं। तेरी गलियां, बंजारा गानों ने तो चार्टबस्टर्स लिस्ट में धमाल मचा रखा है। फिल्म के दौरान भी फिल्म भले ही थोड़ी सी बोर महसूस हो लेकिन फिल्म के गाने बीच बीच में लोगों को काफी एंटरटेन करते हैं।

कहानी का मनोरंजक प्लॉट

कहानी का मनोरंजक प्लॉट

एक विलेन की कहानी का आधार अच्छा है और अगर शायद स्क्रीनप्ले अच्छा होता तो फिल्म बेहतर बनती। कहानी में और भी ज्यादा सस्पेंस डाला जा सकता था। लेकिन यूं लगा कि मोहित सूरी ने लंच के टाइम पर स्टार्टर्स के साथ ही मेन कोर्स और स्वीट डिश साथ में ही परोस दी है।

कमजोर स्क्रिनप्ले

कमजोर स्क्रिनप्ले

फिल्म में एक सीन से दूसरे सीन में जाने के बीच जो गैप है वो काफी खराब है। कई बार लोग फिल्म की कहानी से कनेक्ट होते हैं लेकिन अचानक ही ये कनेक्शन टूट जाता है। कई सीन्स ऐसे हैं जिनका कोई मतलब ही नहीं जैसे खुली जीप के शीशे पर बार बार ऐसी की ठंड से जमा होने वाली।

देखें या नहीं

देखें या नहीं

मोहित सूरी की फिल्म है तो एक बार तो देखनी बनती ही है। फिल्म में अभिनय बेहतरीन है और साथ ही फिल्म का संगीत भी फिल्म देखने के लिए एक खास वजह हो सकती है।

English summary
Ek Villain is a love story of a Villain. Sidharth Malhotra, Ritesh Deshmukh and Shraddha Kapoor starer Ek Villain has a great plot but there is very bad screenplay. It fails to impress audience.
Please Wait while comments are loading...