For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    दम लगा के हाइशा- फिल्म रिव्यू

    |

    शादी का रिश्ता एक बहुत ही नाजुक रिश्ता होता है, शुरुआत खराब हो तो पूरी जिदंगी खराब हो सकती है। लेकिन अक्सर हमारी हिंदी फिल्मों में इस रिश्ते की शुरुआत कितनी भी खराब क्यों ना दिखाई जाए लेकिन फिल्म के अंत में अक्सर इस रिश्ते की ही जीत होती है। शादी से जुड़ी कस्में, रस्में, बंधन वगैहर किरदारों को एक पल तो जोड़ ही लेते हैं।

    आयुष्मान खुराना की फिल्म दम लगा के हाइशा भी कुछ ऐसे ही विषय पर आधारित है। फिल्म में प्रेम (आयुष्मान खुराना) और संध्या (भूमि) की कहानी दिखाई गयी है। प्रेम के पिताजी की एक कैसेट की दुकान है। प्रेम का परिवार बहुत बुरी परिस्थितियों से गुजर रहा है और उसी दौरान उसके पिताजी फैसला करते हैं कि प्रेम की शादी संध्या से कर दी जाए। संध्या एक बहुत पढ़ी लिखी लड़की है और प्रेम के साथ शादी करने को तैयार हो जाती है।

    शादी के बाद प्रेम और संध्या के बीच का रिश्ता काफी उतार चढ़ावों से गुजरता है। प्रेम जो कि संध्या को बिल्कुल भी खूबसूरत और आकर्षित नहीं मानता उससे दूर दूर रहने लगता है। प्रेम को लगता है कि संध्या उसके सपनों की राजकुमारी जैसी नहीं है और इसके चलते वो संध्या की तरफ बिल्कुल ध्यान नहीं देता। वहीं संध्या प्रेम को बार बार रिझाने की कोशिश करती रहती है।

    इसी दौरान दोनों की जिदंगी में कई खूबसूरत मोड़ आते है और इनका रिश्ता किन किन परिस्थितियों से होकर अंत में किस मंजिल पर पहुंचता है यही है दम लगा के हाइशा की कहानी।

    कहानी

    कहानी

    दम लगा के हाइशा की कहानी कुछ खास या बहुत लीक से हटकर नहीं है। फिल्म में एक बहुत ही आम से परिवार की परिस्थितियों को दर्शाया गया है। एक इंसान को अपनी शादी को लेकर कितनी ख्वाहिशें और उम्मीदें होती हैं और जब वो हकीकत की जमीं से टकराता है तो ये सारी उम्मीदें अक्सर टूट जाती है। ऐसे में लोग कैसे परिस्थितियों का सामना करते हैं इसी के इर्द गिर्द घूमती है जोर लगा के हाइशा की कहानी।

    अभिनय

    अभिनय

    आयुश्मान खुराना ने अभी तक की अपनी फिल्मों में अपने बेहतरीन अभिनय से लोगों को खासा प्रभावित किया है। जोर लगा के हाइशा फिल्म में भी आयुश्मान खुराना ने बेहतरीन अभिनय किया है। साथ ही भूमि जो कि इस फिल्म से बतौर अभिनेत्री अपने करियर की शुरुआत कर रही हैं उन्होंने भी फिल्म में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है।

    संगीत

    संगीत

    जोर लगा के हाइशा फिल्म में अनु मलिक ने संगीत दिया है। फिल्म में मोह मोह के धागे, सुंदर सुशील, दर्द करारा और तू जैसे बेहतरीन गाने हैं जो कि फिल्म की कहानी के साथ काफी जमे हैं। वैसे भी यशराज की फिल्मों में संगीत पर हमेशा ही काफी जोर दिया जाता रहा है। इस बार भी जोर लगा के हाइशा में बेहतरीन संगीत डाला गया है।

    निर्देशन

    निर्देशन

    शरत कटारिया ने दम लगा के हाइशा जैसी बेहतरीन व दिल को छू लेने वाली कहानी को बेहतरीन तरह से निर्देशित किया है। फिल्म का एक एक सीन दर्शकों को खुद को जोड़े रखता है। किसी भी पल फिल्म की कहानी अपने मुख्य थीम से नहीं हटती।

    देखें या नहीं

    देखें या नहीं

    दम लगा के हाइशा फिल्म एक बेहतरीन व पारिवारिक फिल्म है। कुल मिलाकर फिल्म देखने लायक है।

    English summary
    Dum Laga Ke Haisha is a story of Prem played by Ayushmann Khurrana and Sandhya played by Bhumi. Prem and Sandhya get married and then their lives take many ups and downs.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X