For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    #ClearHai: इसलिए मोहनजोदड़ो से पहले देख डालिए अक्षय की रूस्तम!

    |

    अक्षय कुमार स्टारर रूस्तम रिलीज़ के लिए तैयार है और फिल्म ऋतिक रोशन की मोहनजोदड़ो से बॉक्स ऑफिस पर भिड़ेगी। हम आपको सीधे सीधे बताने जा रहे हैं 10 कारण जो बना रहे हैं रूस्तम को MUST WATCH, वो भी ऋतिक रोशन की मोहनजोदड़ो से पहले।

    फैन तो हम दोनों के हैं, इसलिए फिल्में तो दोनों देखेंगे, लेकिन पहला दिन पहला शो कौन सी देखी जाए इस पर बहस होनी ही चाहिए। हमने की भी और स्कोर कार्ड भी ना डाला। आप भी पढ़ लीजिए - [SCORE CARD: रूस्तम Vs मोहनजोदड़ो, कौन कितने पानी में]

    बहरहाल, दोनों ही स्टार्स के फैन, फिल्म के लिए काफी उत्सुक हैं, लेकिन हम आपको साफ साफ बता रहे हैं 10 कारण कि रूस्तम पहले देखनी ही चाहिए -

    ज़बर्दस्त सस्पेंस
    फिल्म का सस्पेंस ज़बर्दस्त है और फिल्म के हर पोस्टर से ज़ाहिर। ट्रेलर का हर सीन फिल्म के ट्विस्ट को बढ़ा चुका है। खासतौर से आखिरी सीन जहां अक्षय कुमार रानी को दांव पर लगा कर सारी बाज़ी अपने नाम करते हैं। हालांकि खेल शतरंज का था लेकिन कहानी रूस्तम की।



    पति पत्नी और वो

    एक पति, उसकी पत्नी, दोनों के बीच रोमांस लेकिन फिर कहानी में आएगा वो, जिसे पति नहीं पत्नी लेकर आती है। लेकिन इस पति, पत्नी और वो के बीच अक्षय कुमार का अपनी पत्नी के प्रेमी के लिए क्या इमोशन था, ये अभी तक क्लियर नहीं है।

    रियल कहानी
    पूरी फिल्म तीन गोलियों पर बनी है जो एक पति ने अपनी पत्नी के प्रेमी पर चलाईं। लेकिन कहानी में ट्विस्ट है, गोलियां जान बूझकर नहीं चलाई गईं। रूस्तम केवल अपनी पत्नी के प्रेमी को समझाने गए थे कि वो उनकी पत्नी को अपना ले।



    अक्षय का फॉर्म

    अक्षय ज़बर्दस्त फॉर्म में चल रहे हैं। स्पेशल 26 के बाद से उन्होंने कुछ गड़बड़ नहीं किया है। ना बॉक्स ऑफिस पर, ना ही फिल्मों में, ना ही फैन्स के साथ और ना ही अपने किरदारों में। वो हर तरह के किरदार में बराबर नज़र आए।

    अजीब सी स्टारकास्ट
    फिल्म की स्टारकास्ट काफी अजीब है। जिन्हें आप ने ज़्यादा देखा नहीं है। ऐसे में वो परदे पर कैसे दिखेंगे, ये अभी तक कोई नहीं समझ पाया है। उनकी केमिस्ट्री अक्षय के साथ कैसी होगी, ये जानने की दिलचस्पी सबको है।
    [WARNING: इसलिए रूस्तम अक्षय से पहले देखें ऋतिक की मोहनजोदड़ो!]

    पीरियड ड्रामा
    फिल्म एक अलग तरह का पीरियड ड्रामा है। देखा जाए तो वो समय जो हमने सबसे कम देखा है। आज़ादी के तुरंत बाद का। नया नया आज़ाद देश, नई फौज, नए नियम। या तो फिल्में 40 - 47 के दशक पर ज़्यादा बनी या 65 के बाद के दशक। आज़ादी के तुरंत बाद का भारत कम ही दिखा।



    हटके म्यूज़िक

    फिल्म का म्यूज़िक काफी अलग है, धीमा लेकिन चढ़ने वाला। या फिर ये केवल अरिजित की आवाज़ का कमाल है। लेकिन फिल्म के म्यूज़िक के साथ काफी प्रयोग किया गया है। अगर पहले रहमान की मोहनजोदड़ो देख ली तो इसका मज़ा फीका हो जाएगा।



    ज़बर्दस्त ओपनिंग

    मानिए या ना मानिए लेकिन ऋतिक रोशन बॉक्स ऑफिस के हीरो हैं। कम से कम उनके फैन्स इस बात का ख्याल रख लेते हैं। ऐसे में अक्षय कुमार को बॉक्स ऑफिस किंग बनाए रखने के लिए उन्हें एक शानदार ओपनिंग तो मिलनी ही चाहिए।



    विलेन क्यों बना हीरो

    ये वो मौका था जब पूरे देश ने मिलकर एक खूनी को हीरो बना दिया था। आखिर कवास मानेकशॉ नानावटी (जिन पर रूस्तम आधारित है), इस आदमी में ऐसा क्या था कि पूरे देश ने इस खूनी को एक हीरो बना दिया था।



    असली चेहरा

    फिल्म के हर पोस्टर में अक्षय के तीन चेहरे दिखाए गए हैं - कातिल, भेदिया या देशभक्त। अब अक्षय इनमें से क्या है, ये जानने को सब बेसब्र हैं। जैसा कि हमने बताया कि फिल्म का सस्पेंस काफी तगड़ा है।



    मोहनजोदड़ो का ट्रेलर

    मोहनजोदड़ो का ट्रेलर तो देख ही चुके हैं। तीन मिनट में इतनी गलतियां भी हम आपको गिनवा चुके हैं। तो फिर ऑप्शन तो रूस्तम ही है ना। और याद नहीं है तो एक बार फिर देख लीजिए - [#MohenjodaroTrailer: 3 मिनट में निकाल ली गईं इतनी गलतियां!]

    बाद में नहीं मिलेंगे टिकट

    अक्षय की हर फिल्म का ग्राफ हमेशा धीरे धीरे बढ़ता है। ऐसे में अगर पहले दिन टिकट नहीं लिया तो बाद में टिकट मिल जाएगा, इसकी उम्मीद छोड़ दीजिए। ऊपर से 15 अगस्त की छुट्टी भी है। ऐसे में रिस्क मत लीजिए!

    English summary
    Why To watch Akshay Kumar's Rutom before Mohenjodaro.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X