For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    Preview: बापू का नहीं झा का 'सत्याग्रह'

    |

    एक बार फिर से ज्वलंत मुद्दे पर फिल्म लेकर आपके सामने आ रहे हैं जाने-माने निर्माता-निर्देशक प्रकाश झा। झा कि इस फिल्म का नाम है 'सत्याग्रह' । नाम से ही स्पष्ट है कि फिल्म बुराई पर अच्छाई की जीत का ही संदेश देती है। किसी ने कहा है कि फिल्म 2 जी घोटाले पर है तो किसी ने कहा कि यह फिल्म समाजवादी अन्ना हजारे के आंदोलन पर आधारित है।

    लेकिन इन सबसे उलट प्रकाश झा ने कहा कि उनकी फिल्म ना तो देश के किसी घोटाले पर आधारित है और ना ही कि अन्ना हजारे के लोकपाल आंदोलन पर। यह फिल्म देश की चरमरायी व्यवस्था पर आधारित है जिसे कि लोग देखेंगे और महसूस करेंगे। खैर कौन सच कह रहा है और कौन झूठ यह तो शुक्रवार को पता चल जायेगा जब फिल्म का पहला शो छूटेगा।

    फिल्म की भारी-भरकम स्टार कास्ट इस फिल्म की यूएसपी है। लंबे अरसे बाद आपको अमिताभ बच्चन एंग्री यंग मैन के रूप में नजर आने वाले हैं। फिल्म के प्रोमों से स्पष्ट है कि उनका किरदार भले ही एक बूढे व्यक्ति का है लेकिन उनका अंदाज काफी गर्म है ठीक उसी तरह जिस तरह सत्तर-अस्सी के दशक की फिल्मों में हुआ करता था।

    तो वहीं एक बार झा के साथ उनके फेवरट अजय देवगन, अर्जुन रामपाल और मनोज बाजपेई दिखायी पड़ रहे हैं। जिनका असर फिल्म में कितना है इसके बारे में सही-सही आंकलन को फिल्म की रिलीज के बाद पता चलेगा लेकिन यह तीनों जब भी मिले है, पर्दे पर कमाल ही करते आये हैं इसलिए फिल्म सत्याग्रह के प्रति लोगों की उत्सुकता काफी बढ़ गयी है।

    तो वहीं फिल्म में पत्रकार यासमीन अहमद का रोल निभा रहीं करीना कपूर और खद्दर की साड़ी पहने अमृता रॉव भी काफी प्रोमों में अच्छे लग रहे हैं। देखते हैं कि दोनों मिलकर पर्दे पर क्या कमाल करते हैं?

    आईये जानते हैं सत्याग्रह की कुछ बातें...

    सत्य की लड़ाई 'सत्याग्रह'

    सत्य की लड़ाई 'सत्याग्रह'

    फिल्म 'सत्याग्रह' में सत्य की लड़ाई दिखायी गयी है। फिल्म में युवाओं का जोश और बुजुर्ग के आदर्श मिलकर देश में नयी क्रांति लाते हैं।

    अकेले रिलीज

    अकेले रिलीज

    सत्याग्रह 30 अगस्त को पर्दे पर अकेले रिलीज हो रही है। इसलिए फिल्म को जबरदस्त ओपनिंग मिलने की उम्मीद है।

    फिल्म में अमिताभ बच्चन

    फिल्म में अमिताभ बच्चन

    अमिताभ बच्चन फिल्म की यूएसपी है जो कि एक आदर्श व्यक्ति का किरदार निभा रहे हैं, जो कि अन्याय के खिलाफ आवाज उठाता है और अनशन पर बैठ जाता है।

    करीना बनीं पत्रकार

    करीना बनीं पत्रकार

    अपने 13 साल के करियर में करीना ने पहली बार स्ट्रांग और सच्चे पत्रकार का रोल निभाया है। शादी के बाद पहली फिल्म है उनकी जो बतौर अभिनेत्री रिलीज हो रही है।

    नकारात्मक किरदार

    नकारात्मक किरदार

    मनोज बाजपेई उस राजनेता का किरदार निभा रहे हैं जो कि भ्रष्ट नीतियों से देश को खोखला कर रहा है।

    English summary
    This Friday, India's democracy will be under fire in the movie Satyagraha. In the upcoming film, Amitabh Bachchan is ready to start a movement against corruption. Are you ready to join this movement this weekend?
 
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X