For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    अब मुंबई में डर लगता है: बॉलीवुड हसीनाएं

    By सुभाष के. झा
    |

    श्रुति हासन के साथ हुई घटना और महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार से लोग ही नहीं बॉलीवुड भी सकते में है। प्रीति जिंटा और स्वरा भास्कर सरीखी बॉलीवुड हस्तियों का ख्याल है कि फिल्म नगरी मुंबई में महिलाओं का हर समय उत्पीड़न होता है या वह अपनी सुरक्षा को लेकर सशंकित रहती हैं। बीते वर्षो की तुलना में वर्ष 2013 में यहां दुष्कर्म और छेड़छाड़ के मामलों में वृद्धि हुई है। इसलिए वे इस जगह को अब असुरक्षित पाती हैं।

    बॉलीवुड अभिनेत्रियों को लगता है कि मुंबई अब सुरक्षित नहीं है, यहां लोगों को ना तो पुलिस का डर है और ना ही कानून का। मुंबई में काफी लोग बाहर से आते हैं। लोगों को रात में काम करने के लिए निकलता पड़ता है, ऐसे में महिलाओं के साथ जरूरी नहीं कि हमेशा कोई साथ रहे. लेकिन कुछ लोग महिलाओं के इसी अकेलेपन का फायदा उठाते हैं जो कि काफी गलत है।

    सोफी चौधरी ने कहा कि जब मैं अपनी मां के साथ लंदन से मुंबई आई तो हमने इसे लड़कियों के लिए विश्व के सुरक्षित शहरों में से एक पाया था। लेकिन अब ऐसा नहीं रहा। अगर आप अकेली लड़की हैं तो यहां आपको लगातार अपनी चौकीदारी करनी पड़ेगी।

    अफसोस लोग इस बारे में अपनी आवाज नहीं उठा रहे हैं, अब वक्त आ गया है कि महिलाएं खुद अपनी रक्षा करें इसके लिए उन्हें मजबूत होने की आवश्यकता है। आईये जानते हैं कि मुंबई और महिलाओं की सुरक्षा पर बॉलीवुड अभिनेत्रियों ने क्या कहा?

    नीचे की स्लाइडों पर क्लिक कीजिये और जानिये बॉलीवुड बालाओं के विचार...

    प्रीति जिंटा

    प्रीति जिंटा

    हमें उस डर और अनिश्चितता के माहौल को दूर करने के लिए उपचारात्मक समाधान निकालने होंगे, जिनका महिलाओं को सामना करना पड़ता है। नहीं तो हम और अधिक आत्मकेंद्रित हो जाएंगे।

    स्वरा भास्कर

    स्वरा भास्कर

    क्या मैं मुंबई में सुरक्षित महसूस करती हूं? हां या ना। हां, इसलिए चूंकि यहां दिन या रात किसी भी समय बाहर निकलना आसान है। और ना इसलिए क्योंकि मुंबई में मुझसे कई बार छेड़छाड़ हो चुकी है। मुंबई भी देश के अन्य राज्यों की जितनी ही असुरक्षित है।

    ऋचा चड्ढा

    ऋचा चड्ढा

    मुझे स्वीकार करना पड़ेगा कि यहां हमेशा सुरक्षित महसूस नहीं करती हूं। लेकिन क्या मैं किसी अन्य शहर में सुरक्षित हूं?

    अमृता राव

    अमृता राव

    यह शहर कामकाजी महिलाओं के लिए कतई सुरक्षित नहीं है। जब मैं शूटिंग पर होती हूं तो स्वयं को अनचाहे लोगों से बचाने के लिए अंगरक्षक रखने पड़ते हैं।

    मिनीषा लांबा

    मिनीषा लांबा

    यह पेचीदा सवाल है। मैं मुंबई में देश के अन्य शहरों जितना ही सुरक्षित महसूस करती हूं।

    English summary
    Preity Zinta and Swara Bhaskar are of the opinion that women face uncertainty and fear, they are harassed all the time in Mumbai, which has reportedly recorded a sharp rise in rape and molestation cases in 2013 as compared to the previous year, is no more safe for them.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X