For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    Ranveer Singh cries: रणवीर सिंह ने लिया 'दशक का सुपरस्टार' अवार्ड, मां को रोता देख रोते रोते दी स्पीच

    |

    Ranveer Singh cries: रणवीर सिंह को Filmfare Middle East Achievers Night पर 'दशक के सुपरस्टार' का अवार्ड दिया गया। ये अवार्ड लेने रणवीर सिंह, अपने पिता और मां के साथ इवेंट पर पहुंचे थे। अवार्ड लेने से पहले रणवीर सिंह पूरे जोश में स्टेज पर गए। स्टेज पर जाने से पहले, रणवीर सिंह ने अपनी मां के पैर छुए। लेकिन जैसे रणवीर ने अवार्ड लिया उन्होंने देखा कि उनकी मां की आंखों में आंसू हैं।

    रणवीर सिंह ने अपनी स्पीच शुरू करते हुए मां से पूछा कि जब मैं 12 साल पहले इंडस्ट्री में आने की कोशिश कर रहा था तब भी आप रो रही थीं और अभी भी आप रो रही हैं। उम्मीद कर रहा हूं कि ये वाले आंसू खुशी के हैं। रणवीर सिंह ने अपनी मां से ये भी कहा कि आप रोएंगी तो मैं भी रो दूंगा और फिर पूछा, आपके पर्स में टिशू तो है ना?

    इसके बाद रणवीर सिंह ने अपने संघर्ष के दिनों को याद करते हुए बताया कि जब मैं इंडस्ट्री में आने की कोशिश कर रहा था तब मुझे अपना पोर्टफोलियो बनवाना था। लेकिन अच्छा पोर्टफोलियो बनवाने की कीमत 50 हज़ार रूपये थी। मैंने पापा से कहा कि ये तो बहुत महंगा है और पापा ने कहा कि तू टेंशन क्यों लेता है, तेरा बाप है ना। इसके बाद रणवीर सिंह ने अपनी मां को याद दिलाया कि पहले वो कितना बुरा ऑडीशन देते थे।

    12 सालों का शानदार सफर

    12 सालों का शानदार सफर

    रणवीर सिंह इंडस्ट्री में 12 सालों का लंबा सफर पूरा कर चुके हैं। उन्होंने साल 2010 में यशराज फिल्म्स की बैंड बाजा बारात के साथ अपना सफर शुरू किया था। इसके बाद 12 सालों में रणवीर सिंह ने किसी गिरगिट की तरह रंग बदलते हुए अपने अभिनय की कला के अलग अलग कलेवर दिखाए हैं। कभी राम लीला के अल्हड़ राम बनकर तो कभी दिल धड़कने दो का Metrosexual पंजाबी मुंडा बनकर। कभी बाजीराव जैसे योद्धा बनकर तो कभी खिलजी जैसा वहशी बनकर।और अंत में कपिल देव बनकर। जिस भी चोले को रणवीर सिंह ने ओढ़ा, वो बस उसी किरदार में ढल कर रह गए।

    इंडस्ट्री में बांहे फैलाकर स्वागत हुआ

    इंडस्ट्री में बांहे फैलाकर स्वागत हुआ

    रणवीर सिंह का स्वागत ज़ोरदार तरीके से बॉलीवुड में किया गया। जहां बैंड बाजा बारात के लिए अपना बेस्ट डेब्यू अवार्ड लेते हुए रणवीर सिंह भावुक हुए थे वहीं इसके बाद कई साल लगातार, रणवीर सिंह ने फिल्मफेयर बेस्ट एक्टर की ट्रॉफी अपने नाम की है। उनके फैशन सेंस का बॉलीवुड में अगर मज़ाक उड़ता है तो उतना ही हर किरदार के लिए लोग उनके कायल भी हो जाते हैं। ऐसा शायद इसलिए कि रणवीर सिंह हर किरदार दिल से निभाते हैं।

    निजी ज़िंदगी में भी बड़े बदलाव

    निजी ज़िंदगी में भी बड़े बदलाव

    रणवीर सिंह की ज़िंदगी में एक दिन आए संजय लीला भंसाली और उन्होंने रणवीर सिंह की किस्मत ऐसी बदली कि फिल्मों ने करियर की ऊंचाई पर तो पहुंचाया ही साथ में ज़िंदगी को भी नया चैप्टर खोलने का मौका दे दिया। साथ में भंसाली की तीन फिल्में करने के बाद, रणवीर - दीपिका ने शादी कर ली। रणवीर सिंह के हिस्से जो भी काम आया, वो उन्होंने ज़बरदस्त तरीके से निभाया। चाहे वो कोई भी किरदार हो, रणवीर ने पूरी मेहनत के साथ उस किरदार को जिया और दर्शकों के दिल में जगह बनाई।

    कोरोना काल के बाद लड़खड़ाया सफर

    कोरोना काल के बाद लड़खड़ाया सफर

    कोरोना काल के बाद रणवीर सिंह का सफर बॉक्स ऑफिस पर थोड़ा लड़खड़ाया। जहां अजय देवगन के साथ वो अक्षय कुमार की रोहित शेट्टी फिल्म सूर्यवंशी में अपना सिंबा अवतार लिए नज़र आए वहीं इसके बाद कबीर खान की फिल्म 83 में कपिल देव के किरदार में उन्होंने दिल जीता लेकिन बॉक्स ऑफिस आंकड़े नहीं जीत पाए। इसके बाद यशराज फिल्म्स की जयेशभाई जोरदार के साथ ना रणवीर सिंह दिल जीत पाए और ना ही बॉक्स ऑफिस के आंकड़े।

    सर्कस के बाद भव्य प्रोजेक्ट

    सर्कस के बाद भव्य प्रोजेक्ट

    रणवीर सिंह की अगली फिल्म है रोहित शेट्टी की सर्कस जो कि दिसंबर 2022 में रिलीज़ हो रही है। इसके बाद रणवीर सिंह साउथ डायरेक्टर शंकर के साथ मशहूर तमिल नॉवेल वेलपारी पर बनने जा रही है एक भव्य तीन पार्ट की फिल्म का हिस्सा होने जा रहे हैं। इस प्रोजेक्ट को 1000 करोड़ का बताया जा रहा है और इसे भारत की सबसे बड़ी Pan India फिल्म कहा जा रहा है। इस प्रोजेक्ट से कन्नड़ सुपरस्टार यश और तमिल सुपरस्टार सूर्या का नाम भी जोड़ा जा रहा है।

    यशराज के साथ पूरा हुआ सफर

    यशराज के साथ पूरा हुआ सफर

    रणवीर सिंह ने अपने करियर की शुरूआत यशराज फिल्म्स के साथ की थी। बैंड बाजा बारात के साथ ही रणवीर सिंह यशराज की टैलेंट एजेंसी का हिस्सा बन गए थे और यही कंपनी उन्हें मैनेज करती थी। लेकिन इस साल जयेशभाई जोरदार के साथ रणवीर सिंह ने यशराज फिल्म्स के साथ अपने इस बंधन को खत्म कर दिया है। हालांकि, कहा जा रहा है कि ये कॉन्ट्रैक्ट यशराज फिल्म्स और रणवीर सिंह ने निजी संबंध नहीं खराब करेगा। लेकिन क्या सच में ऐसा होगा, ये तो वक्त ही बताएगा।

    हर मायने में इस दशक के सुपरस्टार

    हर मायने में इस दशक के सुपरस्टार

    रणवीर सिंह ने 2010 में अपना डेब्यू किया। बैंड बाजा बारात से जयेशभाई जोरदार तक रणवीर सिंह ने कुल 14 फिल्मों में काम किया है। 12 सालों में 14 फिल्में करना बेहतरीन से भी बेहतर आंकड़ा कहा जाएगा। इन 14 फिल्मों के साथ रणवीर सिंह ने बॉक्स ऑफिस पर इतिहास रचा है। इन 14 फिल्मों में रणवीर सिंह की सफलता का रेट है लगभग 65 प्रतिशत जिसमें ज़्यादातर श्रेय जाता है रोहित शेट्टी और संजय लीला भंसाली को।

    सर्कस का इंतज़ार

    सर्कस का इंतज़ार

    फैन्स को अब रणवीर सिंह की रोहित शेट्टी फिल्म सर्कस का इंतज़ार है। ये फिल्म शेक्सपियर के नाटक कॉमेडी ऑफ एरर्स पर आधारित है और गुलज़ार साहब की क्लासिक फिल्म अंगूर का रीमेक है। ये फिल्म रणवीर सिंह के करियर की 15वीं फिल्म है और उम्मीद है कि इस फिल्म के साथ उनके करियर के अगले दशक की ब्लॉकबस्टर शुरूआत हो पाए। इस दशक के सुपरस्टार का अवार्ड लेते हुए रणवीर सिंह ने अपने सफर को भावुक तरीके से इस स्पीच में पिरोया है। यहां देखिए उनकी वायरल स्पीच।

    English summary
    Ranveer Singh cries as his mom cries while they get emotional on his award. Ranveer Singh received Superstar of the decade award at Filmfare Achievers Night at Dubai. See his speech video going viral.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X