For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    कंगना रनौत जब पैदा नहीं हुई थीं, जया बच्चन तब से feminism संभाल रही हैं - उर्मिला मातोंडकर

    |

    जया बच्चन के जिस थाली में खाते हैं उसी में छेद करते हैं बयान के बाद कंगना रनौत ने जया बच्चन से थाली का मतलब पूछते हुए बताया था कि उन्होंने बॉलीवुड में महिला प्रधान फिल्मों रास्ता बनाया। अब उर्मिला मातोंडकर ने कंगना रनौत को होश में लाने की कोशिश की है।

    उर्मिला मातोंडकर ने एनडीटीवी और आजतक को दिए इंटरव्यू में साफ किया कि जब कंगना रनौत पैदा भी नहीं हुई थीं, तब से जया बच्चन मिली, गुड्डी और अभिमान जैसी फिल्में कर रही हैं जिनमें मुख्य किरदार महिला का होता था।

    जया बच्चन उन हीरोइनों में से हैं जिन्होंने महिला फिल्मों को एक दिशा दी है। और कंगना रनौत अगर इतनी सीनियर अभिनेत्री का अपमान करेंगी तो ये किसी को बर्दाश्त नहीं करना चाहिए। साथ ही उर्मिला ने कंगना के मुंबई को Pok कहने पर भी आपत्ति जताई।

    उर्मिला का कहना है कि जिस शहर ने आपको काम दिया है, इज़्जत दी है, उसके बारे में आप ऐसे कैसे बात कर सकती हैं। हालांकि उर्मिला साफ करती हैं कि जो BMC ने कंगना के साथ किया वो बहुत ही गलत था। लेकिन कौन सी सभ्य महिला उस तरह बात करती है जैसे कंगना करती हैं?

    हमेशा असभ्य बातें

    हमेशा असभ्य बातें

    उर्मिला मातोंडकर का कहना है कि ये केवल आज की ही बात नहीं है। कंगना रनौत ने पहले भी जिस तरह महिलाओं के बारे में बात की है वो असभ्य है। जिस तरह वो दीपिका पर या बाकियों पर प्रहार करती है, ये दिखाता है कि उनका एजेंडा क्या है।

    आपके संस्कार क्या सिखाते हैं?

    आपके संस्कार क्या सिखाते हैं?

    उर्मिला मातोंडकर ने सवाल किया कि जया जी इस इंडस्ट्री की आईकॉन हैं। आपसे उम्र में बड़ी हैं। क्या आपके संस्कार यही सिखाते हैं कि अपने से बड़े इंसान के बारे में इस तरह से बात की जाए। उन्हें इस तरह अपमानित किया जाए।

    हिमाचल की गंदगी साफ करो

    हिमाचल की गंदगी साफ करो

    पहले भी उर्मिला ने अपने एक बयान में कहा कि मुंबई से पहले कंगना को हिमाचल में ड्रग्स का मुद्दा उठाना चाहिए क्योंकि सबसे ज़्यादा ये परेशानी वहां है।

    सोनू सूद ने दिया साथ

    सोनू सूद ने दिया साथ

    सोनू सूद ने कंगना पर कटाक्ष करते हुए लिखा - इज़्ज़त कमाने निकलना।

    मशहूर होने नहीं। मशहूर तो बहुत से लोग हैं। जो अब कभी इज़्ज़त नहीं कमा पाएंगे।

    कंगना ने पूछा थाली का मतलब

    कंगना ने पूछा थाली का मतलब

    गौरतलब है कि कंगना ने जया बच्चन से जिस थाली में खाते हैं उसी में छेद करते हैं वाले बयान के बाद थाली का मतलब पूछा था। उन्होंने लिखा - कौन सी थाली दी है जया जी और उनकी इंडस्ट्री ने?

    कंगना की भी दो टूक

    कंगना की भी दो टूक

    कंगना ने आगे लिखा था - एक थाली मिली थी जिसमें दो मिनट के रोल आइटम नम्बर्ज़ और एक रोमांटिक सीन मिलता था वो भी हेरो के साथ सोने के बाद,मैंने इस इंडस्ट्री को फ़ेमिनिज़म सीखाया,थाली देश भक्ति नारीप्रधान फ़िल्मों से सजाई,यह मेरी अपनी थाली है जया जी आपकी नहीं।

     स्वरा भास्कर ने दी वार्निंग

    स्वरा भास्कर ने दी वार्निंग

    स्वरा भास्कर कंगना रनौत पर भड़क गईं और उन्होंने कंगना को साफ शब्दों में कहा - बस करो please. अपने ज़हन की गंदगी ख़ुद तक सीमित रखो, गाली देनी है तो मुझे दो.. मैं तुम्हारी बकवासें ख़ुशी ख़ुशी सुनूँगी और यह कीचड़ कुश्ती लड़ूँगी तुम्हारे साथ। बड़ों की इज़्ज़त भारतीय संस्कृति का पहला सबक़ है- और तुम तो कथित राष्ट्रवादी हो।

    महिला प्रधान फिल्मों की मुखिया

    महिला प्रधान फिल्मों की मुखिया

    स्वरा भास्कर ने आगे लिखा - जया जी, गुड्डी, शोर, ज़ंजीर, जवानी दीवानी, अनामिका, कोशिश, बावर्ची, उपहार, कोरा काग़ज़, चुपके चुपके, मिली, अभिमान, सिलसिला, शोले, नौकर, हज़ार चौरासी की माँ। फ़िज़ा जैसी तमाम फ़िल्मों में आपने जिस तरह के किरदार किए, जिनमें से कई महिला प्रधान फ़िल्में थीं। उन्होंने ना केवल एक ‘आउट्साइडर’ को फ़िल्म इंडस्ट्री का चमकता सितारा बना दिया, पर मुझ जैसी अभिनेत्रियों के लिए रास्ता गढ़ा। आप प्रेरणा का स्रोत हैं।

    English summary
    Urmila Matondkar in an interview slams Kangana Ranaut for disrespecting Jaya Bachchan who taught feminism in Bollywood even before Kangana was born.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X