»   » #FirstReview: अक्षय कुमार की फिल्म का सेकंड हाफ...हाजमोला खाकर भी हजम नहीं होगा!

#FirstReview: अक्षय कुमार की फिल्म का सेकंड हाफ...हाजमोला खाकर भी हजम नहीं होगा!

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

अक्षय कुमार स्टारर टॉयलेट एक प्रेम कथा आज रिलीज़ हो चुकी है लेकिन आपसे ज़्यादा लकी हैं यूएई के दर्शक जो एक दिन पहले ही फिल्म देख चुके हैं और इसलिए फिल्म का एक छोटा सा रिव्यू पहले ही आ चुका है।

खाड़ी देशों में हमारी फिल्में एक दिन पहले ही रिलीज़ हो जाती हैं और इसलिए ये पता चल ही जाता है कि फिल्म अच्छी है या बुरी। हम आपको साफ कर देते कि भारत में अभी भी फिल्म की स्क्रीनिंग नहीं हुई है।

toilet-ek-prem-katha-first-film-review-uae-critics

यूएई के दर्शकों की राय के अनुसार गल्फ न्यूज़ के दिए रिव्यू पर हम भी आपको टॉयलेट एक प्रेम कथा का छोटा सा रिव्यू जारी कर देते हैं। फिल्म को डायरेक्ट किया है श्रीनारायण सिंह ने और फिल्म में अक्षय कुमार के साथ हैं भूमि पेडनेकर।

Toilet Ek Prem Katha Movie Review: A movie that CANNOT be IGNORED | FilmiBeat

दर्शकों को फिल्म से काफी ज़्यादा उम्मीदें हैं। और आइए आपको बताते हैं कि अक्षय और भूमि की ये लव स्टोरी आपकी उम्मीदों पर खरी उतरती है या नहीं।

फिल्म की कहानी तो अधिकांश लोगों को पता है कि फिल्म गांव देहात में घरों में ना बनने वाले टॉयलेट की समस्या को दर्शाती है। जानिए फिल्म की छोटी सी समीक्षा, गल्फ न्यूज़ के अनुसार - 

शानदार फर्स्ट हाफ

शानदार फर्स्ट हाफ

फिल्म का पहला हाफ शानदार है। अक्षय कुमार आपको उतने ही मज़े देंगे जितने कि वो देते हैं। उनसे कुछ भी कम की उम्मीद रखना है बेकार है। वो अपना 100 प्रतिशत देते हैं।

ढीला सेकंड हाफ

ढीला सेकंड हाफ

फिल्म का सेकंड हाफ हाजमोला से भी हज़म नहीं होगा। ये ऐसा है कि आपको बदहज़मी दे जाए और पूरी फिल्म का मू़ड खराब कर के रख देगा।

अक्षय कुमार की स्टारडम

अक्षय कुमार की स्टारडम

फिल्म का सेकंड हाफ हाजमोला से भी हज़म नहीं होगा। ये ऐसा है कि आपको बदहज़मी दे जाए और पूरी फिल्म का मू़ड खराब कर के रख देगा।

 अक्षय कुमार की स्टारडम

अक्षय कुमार की स्टारडम

फिल्म अक्षय कुमार का पब्लिसिटी स्टंट ज़्यादा और फिल्म कम लग रही है। फिल्म में केवल अक्षय का स्टारडम है और मुद्दा कहीं है ही नहीं।

अच्छा व्यंग्य

अच्छा व्यंग्य

हालांकि फिल्म में श्रीनारायण सिंह की तारीफ करनी पड़ेगी क्योंकि उन्होंने दकियानूसी उसूलों और परंपराओं को बड़े अच्छे से चुटकुलों और हल्के फुल्के सीन के साथ बांधने की कोशिश की है।

शानदार कपल

शानदार कपल


अक्षय कुमार और भूमि पेडनेकर एक विवाहित जोड़े के तौर पर शानदार लग रहे हैं और काफी रियल लग रहे हैं।

अच्छे हैं रोमांस के सीन

अच्छे हैं रोमांस के सीन

दोनों का रोमांटिक एंगल फिल्म में जिस तरह दिखाया गया है, आपको यकीन होगा कि वाकई ये आदमी, अपनी बीवी के लिए एक टॉयलेट बनाने के लिए किसी भी हद तक जाएगा।

ढेर सारे टॉयलेट जोक्स

ढेर सारे टॉयलेट जोक्स

फिल्म में आपको खूब सारे शौचालय के चुटकुले और हल्के होने वाले जोक्स की भरमार मिलने वाली है और ये डायलॉग्स आपको मज़ा देंगे और याद भी रहेंगे।

बड़ा दोहराव है

बड़ा दोहराव है

फिल्म में एक ही बात बार बार इतनी बार आएगी कि आपको एक ही फिल्म में बार बार दोहराव नज़र आएगा। जो मुद्दा शुरू में दिलचस्प लग रहा था वो अंत तक उबाऊ लगने लगेगा।

अच्छी है कहानी

अच्छी है कहानी

फिल्म का मुद्दा शानदार है। लेकिन फिल्म की एडिटिंग इसे बहुत धीमी बनाती है। कुल मिलाकर एक अच्छी फिल्म बन सकती थी पर बनी नहीं है।

मोदी की तारीफों में खो गई फिल्म

मोदी की तारीफों में खो गई फिल्म

अक्षय कुमार मोदी के स्वच्छ भारत अभियान का प्रचार करते करते इतना खो गए कि फिल्म बनाना ही भूल गए लगता है। बाकी तो आप जाइए और फिल्म देखिए। इंजॉय करेंगे ही।

English summary
Toilet Ek Prem Katha first film review by UAE critics.
Please Wait while comments are loading...