»   » साल 2011 की चर्चित हस्तियां जिन्होंने कहा अलविदा दोस्तों

साल 2011 की चर्चित हस्तियां जिन्होंने कहा अलविदा दोस्तों

Posted By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

सिने दर्शकों के लिए जहां साल 2011 बहुत कुछ लेकर आया। कई तरह फिल्में उन्हें देखने को मिलीं वहीं इस साल बॉलीवुड की कई चर्चित और लोकप्रिय हस्तियों ने बॉलीवुड का साथ छोड़ दिया और दुनिया को अलविदा कह दिया।

यह सितारे थे बेहतरीन एक्टर शम्मी कपूर, रोमांस किंग देवानंद, शरारती मुस्कुराहट के मालिक नवीन निश्चल, खलनायक गोगा कपूर, एंटोनी गोम्स, फिल्ममेकर सुरेन्द्र कपूर, शमीन देसाई, जगमोहन मुंद्रा, मनी कौल, प्रख्यात चित्रकार और फिल्म मेकर एम एफ हुसैन, संगीतकार और गायक भूपेन हजारिका, गजलों के बादशाह जगजीत सिंह, शास्त्रीय गायक पं. भीमसेन जोशी और सुचित्रा मित्रा।


क्लिक करें: ये हैं साल 2011 की चर्चित शादियां

इन सभी के जाने से बॉलीवुड समेत पूरा भारत रो उठा। लोगों को अभी तक विश्वास नहीं हो रहा था कि देश के इन  होनहार नगीनों ने  देश और लोगो का साथ छोड़ दिया।

14 अगस्त 2011 को सिनेमाजगत के पहले डांसिंग स्टार शम्मी कपूर ने दुनिया को अलविदा कह दिया। वो किडनी की बीमारी से ग्रसित थे। गंभीर बीमारियों से जूझ रहे शम्मी कपूर के जाने से पूरा बॉलीवुड रो उठा। लेकिन वो फिल्मों के जरिये हमेशा लोगों के दिलों में जिंदा रहेंगे। उनके जाने के बाद लोगों ने कहा कि बॉलीवुड ने अपना माइकल जैक्सन खो दिया।

शम्मी जी के जाने का गम अभी लोग भूला नहीं पाये थे कि उन्हें तगड़ा झटका तब लगा कि रोमांस और जिंदा दिली के बादशाह देवानंद के मरने की खबर मिली। देवानंद ने 3 दिसंबर को लंदन में अंतिम सांस ली। 88 साल के देवानंद के जाने का विश्वास अभी तक लोगों को नहीं हो रहा है। अपनी दिलकश अदाओं और शानदार फिल्मों के जरिये लोगों के दिलों पर लंबे अरसे तक राज करने वाले देव साहब आज भी अपनी बेहतरीन अदाकारी के जरिये लोगों के दिलों में धड़क रहे हैं।

शरारती मुस्कुराहट के मालिक नवीन निश्चल का भी मार्च 2011 में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। फिल्म सावन भादों से अभिनेत्री रेखा के साथ हिंदी फिल्म जगत में कदम रखने वाले नवीन निश्चल ने अपने पूरे फिल्मी जीवन में यादगार रोल किये। वो 65 साल के थे। मार्च में ही बुंलद आवाज के मालिक और कई फिल्मों में यादगार खलनायक की भूमिका अदा करने वाले गोगा कपूर ने भी जिंदगी को अलविदा कर दिया। वो 70 साल के थे। गोगा कपूर ने कई टीवी धारावाहिकों में भी काम किया था।

बॉलीवुड समेत पूरा भारत उस समय हैरान रह गया जब उसने सुना की भारत के गजल सम्राट जगजीत सिंह अब इस दुनिया में नहीं है। 23 सितंबर 2011 को जगजीत सिंह ने मुंबई के लीलावती अस्पताल में आखिरी सांस ली। उन्हें ब्रेन हेमरेज हुआ था। उनके जाने के बाद गजल की दूनिया बेरंग और गजल गूंगी हो गयी।

गजल को अपनी मखमली आवाज से दिलकश बनाने वाले जगजीत सिंह के जाने से पूरा भारत सिसक उठा। ऐसा ही उसे तब भी लगा था हिंदुस्तान के प्रख्यात शास्त्रीय गायक पंडित भीमसेन जोशी ने जिंदगी को नमस्कार किया था। वो भी लंबे समय से बीमार चल रहे थे। 89 वर्षीय गायक भीमसेन जोशी ने ना केवल हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत को भारत के पटल पर बल्कि विश्वस्तर पर ख्याती दिलायी। भारत कभी भी अपने होनहार सपूत पंडित भीमसेन जोशी को भूल नहीं पायेगा।

इसी साल असम सम्राट भूपेन हजारिका ने भी जिंदगी का दामन छोड़ दिया। 5 नवंबर 2011 को भूपेन ने अंतिम सांस ली। असम लोक संगीत को नई ऊंचाई और पहचान देने वाले भूपेन साहब के चाहने वाले पूरे भारत में थे इस बात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि चाहने वालों के चलते इनके अंतिम संस्कार की अवधि को इनके परिवार वालों बढ़ाना पड़ा था।

प्रख्यात गायिका सुचित्रा मित्रा ने भी इस साल की जनवरी में जिंदगी को अलविदा कह दिया था। अभिनेता अनिल कपूर और संजय कपूर के पिता निर्माता सुरेन्द्र कपूर का भी देहान्त इस साल हो गया।

इसी साल 9 जून को लोकप्रिय चित्रकार और कला जगत के पूजारी एम एफ हुसैन ने भी लाईफ को गुडबॉय कर दिया। 95 साल के चित्रकार से कला जगत सूना हो गया जिसकी भरपाई कोई नहीं कर सकता है। विंडबना यह रही कि एम एफ हुसैन को मरने के बाद भी भारत को मिट्टी नसीब नहीं हुई। उनकी मृत्यु तो लंदन में हुई ही उनका अंतिम संस्कार भी लंदन में हुआ। कई विवादास्पद पेटिंग्स बनाने वाले हुसैन साहब ने गजगामिनी और मिनाक्षी जैसी फिल्में भी बनायी थी।

English summary
The people in the Hindi film industry might be happy for they have delivered several hit movies is 2011, but they are yet to recover from the death of veteran Bollywood actors like Shammi Kapoor, Dev Anand, Navin Nischol and Goga Kapoor.
Please Wait while comments are loading...