»   » "उम्रदराज हिरोइन के लिए नहीं लिखे जाते अच्छे रोल"

"उम्रदराज हिरोइन के लिए नहीं लिखे जाते अच्छे रोल"

Written By: Shweta
Subscribe to Filmibeat Hindi

गुजरे जमाने की मशहूर एक्ट्रेस और सीबीएफसी की हेड रह चुकी शर्मिला टैगोर ने कहा है कि "बड़े उम्र के एक्टर्स के लिए तो स्क्रिप्ट लिखी जाती हैं, लेकिन ऐसा बड़ी उम्र की एक्ट्रेसेज के साथ नहीं होत है।" ये बातें उन्होंने आईएएनएस को दिए एक इंटरव्यू में कही हैं।

72 वर्षीय शर्मिला टैगोर ने कहा है कि इंडस्ट्री में बड़े उम्र के एक्टर के लिए रोल लिखे जाते हैं लेकिन उनके लिए हिरोइन बिल्कुल यंग खोजी जाती है क्योंकि सबको लगता है कि फिल्म तो हीरो चलाएगा हिरोइन नहीं।उम्रदराज एक्ट्रेसेस को  ध्यान में रखते हुए बॉलीवुड में बहुत कम फिल्में आती हैं। जबकि उनकी उम्र के मेल एक्टर्स के लिए इतने सारे जरूरी रोल लिखे जाते हैं।

there-are-fewer-roles-are-being-writtren-for-elderly-heroines-says-sharmila-tagore

शर्मिला टैगोर ने ये भी कहा कि "मेरे समय में 30-40 साल की महिलाओं के लिए रोल लिखे जाते थे। उम्र बढ़ने के साथ कैरेक्टर वैल्यू भी बढ़ती थी और सबसे अच्छी बात थी कि हर उम्र में बताने के लिए काफी दिलचस्प बातें होती थी लेकिन अब ऐसा नहीं है।" 

Taimur Ali Khan VISITS PATAUDI HOUSE with Sharmila Tagore | FilmiBeat

शर्मिला टैगोर ने सत्यजीत रे की फिल्म अपूर संसार से फिल्मी दुनिया में कदम रखा था और इसके बाद उन्होंने बॉलीवुड में कदम रखा और कश्मीर की कली, अराधना, एन इवनिंग इन पेरिस सहित कई अच्छी फिल्में की।इस साल MAMI फिल्म फेस्टिवल में शर्मिला टैगोर को 'एक्सिलेंस इन सिनेमा' के अवार्ड से नवाजा जाएगा।

English summary
There are fewer roles are being written for elderly heroines says Sharmila Tagore.
Please Wait while comments are loading...

रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi