For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    सुशांत सिंह राजपूत की भांजी ने तोड़ी चुप्पी - मेरी मासी या हम संदीप सिंह को नहीं जानते, बस कीजिए

    |

    सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद उनका पूरा परिवार लगातार उनके लिए इंसाफ मांग रहा है। इस घटना को लेकर दो गुट बन चुके हैं, पहला जो मुंबई पुलिस का साथ दे रहा है और दूसरा जो मुंबई पुलिस के खिलाफ है। और जो मुंबई पुलिस का साथ दे रहे हैं वो सुशांत के परिवार पर इल्ज़ाम लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

    सुशांत सिंह राजपूत के परिवार पर लगातार अटैक किया जा रहा है। कभी उनके पिता की दूसरी शादी के बाद सुशांत और पिता के संबंधों में दूरी की बात कही जा रही है तो कभी कुछ और।

    सुशांत की बहन प्रियंका पर भी काफी इल्ज़ाम लगाए गए हैं। वहीं उनकी बहन मीतू सिंह को भी टार्गेट किया गया और कहा गया कि मीतू सिंह उतनी भी टूटी हुई नहीं दिख रही थीं और कैमरे के सामने अपने बाल भी ठीक कर रही थीं।

    अब सुशांत सिंह राजपूत की भांजी मल्लिका ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट पर उन सब लोगों को एक बार में जवाब दिया है। उन्होंने लिखा, मैं अपनी मासी को लेकर फैली कुछ गलतफहमियां साफ करना चाहूंगी -

    Emotional Numbing

    Emotional Numbing

    अगर आपने कभी साईकोलॉजी पढ़ी हो तो आपको भी सदमे से हुए क्षुब्ध व्यक्ति के भाव प्रकट ना करने के बारे में सुना होगा। अंग्रेज़ी में इसे emotional numbing कहते हैं। आदमी सदमे से शून्य हो जाता है।

    लगा था सदमा

    लगा था सदमा

    मैं साईकोलॉजी में डिग्री की पढ़ाई कर रही हूं। मेरी मासी के साथ भी ऐसा ही हुआ। उसने सब कुछ महसूस करना बंद कर दिया। वो विश्वास ही नहीं करना चाहती थी कि ऐसा कुछ हुआ है। वो पहली इंसान थीं जिन्हें ये खबर मिली थी। उन्होंने सारा सदमा सबसे पहले सहा।

    वकील की सलाह

    वकील की सलाह

    उनसे वकील ने कहा था कि कुछ दिन तक खुद को संभालें और देखें कि जांच किस तरह आगे बढ़ती है। वो वहां पहुंचते ही बेहोश हो गई थीं। मामू के पास अपार्टमेंट में बहुत सारा कीमती सामान था इसलिए मासी को ध्यान रखने को कहा गया था। उन्हें सतर्क रहना था।

    स्टील की इंसान

    स्टील की इंसान

    मेरी मासी वो इंसान थीं जिन्होंने मामू को बचपन में बाईक चलाना और क्रिकेट खेलना सिखाया था। मेरी मीतू मासी के अंदर स्टील की जान है। वो अपने सारे भाई बहनों में सबसे मज़बूत हैं। उस समय हमें कुछ नहीं समझ आ रहा था कि क्या हो रहा है। हमने अधिकारियों पर भरोसा किया। जैसा कि एक लोकतांत्रिक देश में हर कोई करता है।

    थी बेटी की चिंता

    थी बेटी की चिंता

    वो बार बार अपना फोन चेक कर रही थीं क्योंकि उनकी बेटी और मेरी छोटी बहन को संभालना मुश्किल हो रहा था। वो लगातार रोए जा रही थी और चुप ही नहीं हो रही थी। इसलिए वो अपनी बेटी के लिए मज़बूत बनने की कोशिश कर रही थीं। वो हम सब के लिए मज़बूत बनने की कोशिश कर रही थीं।

    हो रही थीं परेशान

    हो रही थीं परेशान

    वो इस तरह की इंसान हैं जो हमेशा दूसरों की चिंता करता है और अपने बारे में बिल्कुल भूल जाता है। वो अपने बाल ठीक कर रही थीं क्योंकि उनके बार उन्हें परेशान कर रहे थे। उनकी आंखों पर आ रहे थे। कैमरे के फ्लैश उन्हें परेशान कर रहे थे। हम लोग इस तरह की अटेंशन के आदी नहीं हैं।

    हम नहीं जानते

    हम नहीं जानते

    हम में से कोई नहीं जानता है कि संदीप सिंह कौन है। मीतू मासी ने जब मामू का शरीर देखा तो वो बेहोश हो गईं। इसलिए किसी को उनकी मदद करनी थी कि वो ढंग से चल पाएं। और संदीप सिंह वहां पर इत्तेफाक से मौजूद थे।

    सब एक दूसरे के लिए

    सब एक दूसरे के लिए

    मैं वापस दोहराती हूं, हम में से कोई संदीप सिंह को नहीं जानता है। मेरी मासी की तरफ उठी कोई भी उंगली मेरे नाना - नानी की परवरिश पर उंगली उठाती है। उन पांचों भाई बहन में बहुत प्यार है। वो सब एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं और बड़े होते हुए मैंने वो प्यार देखा है।

    परिवार को अकेला छोड़ दीजिए

    परिवार को अकेला छोड़ दीजिए

    मेरी नानी मां के जाने के बाद मेरे मामू की सारी बहनों ने उन पर लाड़ प्यार बरसाया है। और मेरी मीतू मासी सबसे मज़बूत है। प्लीज़ हमारे परिवार के खिलाफ ये कैंपेन बंद कर दीजिए। हम सब इस समय से बहुत मुश्किल से मज़बूत होकर लड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

    (यदि आपको या आपके जानकारी में किसी व्यक्ति को मदद की जरूरत हो, तो अपने नजदीकी मानसिक स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क करें। हेल्पलाइन- COOJ मेंटल हेल्थ फाउंडेशन: 0832-2252525, स्नेहा - 044-24640050/ 044-24640060, परिवर्तन: +91 7676 602 602 )

    English summary
    Sushant Singh Rajput’s neice Mallika slams trolls who targetted his sister Meetu Singh for adjusting her hair on camera while grieving.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X