For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    सुशांत सिंह राजपूत केस- रामगोपाल वर्मा ने करण जौहर के सपोर्ट में धड़ाधड़ कर डाले 20 ट्वीट

    |

    सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद बॉलीवुड में एक बार फिर नेपोटिज्म का मुद्दा गर्मा गया है। इस केस में खासकर करण जौहर पर निशाना साधा जा रहा है। सुशांत पिछले कुछ समय से डिप्रेशन में थे और लोगों का कहना है कि बॉलीवुड में फैले नेपोटिज्म की वजह से सुशांत की यह हालत थी। बॉलीवुड के कुछ कलाकारों ने भी सामने आप बॉलीवुड में फैले नेपोटिज्म के जगह पर बात की है।

    लेकिन अब निर्माता- निर्देशक राम गोपाल वर्मा ने करण जौहर के पक्ष में अपनी बात रखी है। करण जौहर को सपोर्ट करते हुए राम गोपाल वर्मा ने कहा कि लोग जलते हैं इसीलिए टार्गेट कर रहे हैं। नेपोटिज्म हर जगह है।

    रामगोपाल वर्मा ने इस मुद्दे पर कम से कम 20 ट्विट किये हैं और नेपोटिज्म और करण जौहर के समर्थन में बात रखी है। सबसे पहले सुशांत की आत्महत्या को बेहद शॉकिंग बताया और कहा कि सुशांत सिंह राजपूत का निधन उतना ही ज्यादा त्रासदी भरा और हैरानी भरा है जितना हॉलीवुड के सुपरस्टार्स जेम्स डीन और हीथ लेजर की मौत।

    करण जौहर की मर्जी वह किसके साथ काम करे

    करण जौहर की मर्जी वह किसके साथ काम करे

    राम गोपाल वर्मा ने लिखा कि- "जो भी हुआ उसके लिए करण जौहर को दोषी ठहराना गलत है। यह दिखाता है कि लोगों में फिल्म इंडस्ट्री को लेकर समझ का अभाव है। मान लेते हैं कि करण को सुशांत से परेशानी थी.. तो भी किसी भी दूसरे फिल्ममेकर की तरह ही यह करण की मर्जी है कि वो किसके साथ काम करना चाहते हैं।

    जो है, उसमें खुश रहना आना चाहिए

    जो है, उसमें खुश रहना आना चाहिए

    "12 साल इंडस्ट्री में बिताने के बाद, दौलत और शोहरत हासिल करने के बाद भी यदि सुशांत अपनी जान ले लेता है क्योंकि उसे बाहरी जैसा फील कराया जाता है तो फिर हर दिन उन 100 एक्टर्स के सुसाइड को भी ठीक ठहराया जा सकता है जो सुशांत के आसपास भी नहीं पहुंच पाए। आपके पास जो है, अगर आप उससे खुश नहीं है तो आप कभी भी कुछ भी होने के बावजूद भी खुश नहीं रह पाएंगे।"

    अमिताभ बच्चन भी बाहरी थे

    अमिताभ बच्चन भी बाहरी थे

    उन्होंने आगे लिखा- "फिल्म इंडस्ट्री के सभी insider लोग भी कभी बााहरी हुआ करते थे.. अमिताभ बच्‍चन को ही ले लीजिए, करण जौहर वहां टॉप पर है इसलिए नहीं कि वो इंडस्ट्री से है बल्‍कि इसलिए कि उसकी फिल्‍मों को लाखों लोगों ने देखा है। हम सभी जानते हैं कि जितनी असफलताएं फिल्‍मी परिवारों से आती हैं, उतनी बाहरी परिवारों से।"

    लोग सुशांत से ज्यादा दूसरे एक्टर्स को देख रहे थे

    लोग सुशांत से ज्यादा दूसरे एक्टर्स को देख रहे थे

    "सोशल मीडिया पर जो लोग शोर मचा रहे हैं कि एक सुपर टैलेंटेंड एक्टर के साथ पक्षपात किया गया। सच ये है कि ये ऑडियन्स ही हैं जो सुशांत से ज्यादा बाकी एक्टर्स का काम देख रही थी। करण जौहर ने इन लोगों के सिर पर बंदूक रखकर अपनी फिल्में नहीं दिखवाई हैं।"

    15-20 साल में सुशांत भी इनसाइडर बन जाते

    15-20 साल में सुशांत भी इनसाइडर बन जाते

    राम गोपाल वर्मा ने कहा कि अगले 15- 20 साल में सुशांत इनसाइडर बन जाते तो जब वो भी अपने बेटे को लॉन्च करते और कोई बाहर वाला प्रशांत उनपर (सुशांत पर) आरोप लगाता जैसे इस समय सब करण जौहर पर लगा रहे हैं।

    राम गोपाल ने आगे लिखा, 'यहां कोई इनसाइडर और आउट साइडर नहीं है यह केवल ऑडियंस है जो फैसला करती है कि वो किसे पसंद करती है और किसे नहीं। फिल्मी परिवार कितने भी बड़े क्यों ना हों लेकिन उनके पास कभी इतनी ताकत नहीं हो सकती कि वो दर्शकों को प्रभावित कर सकें।'

    बेचारे सुशांत का सहारा लेकर करण जौहर पर निशाना साथ रहे हैं

    बेचारे सुशांत का सहारा लेकर करण जौहर पर निशाना साथ रहे हैं

    राम गोपाल वर्मा ने लिखा किजो भी लोग करण के खिलाफ जहर उगल रहे हैं। उनमें से आधे लोग ऐसे हैं जिन्हें पता ही नहीं है कि फिल्म इंडस्ट्री कैसे काम करती है और आधे ऐसे लोग हैं जो करण की सफलता से जलते हैं और बेचारे सुशांत की आत्महत्या का सहारा लेकर करण जौहर पर अपनी भड़ास निकाल रहे हैं।

    समाज नेपोटिज्म पर ही चलता है

    समाज नेपोटिज्म पर ही चलता है

    "नेपोटिज्म समाज के ढ़ांचे का हिस्सा है और इसके बिना समाज गिर जाएगा। यह सामान्य इंसान का नेचर है कि वह अपने बच्चे को ज्यादा चाहता है और उसके लिए कुछ करना चाहता है। शाहरुख खान अपने बेटे आर्यन को लांच नहीं करेंगे तो किसे करेंगे।"

    करोड़ों मजदूरों को फिर रोज मरना चाहिए

    करोड़ों मजदूरों को फिर रोज मरना चाहिए

    राम गोपाल वर्मा लिखा- करण जौहर, एकता कपूर या आदित्य चोपड़ा पर भड़ास निकालना गलत है। जैसा कि सोशल मीडिया पर चल रहा है, यदि सुशांत ने यह कदम इसीलिए उठाया क्योंकि उसे बाहरी फील कराया गया, पार्टी में नहीं बुलाया गया। फिर तो उन करोड़ों प्रवासी मजदूरों को कई मौत मरना चाहिए, जो पैदल ही चले जा रहे हैं।

    अभिनव कश्यप पर भड़के अरबाज खान और सलीम खान, दिया कड़ा जवाब- खान परिवार पर लगाए थे गंभीर आरोप

    (यदि आपको या आपके जानकारी में किसी व्यक्ति को मदद की जरूरत हो, तो अपने नजदीकी मानसिक स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क करें। हेल्पलाइन- COOJ मेंटल हेल्थ फाउंडेशन: 0832-2252525, स्नेहा - 044-24640050/ 044-24640060, परिवर्तन: +91 7676 602 602 )

    English summary
    Sushant Singh Rajput case: Ram Gopal Varma supports Karan Johar, calls him bigger victim and slammed those criticising Karan Johar for promoting nepotism.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X