For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    हम दोनों ने अपना वादा तोड़ दिया मां, जब तक तुम थीं, मैं था- सुशांत सिंह राजपूत की दर्द भरी कविता

    |

    सुशांत सिंंह राजपूत का आज जन्मदिन है। ऐसे में सुशांत का परिवार और उनके फैंस एक्टर को सुशांत डे के नाम से आज के लिए याद कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर सुशांत की पुरानी तस्वीरों के साथ उनकी यादें ताजा की जा रही है। दुख है कि बीते साल सुशांत का निधन हो गया।

    आने वाले हर जन्मदिन के लिए फैंस के पास केवल उनकी फिल्में, पुराने पोस्ट और इंटरव्यू मौजूद हैं। इससे सभी वाकिफ हैं कि सुशांत अपनी मां के बेहद करीब रहे हैं। हालांकि सुशांत की मां अपने बेटे को कभी एक्टर बनते हुए नहीं देख पाईं। साल 2002 में सुशांत ने अपनी मां को खो दिया था।

    अपनी याद और जीवन में सुशांत ने मां को हमेशा जिंदा रखा। सुशांत के अधिकांश सोशल मीडिया पोस्ट उनकी मां उषा सिंह को समर्पित होते थे। यहां तक कि इस दुनिया से जाने से पहले सुशांत सिंह राजपूत का आखिरी पोस्ट भी उनकी मां के लिए था। जहां उन्होंने अपनी मां के लिए एक ऐसी कविता लिखी, जो भावुक कर देती है। सुशांत के निधन के बाद उनका ये पोस्ट काफी चर्चा में रहा था। आज फिर से मां की याद में लिखी गई सुशांत की इस याद को पढ़ा जा रहा है।

    सुशांत ने मां की तस्वीर शेयर कर लिखा था

    सुशांत ने मां की तस्वीर शेयर कर लिखा था

    सुशांत ने मां की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा था कि आंंसुओं से धुंधलाता अतीत धुंधलाता हुआ। मुस्कुराते हुए और एक क्षणभंगुर जीवन को संजोने वाले सपनों में दोनों के बीच बातचीत। ये सुशांत का आखिरी इंस्टाग्राम पोस्ट था।

    सुशांत ने लिखा हम दोनों झूठे थे मां

    सुशांत ने लिखा हम दोनों झूठे थे मां

    सुशांत सिंह राजपूत ने सोशल मीडिया पर अपनी मां के लिए एक कविता काफी साल पहले लिखी थी- मां क्या तुम्हें याद है, तुमने मुझसे वादा किया था कि तुम हमेशा मेरे साथ रहोगी और मैंने तुमसे वादा किया था, कि मैं हमेशा हंसता-मुस्कुराता रहूंगा, हालात चाहे कैसे भी क्यों न हो? ऐसा लग रहा है जैसे हम दोनों ही झूठे थे मां।

    सुशांत ने लिखा मां थी तो मैं था

    सुशांत ने लिखा मां थी तो मैं था

    सुशांत ने मां की तस्वीर और लिखी हुई कविता भी एक दफा शेयर की थी। जहां उन्होंने लिखा था कि जब तक तुम थीं, मैं था। अब बस आपकी यादों मं मैं जिंदा हूं। किसी परछाईं की तरह बस धुधंली सी। यहां समय रुक सा गया है। यह खूबसूरत है, यह सहा के लिए है।

    मां के निधन के पहले का किस्सा

    मां के निधन के पहले का किस्सा

    मीडिया रिपोर्ट अनुसार मां के साथ अपनी आखिरी बात पर सुशांत ने ये बताया था कि मेरी मम्मी कहती थी कि कुछ भी कर लो पर मेरे साथ रहो। अपने देहांत के एक रात पहले उन्होंने मुझे देर रात कॅाल किया था।

    सुशांत ने बोला मां ने बुलाया था

    सुशांत ने बोला मां ने बुलाया था

    सुशांत ने बताया था कि मैंने उनसे पूछा कि क्या हो गया। उन्होंने मुझसे कहा कि क्या तुम आ सकते हो? मैंने कहा मेरे प्रीबोर्ड एग्जाम होने वाले हैं। फिर उन्होंने मुझसे कहा कि अपना ख्याल रखना। वो दिन 12 दिसंबर था। 13 दिसंबर की सुबह उनका निधन हो गया।

    मां के करीब सुशांत

    मां के करीब सुशांत

    आपको बता दें कि सुशांत की मां का निधन 2002 में हुआ था। सुशांत की उम्र तब काफी कम थी। कई मौकों पर सुशांत ने ये बताया है कि वह अपनी मां के काफी करीब थे और उनके निधन के बाद उनकी जिंदगी एक खालीपन आ गया है।

    सुशांत सिंह राजपूत जन्मदिन: परिवार ने किया बेटे का अधूरा सपना पूरा, याद में बहन का भावुक नोट

    English summary
    Sushant Singh Rajput birthday special when late actor talk and writes about mother
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X