For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    दिशा सालियान केस पर सुुप्रीम कोर्ट ने की सुनवाई, केस सीबीआई को ट्रांसफर करने पर दी सलाह

    |

    सुप्रीम कोर्ट ने दिशा सालियान मौत मामले पर एक अपील पर सुनवाई की। इस अपील में दिशा सालियान की मौत का केस CBI को ट्रांसफर करने की मांग की गई थी। सुप्रीम कोर्ट ने याचिका पर सुनवाई करने से मना करते हुए याचिका करने वाले वकील को इस मामले पर बॉम्बे हाईकोर्ट में अपील करने की सलाह दी है।

    गौरतलब है कि दिशा सालियान सुशांत सिंह राजपूत की मैनेजर थीं और अगर मुंबई पुलिस के बयान की मानें तो दिशा सालियान ने 9 जून को आत्महत्या कर ली थी।

    उनकी आत्महत्या का सुशांत सिंह राजपूत पर काफी गहरा असर पड़ा था और वो अपने फ्लैटमेट सिद्धार्थ पिठानी से कह चुके थे कि दिशा के मामले की हर एक खबर, न्यूज़, रिपोर्ट उन तक पहुंचाए। इतना ही नहीं दिशा की मौत की खबर सुनकर सुशांत बेहोश भी हो गए थे।

    उन्होंने इसके बाद रिया को लगातार कॉल किया था लेकिन रिया ने सुशांत का फोन नहीं उठाया। वहीं दिशा के केस में रिपब्लिक टीवी ने एक स्टिंग ऑपरेशन का दावा किया था जिससे कई बातें सामने आई थीं।

    दिशा सालियान केस पर हुआ था स्टिंग

    दिशा सालियान केस पर हुआ था स्टिंग

    दिशा सालियान के दोस्तों ने जब देखा कि वो बिल्डिंग से नीचे कूद गईं हैं तो दोस्त नीचे पहुंचे। वॉचमैन तब तक पुलिस को फोन कर चुका था। लेकिन पुलिस के आने से पहले, बॉडी की जगह बदल दी गई थी। ऐसा रिपब्लिक टीवी की एक रिपोर्ट का दावा था।

    क्या है कनेक्शन?

    क्या है कनेक्शन?

    दिशा सालियान की मौत को पुलिस Accidental death कह चुकी है। लेकिन सुप्रीम कोर्ट के सुशांत मामले पर मुंबई पुलिस को मिली डेडलाइन के बाद ही मुंबई पुलिस ने आखिरकार इस मामले की जांच शुरू कर दी। ये जांच मीडिया दबाव के बाद शुरू हुई जहां ये माना जा रहा था कि दिशा सालियान और सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बीच कोई कनेक्शन है।

     दिशा की पार्टी के सदस्य

    दिशा की पार्टी के सदस्य

    रिपब्लिक टीवी की इसी रिपोर्ट के अनुसार ये खबर पक्की थी कि मौत से एक रात पहले दिशा सालियान के मंगेतर के घर पार्टी चल रही थी। लेकिन दिलचस्प ये है कि इस पार्टी में कौन कौन मौजूद था इसकी जानकारी पुलिस ने दिशा सालियान की मौत के 60 दिन बाद इकट्ठा करना शुरू की थी।

    नहीं हुई कोई पूछताछ

    नहीं हुई कोई पूछताछ

    दिशा की मौत के बाद पुलिस ने केवल दो ही लोगों के बयान दर्ज किए। दिशा के मंगेतर रोहन राय और बिल्डिंग के वॉचमैन के। पार्टी में मौजूद किसी इंसान का बयान दर्ज नहीं किया गया था और पुलिस ने कोई पूछचाछ करना भी ज़रूरी नहीं समझा।

    सीसीटीवी फुटेज पर सवाल

    सीसीटीवी फुटेज पर सवाल

    इससे पहले कई बयान में कहा गया कि दिशा सालियान ने अपनी बिल्डिंग से कूद कर जान दे दी। ये घटना सामने वाली बिल्डिंग की सीसीटीवी में रिकॉर्ड हुई। लेकिन रिपब्लिक टीवी के सवाल उठाने पर कि सीसीटीवी का स्थिर कैमरा किसी का गिरना ऊपर से नीचे तक कैसे रिकॉर्ड कर सकता है पुलिस ने एक बार फिर जवाब देने में आनाकानी की थी।

    बदल दी गई थी टीम

    बदल दी गई थी टीम

    दिशा सालियान केस के संबंध में मुंबई पुलिस ने एक प्रेस नोट जारी किया था जिसके मुताबिक कहा गया कि अगर किसी को दिशा सालियान की मौत से जुड़ी कोई भी जानकारी है तो वो आकर पुलिस को बताए। इस जांच के लिए एक नई पुलिस टीम का गठन किया गया था।

    गार्ड के हेर फेर बयान

    गार्ड के हेर फेर बयान

    पुलिस ने केवल सिक्योरिटी और हाउसिंग स्टाफ से पूछताछ की थी। वहीं रिपब्लिक टीवी के स्टिंग ऑपरेशन की मानें तो सिक्योरिटी गार्ड ने माना कि रोहन मौके से जल्द से जल्द निकलना चाहते थे।

    बयानों में भी हेराफेरी

    बयानों में भी हेराफेरी

    मुंबई पुलिस ने अपने बयान में कहा था कि मुंबई पुलिस तुरंत ही मौका - ए - वारदात पर पहुंच गई थी और उन्होंने शव का पंचनामा किया था। जबकि सिक्योरिटी गार्ड का कहना था कि मुंबई पुलिस बॉडी के अस्पताल ले जाने के बाद मौके पर पहुंची थी।

    पार्टी कितनी बड़ी थी?

    पार्टी कितनी बड़ी थी?

    एक पड़ोसी ने रिपब्लिक टीवी के स्टिंग में कुबूल किया कि मैंने अचानक से बहुत सारी गाड़ियों को सोसाइटी से बाहर जाते देखा। अगर पुलिस वहां थी, तो इतने लोगों को सोसाइटी से बाहर कैसे जाने दिया गया? पड़ोसियों का कहना था कि वहां एक बड़ी पार्टी हो रही थी।

    इतनी बड़ी गलती

    इतनी बड़ी गलती

    इसी स्टिंग ऑपरेशन में एक पड़ोसी ने ये भी कहा था कि उन्होंने सुबह खून के धब्बे ज़मीन पर देखे। पुलिस ने ना ही कंपाउंड सील किया था और ना ही दिशा के गिरने की जगह को सील किया गया था।

    English summary
    Supreme Court rejected a plea to transfer Disha Salian case to CBI and suggested the party to appeal to highcourt.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X