For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    इस सुपरस्टार की वजह से 100 प्रतिशत ऑक्यूपेंसी के साथ खुले थियेटर, अब होगा बैक टू बैक फिल्मों धमाका

    |

    हाल में ही भारत सरकार ने एंटरटेमेंट इंडस्ट्री के लिए अहम राहत दी है। दरअसल कई महीनों के बाद अब देशभर के थिएटर्स 100 फीसदी की क्षमता के साथ खुल सकते हैं। वैसे तो कुछ दिन पहले ही सिनेमाघरों को खोलने की इजाजत दी गई थी लेकिन उस दौरान 50 प्रतिशत ऑक्यूपेंसी के साथ ये गाइडलाइन जारी की गई थी। इस नई गाइडलाइन के सामने आने के बाद से ही फिल्ममेकर्स अपनी फिल्मों की रिलीज डेट को लेकर नई रणनीति बनानी भी शुरू कर दी है।

    इस बीच सनी देओल का नाम खूब जोरों शोरों से लिया जा रहा है। दरअसल 100 प्रतिशत ऑक्यूपेंसी के साथ जो थिएटर्स खुले हैं उसमें अभिनेता से सांसद बने सनी देओल की अहम भूमिका रही है। वो ऐसे, क्योंकि कुछ दिन पहले ही फिल्म इंडस्ट्री का एक डेलिगन वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मिला था। इस दौरान सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़केर और वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर भी थी। इस दौरान सनी देओल ने भारत सरकार से अपील की कि वह 50 फीसदी से ज्यादा क्षमता के साथ थिएटर्स खोलने की इजाजत दें। सनी देओल ने ही इस डेलिगेशन का नेतृत्व किया।

    बॉलीवुड हंगामा की एक रिपोर्ट में जिक्र किया गया है कि इस मीटिंग में सनी देओल ने फिल्म इंडस्ट्री ने जो पिछले सालभर में नुकसान झेला है, व रोजगार जैसे तमाम मुद्दों को मंत्रियों के सामने रखा, जिसे उन्होंने बहुत धैर्य के साथ सुना भी गया।

    सनी देओल की मीटिंग के कुछ घंटों के बाद बड़ा ऐलान

    सनी देओल की मीटिंग के कुछ घंटों के बाद बड़ा ऐलान

    बताया जा रहा है कि सनी देओल की अध्यक्षता में हुई इस मीटिंग का असर ये हुआ कि मीटिंग के 72 घंटों के भीतर ही नई गाइडलाइन सामने आई और थिएटर्स को एक बार फिर पुराने तरीके से 100 प्रतिशत ऑक्यूपेंसी के साथ खोलने की इजाजत मिल गई।

     पिछले कुछ महीनों में हुआ इंडस्ट्री को करोड़ों का नुकसान

    पिछले कुछ महीनों में हुआ इंडस्ट्री को करोड़ों का नुकसान

    मार्च में कोरोना ने भारत में पैर पसारना शुरू कर दिया। जिसके चलते लॉकडाउन लगा और देशभर के सिनेमाघरों को बंद कर दिया गया। इसका नतीजा ये हुआ कि मनोरंजन सेक्टर को करोड़ों का नुकसान हुआ।

    मनोरंजन सेक्टर में रोजगार पर संकट मंडराया

    मनोरंजन सेक्टर में रोजगार पर संकट मंडराया

    थिएटर्स, शूटिंग व अन्य काम पर तालाबंदी लग गई। इसके साथ दिहाड़ी पर काम करने वाले ढेरों वर्कर बेरोजगार हो गए तो कई महीनों तक कुछ काम न होने की वजह से इम्पलॉय पर भी नौकरी का खतरा मंडराने लगा।

    50 प्रतिशत ऑक्यूपेंसी में नहीं हुई बड़ी फिल्में रिलीज

    50 प्रतिशत ऑक्यूपेंसी में नहीं हुई बड़ी फिल्में रिलीज

    सरकार ने न्यू नॉर्मल में सिनेमाघरों को 50 फीसदी सीटों के साथ खोलने की इजाजत दी। लेकिन इस पॉलिसी में कोई बड़ा अभिनेता या फिल्ममेकर अपनी फिल्म रिलीज नहीं करना चाहता था। इससे थिएटर्स की हालत सुधरी नहीं बल्कि टस से मस बनी रही।

    थिएटर्स ने मिलकर कर डाली थी सुपरस्टार से अपील

    थिएटर्स ने मिलकर कर डाली थी सुपरस्टार से अपील

    कुछ दिन पहले देशभर के थिएटर मालिकों ने सलमान खान से उनकी फिल्म राधे को सिनेमाघरों में रिलीज करने की गुहार लगाई थी। डिस्ट्रिब्यूर्स व थिएटर मालिकों ने हवाला दिया था कि पिछले कई महीनों से सिनेमाघर बंद रहे इससे तमाम लोगों की रोजी रोटी पर असर हुआ। लोग कोरोना के बाद सिनेमाघरों में आने से कतरा रहे हैं। अगर वह अपनी फिल्म को थिएटर्स में रिलीज करेंगे तो हालत सुधर सकती है। इस अपील को सलमान खान ने माना भी।

    अब बैक टू बैक फिल्मों का धमाका

    अब बैक टू बैक फिल्मों का धमाका

    इस गुड न्यूज के बाद कई बैक टू बैक फिल्में बॉक्स ऑफिस पर धमाका करने वाली है। आरआरआर, सूर्यवंशी, 83, मैदान, धाकड़ और राधे जैसी कई फिल्में कतार में हैं।

    English summary
    Sunny deol is important role in new guidelines issued for releasing films with 100 percent theatre occupancy
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X