For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    स्‍पीड बॉलीवुड में सर्किट का किरदार

    By Ians
    |

    मुम्बई। बॉलीवुड के खान्‍स की बातें तो हर रोज होती हैं, लेकिन कई खबरें ऐसी भी होती हैं, जो भीड़ में खो जाती हैं। हम उन्‍हीं खबरों को आपके सामने लेकर आये हैं स्‍पीड बॉलीवुड में। इन फटाफट खबरों से आप हर रोज बॉलीवुड समाचार से अपडेट रह सकते हैं। तो चलिये शुरुआत करते हैं अरशद वारसी से, जो कहते हैं कि सर्किट जैसा किरदार दोबारा कभी नहीं मिला।

    बॉलीवुड अभिनेता अरशद वारसी कहते हैं कि उन्होंने फिल्म 'मुन्नाभाई एमबीबीएस' में जिस तरह सर्किट का किरदार निभाया, वैसा इस फिल्म की श्रृंखला से बाहर कहीं नहीं निभाया। ऐसा करके वह सर्किट की भूमिका का अनादर नहीं करना चाहते थे। वारसी को 'मुन्नाभाई' में सर्किट की भूमिका ने काफी लोकप्रियता दिलाई थी।वारसी ने बताया कि विज्ञापन फिल्मों में सर्किट का किरदार करने लिए बहुत से प्रस्ताव मिले थे पर उन्होंने किसी के लिए हामी नहीं भरी।

    स्‍पीड बॉलीवुड में रविवार की बड़ी खबरें

    उन्‍होंने कहा, "मैंने वह भूमिका फिल्म के बाहर कभी नहीं दोहराई। बार बार भूमिका को दोहराने से इसकी महत्ता और पवित्रता खो जाती। यदि मैं बाहर कहीं सर्किट के रूप में नजर आता तो 'मुन्नाभाई' फिर से नहीं बनती।" वारसी काफी सालों से फिल्म जगत का सक्रिय हिस्सा हैं। वह भविष्य में फिल्म निर्देशन करने की इच्छा रखते हैं। उन्होंने कहा, "मैं फिल्म निर्देशन में हाथ आजमाना पसंद करूंगा लेकिन अभी मेरे पास इसके लिए वक्त नहीं है।"

    स्‍लाइड में देखें स्‍पीड बॉलीवुड जहां हर अपडेट पर मिलेगी नई खबर

    नई हीरोईन की नई बातें

    नई हीरोईन की नई बातें

    नई दिल्ली। अभिनेत्री कीर्ति कुलहारी का कहना है कि मौजूदा समय में दर्शकों के सामने नई शैली की फिल्में पेश करना काफी चुनौतीपूर्ण है क्योंकि आज के दर्शक औसत दर्जे की फिल्मों को नकार देते हैं। कीर्ति जल्द ही फिल्म 'राइज ऑफ द जॉम्बी' में नजर आने वाली हैं। कीर्ति ने बताया, "आज के युवा बहुत तेज हैं और सिनेमा जगत के बारे में काफी जानकारी रखते हैं और इसलिए वे अच्छी फिल्में देखने की मंशा रखते हैं। यदि फिल्म या उसकी सामग्री औसत दर्जे की हो तो फिल्म को तुरंत नकार दिया जाता है।"

    'राइज ऑफ द जॉम्बी' नील पार्कर नामक एक लड़के की कहानी है। नील एक वन्यजीव फोटोग्राफर है और वन्यजीवन के प्रति उसमें अधिक जुनून है। इन सब से उनकी निजी जिंदगी प्रभावित होती है और फिल्म में कई रोचक मोड़ आते हैं। लूक केनी और देवकी सिंह द्वारा निर्देशित फिल्म भारत की पहली जॉम्बी फिल्म है।

    इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

    रामलीला के सेट पर दुर्घटना

    रामलीला के सेट पर दुर्घटना

    मुम्बई। सिनेमेटोग्राफर रवि वर्मन फिल्म 'राम लीला' के सेट पर चोटिल हो गए हैं। वर्मन ने भारत की तरफ से ऑस्कर के लिए नामित फिल्म 'बर्फी' में भी सिनेमोटोग्राफी की थी, जिसे दर्शकों ने खूब सराहा था। फिल्म के सेट पर वर्मन का हाथ टूट जाने से फिल्म के भविष्य पर भी सवालिया निशान लग गया है। संजय लीला भंसाली निर्देशित इस फिल्म में रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण ने मुख्य भूमिका निभाई है।

    फिल्म निर्माण दल के करीबी सूत्र ने बताया, "भंसाली का कहना था कि हमें जल्द ही बाकी दृश्यों की शूटिंग पूरी करनी होगी। वर्मन हालांकि नहीं चाहते थे कि दीपिका और रणवीर की पहले से तय तारीखेंव्यर्थ हो जाएं। इसलिए उन्होंने अकेले ही संघर्ष किया। लेकिन चोटिल हाथ से उन्हें कैमरे के साथ काम करने में परेशानी हो रही थी। भंसाली ने बाकी दृश्यों की शूटिंग अप्रैल तक स्थगित कर दी है।" कहा जा रहा है कि सिर्फ दो दिनों की शूटिंग बची होने की वजह से निर्माता को ज्यादा नुकसान नहीं उठाना पड़ा।

    इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

    क्‍या कहती हैं कृतिका

    क्‍या कहती हैं कृतिका

    मुम्बई। टेलीविजन धारावाहिक 'उतरन' के एक किरदार के लिए बाल मुंडवाने वाली अभिनेत्री कृतिका देसाई खान का कहना है कि उन्हें अपने नए किरदार के लिए नया प्रयोग करने पर कोई पछतावा नहीं है। विष्णु की मां एकादिश का किरदार निभा रहीं कृतिका ने कहा, "पिछले कुछ वर्षो से जब मैं चरित्र अभिनेत्री का किरदार कर रही हूं.. कोई फर्क नहीं पड़ता मैं कैसी दिखती हूं। मैं प्रयोग के तौर पर मोटे होने, गंजे होने और कुछ भी होने के लिए तैयार हूं।"

    कृतिका एकादिश का किरदार मिलने से काफी उत्साहित हैं। उन्होंने कहा, "मुझे नहीं लगता कि टेलीविजन पर गंजी होने वाली मैं पहली हूं। मैं काफी उत्साहित थी क्योंकि यह अलग रूप था, लेकिन किसी ने मुझे बताया कि यह पहली बार किया जा रहा है, इस बात से मैं और उत्साहित हो गई।" उल्लेखनीय है कि कृतिका 'बुनियाद', 'चंद्रकांता', 'ये मेरी लाइफ है', 'अन्नू की हो गई वाह भाई वाह' और 'राम मिलाए जोड़ी' जैसे धारावाहिकों का हिस्सा रही हैं।

    इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

    फिल्‍म निर्माता ओनिर की सोच

    फिल्‍म निर्माता ओनिर की सोच

    मुंबई। फिल्मकार ओनिर का कहना है कि फिल्म निर्माण के माध्यम से वह लोगों से जुड़ना चाहते हैं।43 वर्षीय ओनिर 'बस एक पल', 'माई ब्रदर निखिल' और 'आई एम' फिल्म के लिए जाने जाते हैं। इन फिल्मों में उन्होंने सामाजिक विषयों को छुआ है और चाहते हैं कि लोग फिल्म देखने के बाद उनके काम के बारे में सोचें। ओनिर ने कहा, "सिनेमा कला का सबसे युवा और शक्तिशाली रूप है। बतौर फिल्मकार मैं फिल्म के जरिए लोगों से जुड़ना चाहता हूं। ऐसा नहीं कि लोग देखें और भूल जाएं।"

    इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

    English summary
    Speed Bollywood brings you the news capsules of Bollywood. Here you can get the glimps from all section of Cinema. Lets starts with Arshad Warsi.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X