For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    आधी रात को सोनू सूद ने की सबसे बड़ी मदद, टीम के साथ मिलकर बचाई 22 कोरोना मरीजों की जान

    |

    बॅालीवुड एक्टर सोनू सूद कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान भी लगातार लोगों की मदद कर रहे हैं। सोनू सूद पिछले साल की तरह इस बार भी मानवता में अपना बेहद अनमोल योगदान कर रहे हैं। जिसकी वजह से उन्हें एक बार फिर से सुपरहीरो बोला जा रहा है। फिलहाल सोनू सूद ने कुछ दिन पहले ही बता दिया है कि उन्हें एक दिन में हजारों मैसेज आ रहे हैं।

    जहां पर लोग अस्पताल में बेड, दवाई और ऑक्‍स‍िजन की भारी कमी से जुड़ा है। वहीं अब ये रिपोर्ट आ रही है कि सोनू सूद ने अपनी टीम के साथ मिलकर 22 लोगों की जान बचाई है।

    कंगना रनौत का बायकॅाट तो बहन रंगोली ने दी धमकी- कोर्ट में मिलते हैं, स्वरा भास्कर ने बोला-डटे रहो दोस्तोंकंगना रनौत का बायकॅाट तो बहन रंगोली ने दी धमकी- कोर्ट में मिलते हैं, स्वरा भास्कर ने बोला-डटे रहो दोस्तों

    बेंगलुरु के अस्पताल में ऑक्‍स‍िजन सिलेंडर उन लोगों तक पहुंचाया। सोनू सूद ने इस खबर को सही ठहराते हुए ये लिखा है कि उन्हें अभी हजारों जान बचानी है।

    बेंगलुरु के एआरएके अस्पताल

    बेंगलुरु के एआरएके अस्पताल

    मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सोनू सूद के पास बेंगलुरु के एआरएके अस्पताल ने मदद के लिए संपर्क किया। जहां पर ऑक्‍स‍िजन की कमी के कारण कई लोगों की जान पर खतरा छाया हुआ था।

    ऑक्‍स‍िजन की कमी से गई जान

    ऑक्‍स‍िजन की कमी से गई जान

    सोनू सूद की टीम को मंगलवार को येलांहका इलाके के इंस्पेक्टर एमआर सत्यनारायण ने फोन किया। जिसके बाद ये बताया कि यहां पर अस्पताल में ऑक्‍स‍िजन की कमी से 2 लोगों की जान जा चुकी है।

    कुछ घंटों में 15 ऑक्‍स‍िजन सिलेंडर

    कुछ घंटों में 15 ऑक्‍स‍िजन सिलेंडर

    इसके बाद सोनू सूद चैरिटी फाउंडेशन की पूरी टीम मिलकर ऑक्‍स‍िजन की व्यवस्था में लग गई। आधी रात को काफी मेहनत और कई लोगों से संपर्क करने के बाद कुछ घंटों में 15 ऑक्‍स‍िजन सिलेंडर पहुंचाया गया।

    देशवासियों की मदद

    देशवासियों की मदद

    मीडिया रिपोर्ट्स में इस संबंध में जानकारी देते हुए सोनू सूद ने कहा कि यह पूरी तरह से एक टीम वर्क है। ये हमारे देशवासियों की मदद करने की इच्छाशक्ति का फल है। हमें फोन आते ही कुछ मिनट में ही ऑक्‍स‍िजन सिलेंडर की तलाश का काम शुरू हुआ।

    ऑक्सि‍जन सिलेंडर पर फोकस

    ऑक्सि‍जन सिलेंडर पर फोकस

    पूरी टीम ने रात में केवल ऑक्सि‍जन सिलेंडर पर फोकस किया। अगर किसी भी प्रकार से देरी होती तो कई परिवार अपने करीबी लोगों को खो देते।

    हजारों जान बचाने की जरूरत

    हजारों जान बचाने की जरूरत

    सोनू सूद के लिए इस प्रयास में पुलिस ने भी मदद की। एक मरीज को एंबुलेंस से अस्पताल ले जाने के लिए पुलिस ने गाड़ी चलाई। सोनू सूद ने अपने पोस्ट में लिखा है कि ये केवल 22 जिंदगी बचाने की बात नहीं है, यह हजारों लोगों को बचाने की आवश्यकता है जिन्हें हमारी आवश्यकता है।

    English summary
    Sonu sood team save 22 corona patients lives midnight at bengaluru hospital
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X