For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    सोनू सूद की संपत्ति - जानिए कितने करोड़ के मालिक हैं मज़दूरों के मसीहा

    |

    सोनू सूद को इस समय पूरे देश से केवल प्यार मिल रहा है। वो हिंदी, तेलुगू और तमिल फिल्मों का जाना माना चेहरा हैं। अब लॉकडाउन के बीच वो गरीब मज़दूरों के मसीहा हो चुके हैं। ऐसे में सबका प्रश्न यही है कि सोनू सूद इतना खर्च कैसे उठा रहे हैं।

    रिपोर्ट्स की मानें तो सोनू सूद की कुल संपत्ति करीब 17 मिलियन डॉलर के आसपास है। यानि कि वो कुल 130 करोड़ के मालिक हैं।

    सोनू सूद होटल्स के एक चेन के मालिक हैं और उनके पास एड की कमाई है। वहीं कई फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय होने के कारण उनके पास काम की कोई कमी नहीं है।

    बॉलीवुड में जहां सोनू सूद छेदी सिंह के किरदार के साथ दबंग में छा गए और यहीं से उनका करियर भी पटरी पर दौड़ पड़ा। वहीं साउथ की फिल्मों में भी सोनू सूद एक बड़ा और सफल नाम बन चुके हैं।

    बन चुके हैं मसीहा

    बन चुके हैं मसीहा

    इस समय सोनू सूद प्रवासी मजदूरों के मसीहा बन चुके हैं। वो लगातार प्रवासी मजदूरों के लिए बसों का इंतज़ाम करवा रहे हैं और उन्हें घर पहुंचा रहे हैं। सोनू सूद का कहना है कि जब तक आखिरी प्रवासी भाई अपने घर तक नहीं पहुंच जाता उनका काम पूरा नहीं होगा।

    मिल रही है बधाईयां

    मिल रही है बधाईयां

    सोनू सूद को उनके इस काम के लिए ढेरों बधाईयां मिल रही हैं। बॉलीवुड से लेकर आम आदमी तक हर कोई उनका फैन हो चुका है। जहां अजय देवगन ने उनकी तारीफों के पुल बांध रहे हैं वो लोग रोज़ उन्हें सोशल मीडिया पर सलामी ठोंक रहे हैं।

    किया प्रभावित

    किया प्रभावित

    सोनू सूद के काम से अमिताभ बच्चन इतना प्रभावित हुए कि उन्होंने भी प्रवासी मज़दूरों को घर पहुंचाने के लिए बसों का इंतज़ाम शुरू कर दिया है।

    यूं हुई शुरूआत

    यूं हुई शुरूआत

    सोनू सूद ने अपने नेक काम की शुरूआत लॉकडाउन के साथ ही की थी जब उन्होंने अपने होटल को पैरामेडिकल स्टाफ के रहने के लिए मुफ्त में उपलब्ध कराया। इसके बाद उन्होंने गरीबों को खाना बांटने की शुरूआत की।

    कुछ बसों से शुरूआत

    कुछ बसों से शुरूआत

    इसके बाद सोनू सूद ने कुछ बसों में सरकार से परमिशन लेने के बाद प्रवासी मज़दूरों का एक जत्था अपने अपने घर भेजने की कोशिश की। लेकिन धीरे धीरे लोग उनसे मदद मांगते गए।

    किसी को नहीं कहा ना

    किसी को नहीं कहा ना

    सोनू सूद ने किसी को भी मदद मांगने के बाद मना नहीं किया। उन्होंने हर किसी की हरसंभव मदद करने की कोशिश की। धीरे धीरे अब उनके पास पूरी एक टीम है जो सारे प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए लगातार काम कर रही है।

    तुरंत मिलता है जवाब

    तुरंत मिलता है जवाब

    सोनू सूद को कोई भी अगर सोशल मीडिया पर कॉन्टैक्ट करने की कोशिश करता है तो सोनू सूद तुरंत उसकी जानकारी मांगते हैं और उस तक पहुंचने की कोशिश करते हैं। उनके काम की हर कोई तारीफ कर रहा है।

    मज़ाक भी है चालू

    मज़ाक भी है चालू

    इस बीच कई लोग मज़ाक मज़ाक में सोनू सूद से घर पहुंचाने को कह रहे हैं और सोनू सूद इन सब संदेशों को मज़ाक में लेकर वैसे ही जवाब दे रहे हैं और लोगों को इंटरटेन भी कर रहे हैं।

    हो रही है आलोचना

    हो रही है आलोचना

    इस बीच लोग उनकी आलोचना करते हुए यह भी कह रहे हैं कि ये सब सोनू सूद का पब्लिसिटी स्टंट है जो वो बीजेपी का टिकट पाने के लिए कर रहे हैं। लोगों को ये नहीं भूलना चाहिए कि कोबरा पोस्ट के स्टिंग ऑपरेशन में पैसा लेकर बीजेपी का प्रचार करने वालों में सोनू सूद भी शामिल थे।

    गर्व है सोनू सूद

    गर्व है सोनू सूद

    अपने होटल को मेडिकल स्टाफ के लिए क्वारंटीन सेंटर में तब्दील करने से लेकर घर चलें कैंपेन तक सोनू सूद इस देश के कठिन समय में एक सुपरहीरो बनकर उभरे हैं। इस बीच जहां वो 45 हज़ार लोगों को हर दिन खाना मुहैया करवा रहे हैं वहीं ना जाने कितने परिवारों को एकजुट कर चुके हैं। उनके इस जज़्बे को हमारा सलाम।

    English summary
    Sonu Sood has been tagged as the messiah of the migrant labours. We bring to you the details of his property and nett worth.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X