For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    मेरी पीठ में छुरा घोंपा है, कुछ अभिनेता मेरे साथ काम नहीं करना चाहते- श्रेयस तलपड़े का दर्दनाक खुलासा

    By Filmibeat Desk
    |

    बॅालीवुड एक्टर श्रेयस तलपड़े की गिनती हिंदी सिनेमा के मेहनती और टैलेंटेड कलाकारों में की जाती है। जब भी श्रेयस की फिल्मों का नाम याद करने की कवायद की जाए तो उनमें शामिल है इकबाल, ओम शांति ओम, हाउसफुल 2 और गोलमाल सीरीज की फिल्में।

    प्रभास की 400 करोड़ की 'आदिपुरुष' में सिद्धार्थ शुक्ला की एंट्री, निभायेंगे सबसे ताकतवर किरदार, बड़ी खबर !प्रभास की 400 करोड़ की 'आदिपुरुष' में सिद्धार्थ शुक्ला की एंट्री, निभायेंगे सबसे ताकतवर किरदार, बड़ी खबर !

    श्रेयस का काम उनकी हर फिल्म में काफी पसंद किया गया है। वो अभी तक हिंदी और मराठी फिल्म मिलाकर लगभग 45 फिल्में कर चुके हैं। दर्शक उन्हें देखने से कतराते नहीं हैं। लेकिन खुद श्रेयस कम फिल्में कर पाते हैं। आखिर इसकी वजह क्या है, ये खुद श्रेयस ने हाल ही में दिए गए एक इंटरव्यू में बताया है। यहां पर उन्होंने अपने करियर की आपबीती सुनाई है।

    श्रेयस ने उनके साथ होने वाले बर्ताव का खुलासा किया है। उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया है कि मैं जानता हूं कि कुछ स्टार्स हैं जो मेरे साथ स्क्रीन शेयर करना सुरक्षित नहीं मानते हैं।

    श्रेयस तलपड़े ने करियर पर बोला

    श्रेयस तलपड़े ने करियर पर बोला

    टाइम्सऑफ इंडिया को दिए गए इंटरव्यू में श्रेयस तलपड़े ने बोला है कि उन्होंने कभी खुद की मार्केटिंग नहीं की। क्योंकि उनमें काम करने की क्षमता है। उन्होंने बोला कि अगर एक सोलो फिल्म काम नहीं करती तो इसका मतलब ये नहीं कि बाकी फिल्में भी काम नहीं करेंगी।

    मैंने खुद की मार्केटिंग नहीं की- श्रेयस तलपड़े

    मैंने खुद की मार्केटिंग नहीं की- श्रेयस तलपड़े

    वह आगे कहते हैं कि मेरी कई सोलो फिल्मों ने काम किया है। मेरे पास केवल एक चीज की कमी थी वो खुद की मार्केंटिंग करने की। मेरा मानना है कि मुझे अपने काम से और काम मिलना चाहिए।

    दोस्तों ने मेरे पीठ पर छुरा घोंपा

    दोस्तों ने मेरे पीठ पर छुरा घोंपा

    मुझे पता है कि कुछ अभिनेता हैं जो मेरे साथ स्क्रीन शेयर करने को लेकर असुरक्षित महसूस करते हैं। वो मुझे किसी फिल्म में नहीं लेना चाहते हैं। मैंने दोस्तों के हितों के लिए कई फिल्में की, फिर भी उन्हीं दोस्तों ने मेरे पीठ पर छुरा घोंपा है।

    मेरे कुछ दोस्त मेरे बिना आगे बढ़ गए

    मेरे कुछ दोस्त मेरे बिना आगे बढ़ गए

    वह आगे बताते हैं कि मेरे कुछ दोस्त हैं जो मुझे अपने साथ लिए बिना ही आगे बढ़ गए। वो फिल्म बनाते हैं।

    इंडस्ट्री में 10 प्रतिशत लोग ही खुश होते हैं

    इंडस्ट्री में 10 प्रतिशत लोग ही खुश होते हैं

    श्रेयस ने अपनी भावना जाहिर करते हुए कहा कि इंडस्ट्री में 10 प्रतिशत लोग होते हैं जो आपके अच्छा करने पर खुश होते हैं। 90 प्रतिशत लोग सिर्फ आपके परिचित होते हैं।

    अमिताभ बच्चन जैसे व्यक्ति को बुरे दौर से गुजरना पड़ा,

    अमिताभ बच्चन जैसे व्यक्ति को बुरे दौर से गुजरना पड़ा,

    श्रेयस तलपड़े ने ये भी बोला कि अमिताभ बच्चन जैसे व्यक्ति को बुरे दौर से गुजरना पड़ा, तो हम कौन हैं? मैं जब डिप्रेश होता हूं तो खुद को याद दिलाता हूं कि मैं वो व्यक्ति हूं जिसने इकबाल की थी। मैं आज जहां हूं खुश हूं। मेरा काम अभी भी अधूरा है।

    मैं अभिनय के साथ मरना चाहता हूं

    मैं अभिनय के साथ मरना चाहता हूं

    श्रेयस ने कहा कि वह अच्छी भूमिकाओं के लिए भूखे हैं। वह कहते हैं कि मैं अभिनय करते हुए मरना चाहता हूं। सेट पर या फिर मंच पर प्रदर्शन करते हुए।

    English summary
    Shreyas talpade talk about bad phase of his career says some actor do not want to work with me
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X