For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    Breaking: तीन लोगों का अलग अलग दावा उन्होंने उतारी सुशांत की लटकती हुई लाश

    |

    सुशांत सिंह राजपूत के केस में हर दिन एक नया खुलासा हो रहा है और अब रिपब्लिक टीवी के एक स्टिंग ऑपरेशन में सुशांत सिंह राजपूत की लटकती हुई बॉडी को लेकर भी तीन अलग अलग बयान सामने आ चुके हैं।

    रिपब्लिक टीवी ने एंबुलेंस के ड्राईवर से बात की जिसका कहना है कि पुलिस ने उसे बुलाया था और बॉडी उसने ही उतारी।

    वहीं एंबुलेंस के मालिक का कहना है कि सशांत सिंह राजपूत की डेड बॉडी पुलिस ने उतारी थी। लेकिन सबसे दिलचस्प बयान है सुशांत सिंह राजपूत के फ्लैटमेट सिद्धार्थ पिठानी का।

    रिपब्लिक टीवी की रिपोर्ट के मुताबिक सिद्धार्थ पिठानी ने एक चैनल को दिए अपने इंटरव्यू में साफ कहा कि मौत के बाद सुशांत को सबसे पहले देखने वाले वो ही थे और उन्होंने ही सुशांत की बॉडी फंदे से अलग की थी।

    सिद्धार्थ ने उतारी बॉडी

    सिद्धार्थ ने उतारी बॉडी

    सिद्धार्थ पिठानी ने एक इंटरव्यू में कहा कि मौत के बाद सुशांत को सबसे पहले देखने वाले इंसान वो थे। उन्होंने सुशांत के एक रिश्तेदार के कहने पर चाकू से फंदा काटा और सुशांत के शरीर को नीचे उतारा था।

    रात में की थी बात

    रात में की थी बात

    सिद्धार्थ ही वो इंसान थे जिनसे सुशांत ने आखिरी बार बात की थी। इसके बाद अगले दिन सुबह 8.30 बजे सिद्धार्थ नीचे आए और चाय पी। जिसके बाद कुक केशव ने उन्हें आकर बताया कि सुशांत सिंह राजपूत ने अपना कमरा अंदर से लॉक किया है और खोल नहीं रहे हैं।

    कमरा खुलवाने की कोशिश

    कमरा खुलवाने की कोशिश

    सिद्धार्थ और केशव ने कमरा खुलवाने की कोशिश की जिसके बाद चाभी बनाने वाले को बुलाया गया जिसे आने में बीस मिनट लगे। चाभी बनी और कमरा खोला गया तो सिद्धार्थ ने देखा कि सुशांत फंदे से पंखे पर लटक रहे थे।

    पुलिस को की खबर

    पुलिस को की खबर

    पुलिस को इस बारे में खबर करने वाले सबसे पहले इंसान भी सिद्धार्थ ही थे।सिद्धार्थ ने सुशांत की नब्ज़ चेक की जो ठंडी पड़ चुकी थी। इस बीच सुशांत के एक रिश्तेदार के कहने पर उन्होंने हरे रंग के कपड़े का फंदा चाकू से काटा और सुशांत को नीचे उतारा।

    एंबुलेंस ड्राइवर की अलग कहानी

    एंबुलेंस ड्राइवर की अलग कहानी

    वहीं एंबुलेंस ड्राईवर का कहना है कि पुलिस ने उन्हें बुलाया था। वो सुशांत के अपार्टमेंट पहुंचे और फिर उन्होंने पुलिस के साथ मिलकर बॉडी को नीचे उतारा। उनका कहना है कि लोग उन्हें फोन कर लगातार परेशान कर रहे हैं और कह रहे हैं कि उन्होंने भी सुशांत को मारा है।

    दवा देते थे

    दवा देते थे

    वहीं सिद्धार्थ पिठानी पहले भी अपने कई बयान अलट पलट कर चुके हैं। उन्होंने एक इंटरव्यू में साफ कहा कि वो सुशांत को दो टैबलेट रात में देते थे। हालांकि जब उनसे पूछा गया कि टैबलेट क्या थी, कौन सी थी तो उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी।

    रिया के कहने पर दवा

    रिया के कहने पर दवा

    सिद्धार्थ का कहना है कि वो रिया के कहने पर सुशांत को दवा देते थे। ये दवाएं prescription पर थी। लेकिन वो इस बात से इंकार करते हैं कि उन्हें सुशांत कि दिमागी हालत के बारे में कुछ भी पता था। उनका कहना है कि वो सुशांत के ज़्यादा करीब नहीं थे।

    हुई थी पार्टी

    हुई थी पार्टी

    टाइम्स नाऊ की एक रिपोर्ट के मुताबिक मौत से एक रात पहले सुशांत के घर एक पार्टी हुई जहां सुशांत ने ऑनलाइन गेम्स खेले। इस पार्टी में एक मिनिस्टर का बेटा भी मौजूद था। लेकिन सिद्धार्थ ने ऐसी किसी पार्टी से साफ मना किया है।

    हो ही नहीं सकता

    हो ही नहीं सकता

    सुशांत सिंह राजपूक की एक्स गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे का कहना है कि ऐसा हो ही नहीं सकता है कि सुशांत जैसा लड़का सुसाइड कर ले। अगर उसने ऐसा किया है तो इसके पीछे कोई बहुत बड़ा कारण है जो सामने आना चाहिए।

    क्यों नहीं ट्रांसफर हो रहा है केस

    क्यों नहीं ट्रांसफर हो रहा है केस

    सारा सवाल यही है कि अभी तक मुंबई पुलिस पर इतने इल्ज़ाम लग चुके हैं तो ये मामला मुंबई पुलिस से क्यों नहीं लिया गया है। यही बात अब तक मुंबई पुलिस को शक के घेरे में खड़ी करती है। इसके बावजूद अभी तक ये मामला सीबीआई को क्यों नहीं सौंपा गया है।

    English summary
    Three people claim three different people bringing down Sushant Singh Rajput’s hanging dead body.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X