For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    सोनू सूद पर शिव सेना का आक्रमण - उड़ा जमकर मज़ाक, लोग कह रहे भाजपा की कठपुतली

    |

    सोनू सूद लगातार प्रवासी मज़दूरों की मदद कर रहे हैं और लोग उनसे बहुत ज़्यादा खुश हैं। लेकिन अब उनकी बातें राजनीतिक गलियारों में होने लगी हैं। और इतना ही नहीं लोग उनका मज़ाक उड़ाने पर भी उतर आए हैं।

    जहां कुछ लोग उन्हें भाजपा के हाथों की कठपुतली कह कर उन्हें उकसाने की कोशिश कर रहे हैं वहीं बाकी उनका PR Stunt कह रहे हैं।

    अब शिव सेना के नेता संजय राउत ने एक कॉलम में सोनू सूद पर व्यंग्य लिखा है - महाराष्ट्र में महात्मा ज्योतिराव फूले और बाबा आमटे जैसे महान लोग हुए हैं।

    [Also Read: कितनी है सोनू सूद की कुल संपत्ति][Also Read: कितनी है सोनू सूद की कुल संपत्ति]

    shiv-sena-leader-sanjay-raut-mocks-sonu-sood-for-acting-mahatma-for-migrant-labours

    वहीं उन्होंने सामना के इस कॉलम में सवाल उठाया कि जो काम सरकार को करना चाहिए आखिर वो सोनू सूद कर क्यों रहे हैं और कैसे कर रहे हैं।

    लगातार कर रहे हैं काम

    लगातार कर रहे हैं काम

    गौरतलब है कि सोनू सूद लगातार प्रवासी मज़दूरों को उनके घर भेजने के काम में जुटे हैं। इस बीच कहीं उनकी तारीफ हो रही है तो कहीं आलोचना लेकिन सोनू सूद इन सब बातों पर ध्यान दिए बिना बस अपना काम करने में लगे हुए हैं।

    भारत रत्न की मांग

    भारत रत्न की मांग

    लोग सोनू सूद से इतने खुश हैं कि वो ट्विटर पर आए दिन मांग करते रहते हैं कि सोनू सूद इस देश के असली हीरो हैं और उन्हें भारत रत्न देना ही चाहिए। लोगों का मानना है कि इस साल उन्हें यह सम्मान मिल भी जाएगा।

    लोगों को मिली प्रेरणा

    लोगों को मिली प्रेरणा

    सोनू सूद के काम से लोगों को इतनी प्रेरणा मिली की स्वरा भास्कर और अमिताभ बच्चन जैसे सितारों ने भी प्रवासी मज़दूरों को घर भेजने का जिम्मा उठाया और लोगों की मदद करना सामने आ कर शुरू किया।

    लोगों ने दिया आशीर्वाद

    लोगों ने दिया आशीर्वाद

    लोगों ने सोनू सूद को जितना आशीर्वाद दिया है, उतना ही उन्हें सम्मान भी मिल रहा है। एक प्रवासी मज़दूर ने घर पहुंचने के बाद अपने बेटे का नाम सोनू सूद श्रीवास्तव रखा। प्रवासी महिला जब घर जा रही थी तो प्रेगनेंट थी और घर पहुंचते ही उसने बच्चे को जन्म दिया।

    संघर्ष का मतलब

    संघर्ष का मतलब

    वहीं सोनू सूद ने कहा कि वो इन मज़दूरों से इतना जुड़ गए क्योंकि वो संघर्ष का मतलब जानते हैं। वो ट्रेन में टॉयलेट के बीच के रास्ते में सोकर सफर करते थे। उनकी ज़िंदगी में एक समय में इतना संघर्ष था। ऐसे में वो जितने लोगों की मदद कर सकते हैं करेंगे।

    420 रूपये का लोकल पास

    420 रूपये का लोकल पास

    वहीं सोनू सूद का लोकल ट्रेन का पास भी इंस्टाग्राम पर वायरल हो चुका है। ये पास 23 साल पुराना है। सोनू सूद ने बताया कि वो चंद पैसे लेकर मुंबई आए थे। इस दौरान वो लोकल ट्रेन से सफर करते थे। ये पास 420 रूपये का था।

    परिवार भी साथ

    परिवार भी साथ

    सोनू सूद का परिवार भी इस मुहिम में उनके साथ है। उनकी पत्नी सोनाली और दोनों बेटे लगातार उनके साथ काम कर रहे हैं। उनकी पत्नी फोन कॉल्स की लिस्ट बनाती हैं और बेटे इशान और अयान देखते हैं कि कौन सा मज़दूर किस बस में जाएगा।

    शुरू हुई धांधली

    शुरू हुई धांधली

    इस बीच सोनू सूद के नाम की धांधली भी शुरू हुई और लोग उनके नाम पर पैसे ठगने लगे। सोनू सूद ने साफ किया कि कोई भी उनके नाम पर पैसे मांगे तो तुरंत पुलिस में शिकायत कर दीजिए। वो किसी से भी कोई पैसे नहीं ले रहे हैं।

    टीवी एक्टर की मदद

    टीवी एक्टर की मदद

    इस बीच सोनू सूद ने एक टीवी एक्टर की मदद के लिए भी ज़रा भी समय बर्बाद नहीं किया। राजेश करीर ने एक वीडियो में शेयर किया था कि उन्हें कोई पैसों की मदद कर दे क्योंकि वो कंगाल हो चुके हैं। सोनू सूद ने राजेश करीर को फोन कर उनका हाल चाल लिया और जितनी मदद हो सकती थी, सब की।

    भरी पड़ी है लिस्ट

    भरी पड़ी है लिस्ट

    अभी भी सोनू सूद के पास 70 हज़ार लोगों की लिस्ट भरी पड़ी है जिन्हें अपने घर जाना है। इस बीच सोनू सूद अब केवल बस ही नहीं ट्रेन और फ्लाईट्स से भी लोगों को अपने घर पहुंचाने की कोशिश में जुट गए हैं।

    English summary
    Shiv Sena leader Sanjay Raut mocked Sonu Sood helping the migrant labours and called him Mahatma in a sarcastic way.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X