For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    ''मुझे मेरी नाक की वजह से पहली फिल्म मिली....''- शाहरूख खान

    By Neeti
    |

    लेखक और फिल्ममेकर समर खान ने सुपरस्टार शाहरूख खान पर एक किताब लांच किया है। जिसमें शाहरूख के 25 सालों की फिल्मी करियर से जुड़ी कई दिलचस्प बातें है। लेखक ने लगभग उन सभी निर्देशकों से बातचीत की है, जिनके साथ शाहरूख ने कभी ना कभी काम किया है। इस किताब को शाहरूख खान ने खुद रिलीज़ किया।

    इस इवेंट में शाहरूख ने कई दिलचस्प बातें शेयर की। जिनमें से एक थी उनकी पहली फिल्म से जुड़ी बात। शाहरूख ने बताया कि उन्हें उनकी नाक की वजह से पहली फिल्म मिली थी।

    हेमा मालिनी ने अपनी फिल्म 'दिल आशना है' के लिए शाहरूख को पसंद किया था। शाहरूख ने कहा- मैं एक साधारण दिखने वाला लड़का था, जो फिल्मी बैकग्राउंड से भी नहीं था। किसे ऐसी खुशनसीबी मिलती है कि वह ड्रीम गर्ल के सामने बैठ सके।

    हेमा मालिनी ने मुझे कहा था, तुम्हारी नाक मुझे बहुत पसंद है और यह फिल्म तुम्हें उसी वजह से मिली है। जी हां, जिस नाक को मैं छिपाता फिरता था, वो नाक हेमा मालिनी को पसंद है..

    राहुल, राज, मोहन, आर्यन

    राहुल, राज, मोहन, आर्यन

    शाहरूख खान ने कहा कि एक समय के बाद मैं तो नहीं रहूंगा.. लेकिन राहुल, राज जैसे किरदार हमेशा रहेंगे। मैं क्या किरदार निभाता हूं, मुझे कोई आइडिया नहीं है.. मुझे नहीं पता मैं देवदास की तरह रोता हूं या देवदास मेरी तरह रोता था।

    न्यूकमर हूं

    न्यूकमर हूं

    शाहरूख ने कहा कि मैं आज भी खुद न्यूकमर ही मानता हूं.. 25 साल हो गए लेकिन आज भी नया सा महसूस होता है।

    100-200 करोड़

    100-200 करोड़

    बतौर स्टार 100-200 करोड़ दिमाग में आ ही जाते हैं.. ट्विटर पर लोगों को पता होता है कि मेरी फिल्म ने कितना कमाया है.. तो मैं चाहे जितना दूर रहूं.. पर ये चीजें आती हैं दिमाग में।

    मेरा बिकना लाज़िमी है

    मेरा बिकना लाज़िमी है

    अगर मैं बिकता हूं तो बिकना लाज़िमी है.. जिस पोजिशन में मैं हूं, वहां ऑप्शन बहुत कम होते हैं.. लोग आते है, बोलते हैं हम पिक्चर बनाएंगे तो फिल्म पहले ही बड़ी बन जाती है।

    पता नहीं कैसे रोल किए

    पता नहीं कैसे रोल किए

    शाहरूख ने कहा- मैंने जो भी रोल किये हैं, पता नहीं कैसे किए.. कुंदन ने एक दिन कहा था मुझे कि मैं पत्थर से एक्टिंग करवा सकता हूं, तुझसे नहीं।

    आर्ट जरूरी है, आर्टिस्ट नहीं..

    आर्ट जरूरी है, आर्टिस्ट नहीं..

    एक एक्टर पानी की तरह होता है, उसे हर रंग हर शेप में ढ़लना आना चाहिए। मुझे लगता हैआर्ट जरूरी है, आर्टिस्ट नहीं..

    English summary
    Shahrukh Khan launches Samar Khan’s book SRK 25 Years of a Life. know details.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X