For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    सुशांत मर्डर मास्टरमाइंड बुलाने पर संदीप सिंह ने अर्णब गोस्वामी पर ठोंका 200 करोड़ का मानहानि केस

    |

    सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में उनके दोस्त संदीप सिंह पर काफी शक किया गया और इसका कारण था रिपब्लिक टीवी और अर्णब गोस्वामी के कई स्टिंग ऑपरेशन और रिपोर्ट्स। अब संदीप सिंह ने रिपब्लिक टीवी और अर्णब गोस्वामी पर मानहानि केस का नोटिस भेजा है। पढ़िए ये पूरा नोटिस।

    सर, मैं मेरे क्लाईंट संदीप सिंह की तरफ से कुछ चीज़ें साफ करना चाहता हूं -

    मेरे क्लाईंट बॉलीवुड के एक सम्मानित प्रोड्यूसर और फिल्ममेकर हैं जिनके बारे में चैनल पर लगातार गलत खबरें चलाई गईं। जबकि चैनल ये जानता था कि मेरे क्लाईंट, सुशांत सिंह राजपूत को उनके करियर के शुरूआती दिनों से जानते हैं। आपने सार्वजिनक रूप से मेरे क्लाईंट को सुशांत की मौत का मास्टरमाइंड औऱ खूनी कहा और जानबूझकर सीबीआई और पुलिस जांच की दिशा मोड़नी चाही।

    अब जब सच सामने आ चुका है तो ये साफ है कि ये सब केवल टीआरपी बटोरने के लिए किया गया। इस बात के सुबूत हैं कि चैनल ने अपनी टीआरपी के लिए झूठी और बोगस खबरें चलाईं। मुझे चैनल के ही एक अधिकारी ने साफ कहा कि अगर हम चैनल को कोई फायदा नहीं देते हैं तो हमारे खिलाफ ऐसी खबरें चलाई जाएंगी और संदीप को सुशांत की मौत का मास्टरमाइंड बताया जाएगा।

    इस नोटिस में कई ऐसी बातें साफ की गईं जिनमें संदीप की छवि पर दाग लगाने के लिए झूठी खबरें चलाई गईं -

    लगातार चलाई झूठी खबर

    लगातार चलाई झूठी खबर

    (i) रिपब्लिक टीवी ने 31 जुलाई को स्मिता पारिख नाम की महिला बुलाई जिसने आरोप लगाया कि संदीप सिंह के कहने पर ही सुशांत की बॉडी वाली एंबुलेंस कूपर अस्पताल ले जाई गई। और संदीप के पीआर ने उनकी तस्वीरें खींचकर खुद मीडिया में बांटी।

    दिशा सालियान से जोड़ा

    दिशा सालियान से जोड़ा

    (ii) 3 अगस्त को प्रशांत नाम के आदमी ने बिल्कुल झूठी कहानी बताते हुए कहा कि उन्हें दिशा के एक दोस्त ने फोन कर ये बताया है कि संदीप ने सुशांत को कॉल कर दिशा की मौत के बारे में सबसे पहले बताया था।

    झूठे लोग लाए

    झूठे लोग लाए

    (iii) 3 अगस्त को गणेश हिवारकर नाम के एक इंसान ने सुशांत से अपने रिश्ते के बारे में बात की लेकिन संदीप के खिलाफ एक भी बात नहीं की। बाद में चैनल ने उसी आदमी का चेहरा धुंधला कर एक स्टिंग चलाया जहां वो ये कहता दिखता है कि दिशा और सुशांत का केस जुड़ा है, सुशांत ने संदीप को फोन कर बताया था कि वो दिशा के लिए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस रखेगा और संदीप ने ये बात और कई लोगों को बताई जिसके बाद 13 की रात कई लोग सुशांत के घर गए। सुशांत ने 50 सिम बदले। वगैरह।

    गलत इल्ज़ाम लगाए

    गलत इल्ज़ाम लगाए

    (iv) 20 अगस्त को केवल संदीप सिंह को टार्गेट करते हुए एक स्टोरी चलाई गई जहां कहा गया कि संदीप सिंह ने एंबुलेंस को सारे ईशारे दिए, अंतिम संस्कार का सारा काम अपने हाथ में ले लिया और पुलिस को इशारे किए। जिस जर्नलिस्ट ने ये स्टोरी की, उसने बाद में माना कि ये सब उसने अर्णब गोस्वामी के दबाव में किया।

    सुशांत के डॉक्यूमेंट्स

    सुशांत के डॉक्यूमेंट्स

    (v) चैनल ने बिना किसी जांच के ये कहा कि संदीप सिंह नहीं चाहते कि सीबीआई इस मामले की जांच करे। बिना किसी जांच के कहा गया कि संदीप ने सुशांत का पैन कार्ड, आधार कार्ड, ड्राईविंग लाइसेंस सब कुछ रख लिया। चैनल पर ये भी कहा गया कि संदीप सिंह सुशांत के एकतरफा दोस्त हैं।

    #ArrestSandeepSsingh

    #ArrestSandeepSsingh

    (vi) चैनल की ओर से संदीप को बदनाम करने के लिए #ArrestSandeepSsingh नाम का हैशटैग भी चलाया गया। इसी चैनल पर ये भी कहा गया कि संदीप सिंह बिना किसी जानकारी के लंदन भागने का प्लान बना रहे हैं।

    अलग अलग कहानियां

    अलग अलग कहानियां

    (vii) 21 अगस्त को दुर्भावना के साथ चैनल ने एक सुरजीत सिंह नाम के आदमी का इंटरव्यू लिया जो खुद को एक प्रोड्यूसर बताता है और कर्णी सेना से जुड़ा हुआ है। सुरजीत ने दावा किया कि संदीप किसी से दुबई में बात कर रहा था और जब उसे पता चला कि सुरजीत कर्णी सेना का है, उन्होंने पुलिस से कह कर सुरजीत को बाहर निकलवाया। चैनल पर सुरजीत ने दावा किया कि उन्होंने खुद बांद्रा DCP को लिखित शिकायत दी थी कि पूरी घटना का मास्टरमाइंड संदीप सिंह है।

    संदीप सिंह को गिरफ्तार करो

    संदीप सिंह को गिरफ्तार करो

    (viii) चैनल पर कहा गया कि संदीप सिंह, सुशांत सिंह राजपूत की मौत को राजनीतिक प्रॉफिट के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। इसके बाद 25 अगस्त को रात 11 बजे के डिबेट में अर्णब गोस्वामी ने कहा - संदीप सिंह को गिरफ्तार करो। और आगे कहा - संदीप अगर तुम ये देख रहे हो तो तुम्हें पता है कि सीबीआई की जांच आगे बढ़ेगी तो तुम्हें गिरफ्तार किया जाएगा।

    सबको परेशान किया

    सबको परेशान किया

    (ix) 22 अगस्त से 24 अगस्त तक रिपब्लिक टीवी लगातार संदीप सिंह के घर में घुसने की कोशिश करता रहा और उनकी बिल्डिंग के लोगों को परेशान किया। सिक्योरिटी गार्ड से लेकर, घर में काम करने वालों को परेशान किया गया।

    हरदम किया पीछा

    हरदम किया पीछा

    (x) 6 सितंबर को एक झूठी फुटेज चलाई गई जहां कहा गया कि सीबीआई के गेस्ट हाउस से एक आदमी मीडिया के कैमरों को देख मुंह छिपाकर भाग गया और वो आदमी संदीप सिंह था। इसके बाद 13 सितंबर को वर्ली सी फेस से उनकी तस्वीरें जारी करते हुए पूछा गया कि वो वहां क्या कर रहे थे।

    200 करोड़ का हर्जाना

    200 करोड़ का हर्जाना

    इस नोटिस में साफ है कि रिपब्लिक टीवी ने सेक्शन 499 और 500 के तहत ये जुर्म किए हैं। नोटिस में साफ लिखा है कि संदीप सिंह के खिलाफ सारी झूठी खबर, फुटेज और आर्टिकल डिलीट किए जाएं। और उनसे सार्वजनिक रूप से माफी मांगी जाए। इसके अलावा मेरे क्लाईंट को 200 करोड़ रूपये का हर्जाना मानहानि के लिए देना चाहिए।

    English summary
    Sandip Ssingh files a defemation case agaist Republic TV and Arnab Goswami for calling him Sushant murder mastermind.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X