For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    "सलमान की फिल्में भारत की सभ्यता और संस्कार दिखाती है"

    |

    अगर आप केवल बॉलीवुड फैन ही नहीं, बल्कि बॉलीवुड प्रशंसक हैं तो आप जानते हैं कि बॉलीवुड के सबसे सभ्य और संस्कारी पुरूष कौन हैं (आलोक नाथ की बात नहीं हो रही है)। जी हां, पहलाज़ निहलानी, हमारे सेंसर बोर्ड अध्यक्ष। और अब इस संस्कारी पुरूष ने बॉलीवुड के दूसरे संस्कारी पुरूष यानि कि सलमान खान की जमकर तारीफ की है।
    [#Sultan को सेंसर बोर्ड ने कितने नंबरों से किया पास?]

    पहलाज निहलानी का कहना है कि सुलतान एक उम्दा फिल्म है जो भारत के सभ्यता और संस्कार दिखाती है। इस फिल्म को टैक्स फ्री होना चाहिए क्योंकि यहां बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ और महिला सशक्तिकरण जैसे मामले खुलकर सामने आते हैं।

    वहीं पहलाज निहलानी का मानना है कि सलमान की सभी फिल्में बॉडीगार्ड, प्रेम रतन धन पायो, बजरंगी भाईजान और सुलतान जहां एक तरफ समाज को अच्छा संदेश देती हैं वहीं ये फिल्में भारत की सभ्यता और संस्कृति से भी जुड़ी हुई हैं। ऐसी फिल्मों से सीख लेनी चाहिए कि विशुद्ध कॉमर्शियल फिल्में कैसे बनाई जाएं।
    [MUST READ:कैसे बनी ये फिल्म 'संस्कारी' PORN कॉमेडी! ]

    पहलाज निहलानी ने हाल ही में मनोज बाजपेयी पर गुस्सा उतारते हुए कहा कि वो इंतज़ार कर रहे हैं कि मनोज बाजपेयी अपना करियर शुरू करें। आज तक उन्होंने केवल एक अच्छी फिल्म की है और उसका नाम था सत्या, जो उनकी पहली फिल्म थी।
    [#SorrySalman: सुलतान के ये डायलॉग...हाजमोला से भी हजम नहीं हुए]

    इस फिल्म के बाद से पहलाज निहलानी आज भी मनोज बाजपेयी के करियर शुरू होने का इंतज़ार कर रहे हैं। गौरतलब हा कि पहलाज निहलानी ने अपने करियर में आग का गोला, मिट्टी और सोना, फर्स्ट लव लेटर जैसी फिल्में बनाई हैं।

    English summary
    Salman Khan films are rooted with Indian culture says Pahlaj Nihalani.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X