For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    पिता सलीम खान ने किया 'राधे' का रिव्यू- अच्छी फिल्म नहीं है, ऐसे में सलमान खान भी क्या करे, बताई वजह

    By Filmibeat Desk
    |

    सलमान खान की राधे ईद पर रिलीज हुई। फिल्म को ओटीटी पर रिलीज किया गया। एक वक्त बीत जाने के बाद फिर से राधे योर मोस्ट वांटेड भाई फिल्म कैसी थी, इसको लेकर चर्चा शुरू हो गई है।

    ऐसे में सलमान खान के पिता और हिंदी सिनेमा के लोकप्रिय स्क्रीनराइटर सलीम खान ने राधे योर मोस्ट वांटेड भाई पर ऐसा रिव्यू दिया है जो कि सलमान के फैंस को निराश कर सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सलीम खान ने कहा है कि राधे योर मोस्ट वांटेड भाई को ग्रेट फिल्म नहीं है। लेकिन आजकल के लेखक विदेश की कहानी को भारतीय फिल्म बनाने में लगे हुए हैं।

    आखिर सलीम खान ने राधे को अच्छी फिल्म ना बताते हुए अपने बेटे की फिल्म से जुड़ी एक और वजह बताई है जो ये बताती है कि इस तरह की फिल्मों का बिजनेस कैसा होना चाहिए।

    बजरंगी भाईजान अच्छी फिल्म थी, राधे अच्छी नहीं है

    बजरंगी भाईजान अच्छी फिल्म थी, राधे अच्छी नहीं है

    सलीम खान ने एक न्यूज पब्लिकेशन हाउस से बात करते हुए ये सीधे तौर पर कहा कि दबंग 3 अलग थी। सलमान खान की फिल्म बजरंगी भाईजान अच्छी फिल्म थी। राधे बिल्कुल भी अच्छी नहीं है।

    कमर्शियल सिनेमा की जिम्मेदारी

    कमर्शियल सिनेमा की जिम्मेदारी

    सलीम खान ने आगे कहा कि कमर्शियल सिनेमा की जिम्मेदारी होती है, सभी को उनके पैसे का एंटरटेनमेंट मिलना चाहिए। इसके साथ कलाकार, निर्माता, डिस्ट्रीब्यूटर, एक्जीबिटर और हर एक शेयर होल्डर को उसका पैसा वापस मिलना चाहिए।।

    बताया ऐसा होता है सिनेमा का व्यापार

    बताया ऐसा होता है सिनेमा का व्यापार

    उन्होंने आगे बोला कि जो लोग सिनेमा खरीदते हैं, उन्हें भी पैसा वापस मिलना चाहिए। इसी के कारण सिनेमा बनाने और उससे जुड़ा व्यापार चलता है।

    सलमान ने अच्छा काम किया है

    सलमान ने अच्छा काम किया है

    राधे पर सलीम खान ने कहा कि अगर उस पैमाने पर देखा जाए तो सलमान खान ने अच्छा काम किया है। इस फिल्म के शेयर होल्डर्स को फायदा हुआ है। बाकी सलमान की ये फिल्म अच्छी नहीं है।

    सलीम खान ने बोला लेखकों की कमी

    सलीम खान ने बोला लेखकों की कमी

    लेखकों की कमी पर बात करते हुए सलीम खान ने कहा कि इंडस्ट्री में जो बड़ी दिक्कत है वो अच्छे लेखकों की है। इसकी वजह यह है कि लेखक हिंदी और उर्दू साहित्य नहीं पढ़ते हैं।

    अब ऐसे में सलमान खान भी क्या करें

    अब ऐसे में सलमान खान भी क्या करें

    वह आगे कहते हैं कि लेखक बाहर से किसी चीज को देखते हैं और उसे ही मानते हैं। भारतीय सिनेमा के लिए फिल्म जंजीर गेम चेंजर थी। उसके बाद से इंडस्ट्री को सलीम-जावेद का रिप्लेसमेंट नहीं मिला। अब ऐसे हालात में सलमान खान भी क्या करें।

    English summary
    Salman Khan father Salim khan talk about radhe your most wanted bhai says it is not great
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X