For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    शाहरूख खान का तो शुरूआती करियर ही Stalk करके बना है - सैफ अली खान की दो टूक बात

    |

    बॉलीवुड में कई ऐसी चीज़ें हैं जो काफी गलत हैं और इनमें से एक गलत चीज़ के बारे में सैफ अली खान ने हाल ही में एक इंटरव्यू में खुलकर बात की। सैफ ने बताया कि उन्हें समझ नहीं आता कि हिंदी और भारतीय सिनेमा में लड़की का पीछा करने को हीरोगिरी कैसे मान लिया जाता है और ऐसा करने वाले लड़के को हीरो क्यों समझा जाता है।

    सैफ ने कुछ उदाहरण देते हुए कहा कि जैसे शाहरूख खान को ही ले लें। उनका पूरा शुरूआती करियर ज़बरदस्ती लड़कियों का पीछा करते हुए गुज़रा है। जहां डर में वो एक लड़की का पीछा कर उसे परेशान करते हैं वहीं दूसरी तरफ बाज़ीगर में वो दो बहनों की ज़िंदगी के साथ खेलते हैं।

    सैफ का मानना है कि ये सब हमने पश्चिमी फिल्मों से सीखा है और उसे अपने सांचे में ढाल दिया है क्योंकि हम लोगों को कॉपी करने की बहुत बुरी आदत है। बाज़ीगर भी असली कहानी नहीं थी बल्कि एक पश्चिमी कहानी को हिंदी दर्शकों के हिसाब से ढाल दिया गया था।

    सैफ अली खान की मानें तो ये आदत बिल्कुल गलत है लेकिन हमें इसकी आदत हो चुकी है। वैसे शाहरूख खान खुद मानते हैं कि उनका करियर इसी तरह, लड़कियों का पीछा कर कर के बना है।

    saif-ali-khan-takes-a-dig-at-shahrukh-khan-s-stalker-career

    जी हां, शाहरूख की रोमांटिक से रोमांटिक फिल्म में भी वो स्टॉकर यानि कि छिछोरे ही बने हैं। हमें पता है कि आप हमारी बात का यकीन नहीं करेंगे इसलिए हम आपके सामने सुबूत लेकर आए हैं।

    हीरोइन का पीछा

    हीरोइन का पीछा

    हाल ही में आई ज़ीरो में शाहरूख खान एक हीरोइन का पीछा करने लग जाते हैं क्योंकि वो हीरोइन नशे में उनके थोड़ा करीब आ जाती है और शाहरूख खान का किरदार जो अपने आपको उसका सबसे बड़ा फैन समझता है, उसके पीछे पड़ जाता है।

    अन्जान लड़की का पीछा

    अन्जान लड़की का पीछा

    दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे में शाहरूख खान एक अन्जान लड़की का पीछा करते हैं। विदेश से मन नहीं भरता तो उसका पीछा करते करते भारत आ पहुंचते हैं।

    विधवा लड़की का पीछा

    विधवा लड़की का पीछा

    कोई ना कोई चाहिए प्यार करने वाला....दीवाना का ये गाना गाते गाते शाहरूख इतने सीरियस हो जाते हैं कि एक विधवा लड़की का पीछा करने लगते हैं। उफ्फ

    आतंकवादी का पीछा

    आतंकवादी का पीछा

    दिल से में तो शाहरूख हद ही कर देते हैं। एक आतंकवादी का पीछा करते हैं और आखिर में किसी का बिना सोचे समझे पीछा करने की कीमत अदा करते हैं - मर कर!

    दोस्त का पीछा

    दोस्त का पीछा

    कभी हां कभी ना में शाहरूख अपने ही बेस्ट फ्रेंड की गर्लफ्रेंड का पीछा करते हैं, झूठ बोलते हैं और क्या क्या नहीं करते, केवल सच्चे प्यार के नाम पर!

    पड़ोसी का पीछा

    पड़ोसी का पीछा

    पड़ोसी का पीछा, उसकी बेस्ट फ्रेंड का पीछा, उसके बिज़नेस में तांक झांक और फिर एक और बेस्ट फ्रेंड का पीछा। इस फिल्म में तो शाहरूख ने पीछा करने की सारी हदें ही पार कर दीं!

    दूसरे की पत्नी का पीछा

    दूसरे की पत्नी का पीछा

    कभी अलविदा ना कहना में शाहरूख एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर में होते हैं और दूसरे की पत्नी का पीछा करते हैं! WOW!

    प्रिंसिपल की बेटी का पीछा

    प्रिंसिपल की बेटी का पीछा

    कुछ कुछ होता है के पहले पार्ट में शाहरूख प्रिंसिपल की बेटी का पीछा करते हैं लेकिन इससे भी मन नहीं भरता तो दूसरे हाफ में अपनी ही बेस्ट फ्रेंड का पीछा करते हैं, उसकी शादी वाले दिन तक!

    भूत बनकर पीछा

    भूत बनकर पीछा

    पहेली में भी शाहरूख ने सारी हदें पार कर दीं। एक भूत बनकर किसी की नई नवेली दुल्हन का पीछा करते हैं!

    अपनी ही बीवी का पीछा

    अपनी ही बीवी का पीछा

    हद तो इसे कहते हैं साहब....रब ने बना दी जोड़ी में तो शाहरूख अपनी ही बीवी का पीछा करते हैं। क्यों अब कहिए शाहरूख जैसा बॉयफ्रेंड चाहिए!

    English summary
    Saif Ali Khan in an interview talked about Indian films' obsession with hero stalking girls and how Shahrukh made a career out of it.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X