For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    मैं तानाजी में कुछ और करना चाहता था लेकिन मेरे डायरेक्टर को जोकर चाहिए था - सैफ अली खान

    |

    तानाजी साईन करने के बारे में सैफ अली खान का कहना है कि मैं कुछ ड्रामा और थियेटर से जुड़ा करना चाहता था। मैं इसे एकदम अलग तरीके से करना चाहता था लेकिन डायरेक्टर इसे जोकर (शायद हॉलीवुड फिल्म) की तरह चाहते थे।

    सैफ अली खान की मानें तो ये कहना आसान है लेकिन करना काफी मुश्किल है। आप धीरे धीरे सीखते हैं कि वो लोग कैसे बोलते थे, उनका लहज़ा कैसा था। सबका अपना तरीका होता है। मेरे लिए ये शानदार अनुभव था।

    सैफ ने अपने डायरेक्टर की तारीफ करते हुए कहा - मैं ओम राउत का शुक्रगुज़ार हूं कि वो मेरा हाथ पकड़कर इस रोल तक मुझे लेकर गए। और मैं अजय देवगन को भी धन्यवाद करता हूं कि मुझे ऐसा मौका दिया। ये देशभक्ति से भरी हुई फिल्म थी जिसमें सब कुछ था। लेकिन किसी को नहीं लगा था कि ये इतनी सफल हो जाएगी।

    हुआ था विवाद

    हुआ था विवाद

    दरअसल, सैफ अली खान ने फिल्म के हिट होने के बाद ये कहकर सनसनी मचा दी थी कि तानाजी इतिहास से छेड़छाड़ करती है और एक काल्पनिक फिल्म है। इसको अगर आप एक दुर्भाग्य कहेंगे कि कलाकार उदारवादी विचार की वकालत करते है पर वो लोकप्रियतावाद से बाज नहीं आते। सैफ अली खान ये बयान काफी ज्यादा वायरल हुआ था।

     फिल्म में गलत तथ्य

    फिल्म में गलत तथ्य

    सैफ अली खान ने बताया था कि मुगलों को इस फिल्म में विदेशी दिखाया गया है लेकिन लेकिन हकीकत तो ये है कि मुगल पीढ़ियों से भारत में रहे हैं। बात करें सैफ के किरदार की तो वो इस फिल्म में उदयभान राठौर का किरदार निभाया है।

    इंटरव्यू से बवाल

    इंटरव्यू से बवाल

    सैफ अली खान के इस इंटरव्यू से काफी बवाल मचा था और खबरें थीं कि अजय देवगन उनके इस बयान से काफी ज़्यादा खफा हैं।

    दी थी सफाई

    दी थी सफाई

    बाद में सैफ अली खान ने सफाई में कहा था कि उनके बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश करने की कोशिश की गई है। वो केवल एतिहासिक तथ्यों पर टिप्पणी कर रहे थे।

    लोगों ने धोया

    लोगों ने धोया

    सैफ अली खान के बयान पर लोगों ने उन्हें धो दिया था। कंगना रनौत ने यहां तक पूछ डाला था कि अगर सैफ के हिसाब से पुराने ज़माने में भारत का कॉन्सेप्ट नहीं था तो महाभारत कैसे लिखी गई थी?

    काजोल ने मारा था ताना

    काजोल ने मारा था ताना

    फिल्म के प्रमोशन के दौरान, काजोल ने भी सैफ अली खान को ताना मारा था कि वो प्रमोशन छोड़ कर छुट्टियां मना रहे हैं। दरअसल, सैफ नए साल पर करीना और तैमूर के साथ छुट्टी पर जा चुके थे।

    नहीं मिली तारीफें

    नहीं मिली तारीफें

    फिल्म में सैफ अली खान निगेटिव भूमिका में थे लेकिन उनके किरदार ने कोई प्रभाव नहीं छोड़ा था। फिल्म में अजय देवगन और काजोल की जमकर तारीफ हुई थी। शरद केलकर को भी वाहवाही मिली लेकिन सैफ के हिस्से केवल आलोचनाएं आई थीं।

    हो गई तुलना

    हो गई तुलना

    फिल्म में सैफ अली खान के किरदार की तुलना, रणवीर सिंह के अलाउद्दीन खिलजी से की गई थी और माना गया कि सैफ पूरी फिल्म में खिलजी को कॉपी करते रह गए थे।

    ओमकारा के दिन

    ओमकारा के दिन

    सैफ अली खान और अजय देवगन ने ओमकारा में साथ काम किया है। इस फिल्म में सैफ निगेटिव भूमिका में थे और लंगड़ा त्यागी बनकर सारा ध्यान अपनी ओर खींच ले गए थे।

    सब कुछ बढ़िया

    सब कुछ बढ़िया

    हाल ही में अजय देवगन ने साफ कियाो कि उनके और सैफ अली खान के बीच कोई मनमुटाव नहीं है और ये सब केवल अफवाहें हैं।

    English summary
    Saif Ali Khan opened up on Tanhaji and confessed that he wanted to play Udaybhan subtle but director wanted a joker out of that character.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X