For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

साहो के लिए प्रभास ने साउथ के सुपरस्टार होने के बावजूद जो किया उससे हर हिंदी फैन चौंक जाएगा

By Staff
|

बाहुबली स्टार प्रभास, आजकल अपनी अगली फिल्म साहो का प्रमोशन कर रहे हैं। साहो, हिंदी में भी बनाई गई है और 30 अगस्त को रिलीज़ हो रही है। फिल्म में प्रभास के अपोज़िट श्रद्धा कपूर दिखाई देंगी। अब एक प्रमोशन के दौरान, प्रभास ने ऐसा खुलासा किया कि हर कोई चौंक गया। कम से कम इतने बड़े साउथ सुपरस्टार से ये उम्मीद किसी को नहीं थी।

दरअसल, प्रभास ने बताया कि फिल्म के हिंदी डायलॉग्स उनके लिए देवनागरी लिपि यानि कि हिंदी में ही लिखे गए थे। उन्हें हिंदी पढ़ने में भी आती है और लिखने भी। फिल्म के डायलॉग्स भी प्रभास ने खुद ही डब किए हैं।

प्रभास की ये बात सुनकर सभी हिंदी फैन्स के दिल में उनके लिए सम्मान थोड़ा और बढ़ गया होगा। गौरतलब है कि उनकी पिछली फिल्म बाहुबली में प्रभास की आवाज़ हिंदी में डब की थी हिंदी टीवी और मराठी फिल्मों के सुपरस्टार शरद केलकर ने। लेकिन इस बार प्रभास ने खुद मेहनत की है।

गौरतलब है कि प्रभास अपनी पिछली फिल्म बाहुबली से ग्लोबल स्टार बन चुके हैं और इसलिए साहो से लोगों को काफी उम्मीदें हैं। हालांकि इस तरह की तुलना करना गलत है लेकिन एक बात साफ है कि प्रभास ने जो कर दिखाया है उसके बाद कई ऐसी बातें हैं जो हर स्टार को उनसे सीखनी चाहिए।

रिस्क

रिस्क

साहो का बजट 350 करोड़ है। लेकिन इस फिल्म में प्रभास के साथ पूरा रिस्क उठाया जा रहा है। इतने बड़े बजट का मतलब ये भी है कि फिल्म में किसी भी चीज़ से Compromise या Adjust नहीं किया गया है।

कमिटमेंट

कमिटमेंट

भले ही ये डायलॉग सलमान खान का हो कि जो मैंने एक बार कमिटमेंट कर दी तो अपने आप की भी नहीं सुनता। लेकिन ये प्रभास पर बिल्कुल सटीक बैठता है। उन्होंने असल मायने में दिखा दिया है कि अपने काम के प्रति कमिटमेंट किसे कहते हैं। एक फिल्म में प्रभास सालों लगा देते हैं।

धैर्य

धैर्य

प्रभास के धैर्य की हर किसी को दाद देनी पड़ेगी । उन्होंने बाहुबली के कैरेक्टर को असल मायनो में इतने सालों तक ना सिर्फ पर्दे पर निभाया बल्कि रील पर भी शानदार तरीके कर दिखाया।

मेहनत का कोई विकल्प नहीं

मेहनत का कोई विकल्प नहीं

एक फिल्म के प्रभास ने क्या क्या नहीं किया। वजन घटाने से लेकर वजन बढ़ाना। कभी अपना लुक बदल लेना। उन्होंने वाकई प्रूव किया है कि अगर सफल होना है तो मेहनत का कोई विकल्प नहीं होता।

हिम्मत

हिम्मत

जो खतरों से खेल जाता है वही असली खिलाड़ी बनता है। ये बात बिल्कुल सच है। उन्होंने बाहुबली करने का रिस्क लिया और जो कोई और स्टार्स नहीं लेना चाह रहा था। नतीजा सबके सामने है।

विश्वास

विश्वास

किसी भी एक्टर के लिए सबसे ज्यादा जरूरत है अपने डायरेक्टर के ऊपर विश्वास बनाए रखना। और प्रभास ने ये विश्वास हमेशा बनाए रखा चाहे वो बाहुबली रही हो या फिर साहो।

टीम प्लेयर

टीम प्लेयर

एक अच्छी टीम ही एक अच्छी फिल्म बना पाती है। और प्रभास अपने साथ अपनी पूरी टीम को भी फिल्म में अपनी छाप छोड़ने का पूरा मौका देते हैं। उनका स्टारडम कभी फिल्म पर हावी नहीं हुआ।

पहले काम

पहले काम

ये सीख भी हर सुपरस्टार को जरूर लेनी चाहिए कि काम से पहले स्टारडम और निजी चीजों को नहीं रखना चाहिए। एक काम ही है जो किसी को फर्श से अर्श पर पहुंचाता है ।

English summary
Saaho actor Prabhas reads his dialogues in hindi, impresses hindi fans. During Saaho promotions Prabhas told the media that he can read as well as write in hindi.
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Filmibeat sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Filmibeat website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more