For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    ऋषि कपूर के निधन पर संजय दत्त का शोक, एक समय था जब पीटने के लिए घर आ धमके थे

    |

    ऋषि कपूर 67 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह गए हैं लेकिन अपने पीछे यादों का पूरा कारवां छोड़ गए हैं। ऐसा ही एक किस्सा तब याद आया जब आज संजय दत्त ने ऋषि कपूर के जाने का शोक किया।

    संजय दत्त ने एक चिट्ठी में लिखा - डियर चिंटू सर, आप हमेशा से मेरे लिए एक प्रेरणा रहे हैं। आपने मुझे पूरी तरह से ज़िंदगी जीना सिखाया है और मुझे हमेशा सही रास्ता दिखाया।

    संजय दत्त ने आगे लिखा - मैंने आपके साथ कई फिल्मों में काम किया और आपने हमेशा सही रास्ता दिखाया। कैंसर से आपकी लड़ाई लंबी रही। लेकिन जब भी आपसे बात हुई, लगा ही नहीं कि आप इतने दुख या कष्ट में हैं। आप तब भी ज़िंदगी खुलकर जी रहे थे।

    आखिरी बार आपसे आपके घर पर मिला था। आप तब भी मेरी कितनी चिंता करते थे। आज मेरे लिए बहुत दुख का दिन है क्योंकि एक दोस्त, एक बड़ा भाई और वो इंसान जो मुझे हंसकर जीना सिखाता था, चला गया। मैं आपको बहुत मिस करूंगा चिंटू सर। ईश्वर आपको हमेशा खुश रखे और शांति में रखे। हमेशा आपसे प्यार करता रहूंगा।

    पुराने दौर का किस्सा

    पुराने दौर का किस्सा

    गौरतलब है कि एक समय था जब ऋषि कपूर और संजय दत्त में मार पीट तक की नौबत आ चुकी थी। और इस मारपीट का कारण थीं टीना मुनीम। जो कि अब अनिल अंबानी की पत्नी हैं।

    संजय दत्त की हरकतें

    संजय दत्त की हरकतें

    टीना मुनीम उस दौरान संजय दत्त की गर्लफ्रेंड हुआ करती थीं लेकिन वो संजय से तंग आ चुकी थीं और उनसे कटी कटी रहने लगी थीं। लेकिन संजय को इसमें अपनी कोई गलती नहीं नज़र आ रही थी। उन्होंने आसान तरीका ढूंढा, तीसरे पर दोष डालने का।

    हिट जोड़ी का अफेयर

    हिट जोड़ी का अफेयर

    उस दौरान टीना मुनीम और ऋषि कपूर की जोड़ी परदे पर काफी पसंद की जा रही थी। दोनों ने साथ में कर्ज़ जैसी हिट फिल्म दी थी और दोनों में काफी गहरी दोस्ती भी हो गई थी। लेकिन मीडिया इस दोस्ती को कुछ और नाम देने में पीछे नहीं हट रही थी।

    मीडिया को माना

    मीडिया को माना

    संजय दत्त ने भी वही माना जो मीडिया ने लिखा। उनका कहना था कि टीना मुनीम को ऋषि कपूर पसंद आ रहे हैं और वो उनके साथ हैं। दोनों का अफेयर चल रहा है और टीना ने उन्हें धोखा दिया है।

    मारने पहुंच गए

    मारने पहुंच गए

    संजय दत्त यहीं नहीं रूके, एक दिन वो अपने खास दोस्त गुलशन ग्रोवर के साथ ऋषि कपूर के घर तक पहुंच गए। दोनों का मकसद ऋषि कपूर को मारपीट कर सबक सिखाना था।

    नीतू सिंह ने संभाली बात

    नीतू सिंह ने संभाली बात

    लेकिन ऋषि कपूर के घर से निकलीं नीतू सिंह। उन्होंने संजय और गुलशन को बैठा कर समझाया कि टीना और ऋषि केवल अच्छे दोस्त हैं और दोनों के बीच कोई अफेयर नहीं है।

    भनक तक नहीं लगी

    भनक तक नहीं लगी

    चूंकि ऋषि कपूर घर पर थे नहीं इसलिए उन्हें इस बात की भनक तक नहीं लगी। काफी बाद में नीतू कपूर ने उन्हें इस किस्से के बारे में बताया था। वहीं संजय दत्त ने भी दोबारा कभी इस बात का ज़िक्र नहीं किया।

    एक और बार डांटा

    एक और बार डांटा

    संजय दत्त और रणबीर कपूर भी काफी करीब थे। संजय, रणबीर को अपनी गाड़ी में घुमाने ले जाते थे और उन्हें कई तरह के तोहफे देते थे जिसमें हार्ले डेविडसन बाईक तक शामिल थी।

    रणबीर ने खोला राज़

    रणबीर ने खोला राज़

    रणबीर कपूर ने एक इंटरव्यू में बताया कि एक बार ऋषि कपूर संजय दत्त की इन आदतों से तंग आ गए और उन्होंने फोन कर संजय को डांटा और कहा कि मेरे बेटे से दूर रहो। मैं उसे तुम्हारी तरह बिल्कुल बनाना नहीं चाहता।

    दिलचस्प जुड़ाव

    दिलचस्प जुड़ाव

    दिलचस्प है कि काफी सालों बाद, रणबीर कपूर ने संजय दत्त की बायोपिक में संजय दत्त का किरदार निभाया। संजय के किरदार को रणबीर ऐसा घोंट कर पी गए कि किसी को लगा ही नहीं कि परदे पर संजय दत्त नहीं हैं।

    English summary
    Sanjay Dutt wrote a heartfelt note on Rishi Kapoor’s demise. He once came to beat him up for having an affair with his girlfriend.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X