For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    मैं, मेरा परिवार ज़िंदगी खत्म कर चुके होते, लेकिन हमें न्याय की उम्मीद है - रिया चक्रवर्ती

    |

    रिया चक्रवर्ती इंडिया टुडे और एनडीटीवी से दिल खोलकर सुशांत के बारे में बात की और अपना पक्ष रखा और इस दौरान वो ये साफ करती दिखीं कि इस पूरे मामले में उनके साथ उनके परिवार को भी किस तरह दोषी करार दे दिया गया है। उन्होंने बताया कि ये उनके परिवार के लिए कितना मुश्किल वक्त है।

    रिया का कहना है कि जिस तरह उन्हें और उनके परिवार के साथ इस पूरे मामले में बर्ताव किया गया है, वो लोग अपनी ज़िंदगी खत्म कर लेते। लेकिन उन्हें न्याय व्यवस्था पर भरोसा है। और इसलिए जीने की हिम्मत आ रही है।

    रिया ने बताया कि उनके पिता ने इंडियन आर्मी को अपने 25 साल दिए हैं लेकिन इसके बदले उनके साथ किस तरह बर्ताव किया जा रहा है। उनके घर के बाहर भीड़ जमा है। लोग नतीजा आने से पहले ही पूरे परिवार के साथ दोषियों जैसा बर्ताव कर रहे हैं।

    रिया ने आगे बताया कि उन्हें नहीं लगता कि उन्हें अरेस्ट किया जाएगा। उन्होंने ऐसा कुछ किया ही नहीं है कि उन्हें अरेस्ट किया जाए। उनकी मां को अस्पताल में भर्ती किया जा सकता है। वो कभी भी टूट जाती हैं। उनके पिता पर मीडिया टूट पड़ा है। लोग उनके बारे में कुछ भी कह रहे हैं।

    रिया का कहना है कि वो पूरी तरह से टूट चुकी हैं लेकिन वो ज़िंदा हैं क्योंकि वो सच बोल रही हैं। पूरा देश झूठ पर बनी कहानियों पर भरोसा कर रहा है। मैं जो भी कहती हूं उसे तोड़ मरोड़ कर ही पेश किया जाता है। उनके पूरे परिवार की मानसिक हालत बिगाड़ दी गई है।

    रिया ने इस इंटरव्यू में अपने और अपने परिवार की हालत के बारे में भी बात की -

    कंगना पर बोलीं रिया

    कंगना पर बोलीं रिया

    रिया का कहना है कि कंगना रनौत लगातार बोलती गईं कि सुशांत को systematically तोड़ कर खत्म करने की कोशिश की गई। तो क्या मेरे और मेरे परिवार के साथ भी वही नहीं हुआ? हमारे बारे में जो बोला जा रहा है वो तो एक बार चेक भी नहीं किया जा रहा है। पत्रकारिता को इस देश में क्या हो चुका है?

    सीबीआई जांच पर बोलीं रिया

    सीबीआई जांच पर बोलीं रिया

    मैं सबसे पहली इंसान थीं जिसने सुशांत के लिए सीबीआई जांच की मांग की थी। मुझे नहीं पता कि लोग क्यों कह रहे हैं कि मुझे सीबीआई जांच नहीं चाहिए। बिहार में FIR से पहले ही मैं सीबीआई जांच की मांग कर चुकी थी। मुझे भी जानना था कि आखिरी एक हफ्ते में क्या हुआ जब मैं उसके साथ नहीं थी। वो मुझे हमेशा कहता था कि वो ऐसा कुछ नहीं कर सकता।

    मेरे साथ बुरा बर्ताव हुआ

    मेरे साथ बुरा बर्ताव हुआ

    मुंबई पुलिस ने मेरे साथ बहुत सख्ती से बर्ताव किया। ED ने भी वैसा ही सुलूक किया और सीबीआई भी वैसा ही करेगी। मैं भी चाहती हूं कि सच बाहर आए लेकिन मेरे साथ इस तरह का बर्ताव कर के नहीं। मैंने पूरी तरह से हर जांच में सहयोग किया है। मैं बस चाहती हूं कि मीडिया हमारे साथ निष्पक्ष रह कर जांच करे। आप एक साधारण से, मध्यम वर्गीय परिवार को तोड़ चुके हैं।

    हां हमारे रिलेशनशिप में कमी थी

    हां हमारे रिलेशनशिप में कमी थी

    रिया ने अपने और सुशांत के रिश्ते के बारे में बात करते हुए कहा कि हमारी फिल्मों जैसी fairy tale वाली कहानी थी। हां, हमारे बीच दिक्कतें थीं लेकिन कहां नहीं होतीं। मुझे अभी भी विश्वास नहीं होता कि ऐसा हो गया। लेकिन मुझे तो ढंग से रोने तक का समय नहीं मिला। वो सबसे अच्छा बॉयफ्रेंड था। मुझे उस पर गर्व था।

    सुशांत के परिवार पर

    सुशांत के परिवार पर

    सुशांत के परिवार पर बात करते हुए रिया ने साफ किया कि उन्होंने सुशांत के परिवार को उसके डिप्रेशन के बारे में बताया था। लेकिन फिर भी वो लोग उसे छोड़ कर चले गए। अपनी यूरोप ट्रिप पर भी सुशांत अपने परिवार के संपर्क में था। मैंने नवंबर में ही उन्हें सुशांत की दवाईयों और डॉक्टर के बारे में बताया था।

    मुझे तोड़ा जा रहा है

    मुझे तोड़ा जा रहा है

    रिया ने NIA की जांच के बारे में बात करते हुए कहा कि मुझे लगातार तोड़ा जा रहा है। मेरे अंदर बस लड़ने की हिम्मत है लेकिन उसे भी खत्म करने की कोशिश की जा रही है। कल को इस मीडिया प्रेशर की वजह से अगर हम तीनों को कुछ होता है तो?

    मेरी औकात बस इतनी

    मेरी औकात बस इतनी

    रिया ने बताया कि लोग मेरी औकात की बात कर रहे हैं। तो मेरी औकात बस इतनी सी है कि जिस आदमी से हर कोई प्यार करता था, वो आदमी मुझसे प्यार करकता था। मुझे समझ नहीं आ रहा है कि इस पूरी कहानी के बीच में मैं कैसे आ गई हूं और क्यों हूं।

    बहुत खराब दुनिया है

    बहुत खराब दुनिया है

    मैंने कभी नहीं सोचा था कि दुनिया इतनी खराब है। मुझे gold digger से लेकर काला जादू करने वाली कहा जा रहा है। मेरा बंगाली लड़की होना, उस बात की पुष्टि भी करता है। हर कोई इस केस का जज बन चुका है और अपना ही फैसला सुना रहा है। लोग झूठी कहानियों को सच मान रहे हैं क्योंकि गुज़रने वाले के परिवार ने ये कहानियां सुना दी हैं।

    मैं गर्लफ्रेंड हूं तो गलत हूं

    मैं गर्लफ्रेंड हूं तो गलत हूं

    इस देश में लड़कियां और बहुएं ही गलत हो जाती हैं। मैं गर्लफ्रेंड हूं बस इसलिए गलत करार दे दी गई हूं। लोगों ने एक मौत का तमाशा बना दिया है। सुशांत की सारी अच्छी यादें मिटा दी गई हैं। आप किस तरह के फैन हैं अगर आप उसकी मौत के बाद की तस्वीरें जारी कर रहे हैं। उन्हें वायरल कर रहे हैं।

    हर कहानी के दो पहलू

    हर कहानी के दो पहलू

    मैं मीडिया से गुज़ारिश करती हूं कि अपना फैसला मत सुनाइए। जांच एजेंसियों का काम उन्हें करने दीजिए। हर कहानी के दो पहलू होते हैं इसलिए मैंने आज अपना पक्ष रखा है। आप महीनों से एक ही पक्ष की बात सुन रहे हैं। मेरे साथ ऐसे इंसान के साथ कुछ करने का कोई मकसद नहीं था, जिससे मैं प्यार करती थी, जिसके बिना रहना मुश्किल है। मेरी भी बात समझिए। और मैं सुशांत के परिवार से गुज़ारिश करूंगी कि थोड़ी इंसानियत दिखाइए। अगर मैं और मेरा परिवार टूट भी जाए, मैं तब तक लड़ूंगी जब तक सच बाहर नहीं आता।

    English summary
    Rhea Chakraborty in her interview to NDTV claims she wanted to end her life after all this but she has the strength to live as she hopes for justice.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X