For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    सुशांत की बहन पर भड़कीं रिया - मीतू की दी दवा से कैसे हुई सुशांत की मौत, पूरी जांच हो

    |

    रिया चक्रवर्ती ने सुशांत सिंह राजपूत की बहनों के खिलाफ FIR दर्ज की थी और सुशांत की बहनों ने इस FIR को रद्द करने की गुज़ारिश की थी। अब रिया चक्रवर्ती ने वापस बॉम्बे हाईकोर्ट से मांग की है कि इस FIR को रद्द करने की बजाय इस पर पूरी जांच की जानी चाहिए।

    रिया चक्रवर्ती ने साफ किया कि सुशांत सिंह राजपूत की बहन, उन्हें कुछ दवाईयों दे रही थीं जो मनोरोगियों को दी जाती हैं। ये दवाईयां बिना किसी डॉक्टर के परामर्श के नहीं दी जा सकती है। लेकिन फिर भी उन्होंने सुशांत को वो दवाईयां दीं।

    इतना ही नहीं सुशांत की बहन ने अपने एक डॉक्टर दोस्त से झूठा परामर्श पर्चा भी बनवाया जिससे सुशांत को वो दवाईयां लेने में कोई दिक्कत ना हो। रिया का सवाल है कि इन दवाईयों को खाने के एक हफ्ते बाद ही सुशांत की मौत हो गई। तो वो कौन सी दवाईयां थीं इस पर जांच की जानी चाहिए।

    इससे पहले भी रिया कह चुकी हैं कि सुशांत को जब रिया ने छोड़ा, तो वो बिल्कुल ठीक थे। 14 जून को सुशांत की मौत से पहले एक हफ्ते तक उनकी बहन मीतू उनके साथ रह रही थीं। तो मीतू से पूछताछ की जानी चाहिए कि एक हफ्ते में ऐसा क्या हो गया कि सुशांत की मौत हो गई।

    गौरतलब है कि अपनी ज़मानत याचिका में भी रिया चक्रवर्ती सुशांत सिंह राजपूत के परिवार के काफी राज़ खोल चुकी हैं -

    बहनों पर था शक

    बहनों पर था शक

    रिया ने अपनी याचिका में साफ लिखा था कि सुशांत सिंह राजपूत को अपनी बहनों पर शक था। उन्हें लगता था कि उनकी बहनें उनके पैसों के पीछे हैं। इसीलिए वो दोस्तों के साथ रहना पसंद करते थे और परिवार से दूर रहते थे।

    दुख बांटा पर शक नहीं गया

    दुख बांटा पर शक नहीं गया

    रिया का कहना था कि सुशांत ने अपनी बहनों को डिप्रेशन के बारे में बताया था जिसके बाद नवंबर में तीनों बहनें उन्हें लेने आई थीं। लेकिन सुशांत उनके साथ नहीं गए क्योंकि उन्हें लगता था कि बहनों को केवल उनके पैसों में दिलचस्पी है।

    सुनाई देती थी मां की आवाज़

    सुनाई देती थी मां की आवाज़

    रिया चक्रवर्ती ने अपनी ज़मानत याचिका में सुशांत सिंह राजपूत की मानसिक स्थिति का ज़िक्र करते हुए कहा था कि सुशांत को अकेले में अपनी मां की आवाज़ सुनाई देती थी। ऐसा वो रिया को खुद बताते थे। ये बात सुशांत ने रिया को जून 2020 में ही बताई थी।

    मौत का असर

    मौत का असर

    रिया चक्रवर्ती ने अपनी ज़मानत याचिका में बताया था कि सुशांत सिंह राजपूत, ऋषि कपूर और इरफान खान के निधन से बहुत ज़्यादा दुखी थे। और इसका उन पर बहुत ही गहरा असर पड़ा था।

    बदलना चाहते थे छवि

    बदलना चाहते थे छवि

    रिया का कहना है कि सुशांत सिंह राजपूत अपनी ज़िंदगी को डॉक्यूमेंट करना चाहते थे। ऐसा सुशांत इसलिए करना चाहते थे क्योंकि वो सबके दिमाग में अपनी छवि को बदलना चाहते हैं। इसलिए सिद्धार्थ पिठानी ने उनके कई वीडियो भी लिए थे।

    दोस्तों के साथ ज़िंदगी

    दोस्तों के साथ ज़िंदगी

    एक अमरीकी शो से प्रभावित होकर सुशांत भी हमेशा अपने साथ दोस्तों का एक समूह रखना चाहते थे जिससे वो घिरे रहें। सुशांत अपने कपरी हाइट्स वाले घर में इसी वजह से अपनी बहन प्रियंका, जीजा जी सिद्धार्थ के अलावा दोस्तों सिद्धार्थ पिठानी, आयुष शर्मा, हिमांशु और सैम को साथ रखते थे।

    छोटे शहरों के लोग

    छोटे शहरों के लोग

    वहीं रिया ने ये भी साफ कर चुकी हैं कि सुशांत सिंह राजपूत को छोटे शहरों की मदद करने का शौक था। हालांकि ऐसा करने के पीछे कारण रिया ने साफ नहीं किया है।

    एक्टिंग छोड़ना चाहते थे

    एक्टिंग छोड़ना चाहते थे

    सुशांत ने रिया को जनवरी 2020 में अपने घर जाने को कहा था क्योंकि वो एक्टिंग छोड़कर पावना फार्महाउस में शिफ्ट होना चाहते थे। उन्होंने अपने इस फैसले के बारे में डायरेक्टर रूमी जाफरी को बताया था क्योंकि सुशांत उनकी फिल्म करने वाले थे।

    तुरंत बदल दिया मन

    तुरंत बदल दिया मन

    सुशांत ने उसी महीने रिया को फोन कर वापस बुलाया और कहा कि उन्होंने जिम कैरी की एक फिल्म देखी है और वो अपने डिप्रेशन से लड़ना चाहते हैं। ऐसा करने की हिम्मत उन्हें इसी फिल्म से मिली।

    बना दिया मुजरिम

    बना दिया मुजरिम

    रिया ने अपनी याचिका में कहा कि उन्हें बिना कारण एक witch hunt का हिस्सा बना दिया गया जहां उन्हें केवल एक ऐसे लड़के से प्यार करने की सज़ा मिली जिसे नशे की लत थी और जो मानसिक परेशानियों से जूझ रहा था और जिसका साथ रिया एक पार्टनर के तौर पर दे रही थीं।

    English summary
    Rhea Chakraborty pleaded to Bombay High Court to not dismiss FIR against Sushant Singh Rajput's sister Meetu Singh and demanded a fair trial.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X