»   » #Emotional: "सलमान हमेशा से मेरा फेवरिट बेटा है"

#Emotional: "सलमान हमेशा से मेरा फेवरिट बेटा है"

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

90 के दशक में हिंदी फिल्मों की बेस्ट मां, रीमा लागू का 18 मई को 59 साल की उम्र में निधन हो गया। रीमा लागू की को सीने में दर्द की शिकायत हुई जिसके बाद उन्हें मुंबई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल ले जाया गया।

लेकिन अस्पताल पहुंचने पर रीमा लागू को मृत घोषित कर दिया गया और बॉलीवुड के लिए ये खबर किसी सदमे से कम नहीं है। इस खबर से मराठी, हिंदी और टीवी की इंडस्ट्री ग़मग़ीन हो चुकी है।

salman-khan-reema-lagoo1.jpg

रीमा लागू को सबसे ज़्यादा सलमान खान की मां के रूप में जाना जाता है। एक इंटरव्यू में उनसे पूछा गया था कि शाहरूख, आमिर, सलमान सबकी मां बनने के बाद उनका कोई तो फेवरिट होगा। 

इस पर रीमा लागू ने बिना सोचे ही जवाब दिया कि मेरा फेवरिट बेटा हमेशा से सलमान रहा है। सलमान और संजय मेरे सबसे प्यारे बच्चे रहे हैं। दोनों आपस में भी भाइयो ंकी तरह ही रहते हैं। वहीं शाहरूख के साथ मेरा रिश्ता थोड़ा दोस्ताना है।

गौरतलब है कि साजन में रीमा लागू, संजय दत्त और सलमान खान दोनों की मां बनी थीं। वहीं सलमान खान के साथ उन्होंने मैंने प्यार किया औऱ हम साथ साथ हैं जैसी फिल्में की तो संजय दत्त के साथ वास्तव में शानदार प्रदर्शन किया।

आजकल रीमा लागू फिल्मों से दूर थीं लेकिन टीवी पर नामकरण नाम के सीरियल में सक्रिय थीं। कुछ एपिसोड उन्होंने पहले ही शूट किए हुए हैं जो कि दिखेंगे। पर उन्हें देखने के लिए रीमा अब इस दुनिया में नहीं हैं।

कई ऐसे बॉलीवुड एक्टर्स हैं, जो अपनी आखिरी फिल्म देखने के लिए दुनिया में नहीं रहे -

ओम पुरी

ओम पुरी

ओम पुरी की आखिरी फिल्म थी सलमान खान स्टारर ट्यूबलाइट। उनकी मृत्यु के बाद द गाज़ी अटैक रिलीज़ हुई। अभी उनकी कई फिल्में रिलीज़ होना बाकी हैं जिनमें डेथ इन द गंज और ट्यूबलाइट मुख्य हैं।

विनोद खन्ना

विनोद खन्ना

विनोद खन्ना को याद करते हुए प्रोड्यूसर रमेश सिप्पी कहते हैं कि मेरी जो फिल्म आज कर रिलीज़ नहीं हुई वो है विनोद खन्ना स्टारर ज़मीन। हालांकि फिल्म को 76 में रिलीज़ होना था पर किसी कारण से नहीं हो पाई। काश मैं वो फिल्म रिलीज़ कर पाता।

फारूख शेख

फारूख शेख

फारूख शेख की आखिरी फिल्म थी ये जवानी है दीवानी। इसके बाद उन्होंने दुनिया से विदा ले ली। उनकी मृत्यु के बाद उनकी फिल्म यंगिस्तान रिलीज़ हुई थी।

मीना कुमारी

मीना कुमारी

उन्हें बॉलीवुड की ट्रैजेडी क्वीन कहा जाता है। पाकीज़ा के सेट पर उनकी मौत हुई थी। 1972 में उनकी फिल्म गोमती के किनारे रिलीज़ हुई जो बॉक्स ऑफिस पर कोई कमाल नहीं दिखा पाई।

गरम हवा

गरम हवा

बलराज साहनी जी को दो बीघा जमीन ने बुलंदियों पर पंहुचा दिया था। उन्होंने भारतीय सिनेमा को कई बेहतरीन फिल्मे दी हैं। अप्रैल 1973 में उनकी मृत्यु हो गई। उनके इस दुनिया से चले जाने के बाद उनकी प्यार का रिश्ता, हिंदुस्तान की कसम, हस्ते जख्म और गरम हवा जैसी फ़िल्में रिलीज़ हुई।

संजीव कुमार

संजीव कुमार

संजीव कुमार अपने रोल बड़ी संजीदगी के साथ निभाते थे। उन्होंने अपने नाम कई अवार्ड्स भी किए हैं। 1985 में वे इस दुनिया से चल बसे। उनकी मौत के बाद उनकी 10 फिल्मे पेंडिंग थी। जिनमें से प्रोफेसर की पड़ोसन सबसे लास्ट में रिलीज़ हुई थी।

स्मिता पाटिल

स्मिता पाटिल

स्मिता पाटिल पैरेलल सिनेमा की क्वीन थी। दिसम्बर 1986 में कुछ कारणों से उनकी मौत हो गई और पीछे मुख्य किरदारों वाली 14 फिल्मे छोड़ गई। उनकी लास्ट रिलीज़ गलियों का बादशाह थी।

अमजद खान

अमजद खान

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि गब्बर का किरदार अमजद खान से बेहतर कोई और नहीं निभा पाता। जुलाई 1992 में हार्ट अटैक से उनकी मृत्यु हो गई। उनके निधन के बाद उनकी रुदाली, दो फन्टूश, आतंक, सौतेला भाई जैसी फ़िल्में रिलीज़ हुई।

दिव्या भारती

दिव्या भारती

दिव्या भारती ने महज़ 19 की उम्र में फिल्म इंडस्ट्री में एक अलग पहचान बना ली थी। लेकिन दुर्भाग्यवश इतनी कम उम्र में ही उनका देहान्त हो गया। उनके इस आकस्मिक निधन की वजह से कई फिल्मकारों की फिल्में बीच में ही अटक गई। उनकी मौत के बाद उनकी दो फिल्मे रंग और शतरंज सिनेमाघरों में आयी।

अमरीश पुरी

अमरीश पुरी

बॉलीवुड के मोगेम्बो अमरीश पुरी की जनवरी 2005 में ब्रेन हैमरेज के कारण मृत्यु हो गई थी। उनके देहान्त के कुछ दिनों बाद ही विवेक ओबेराय के मुख्य अभिनय वाली उनकी ब्लॉकबस्टर फिल्म किसना रिलीज़ हुई थी। इसके अलावा 2006 में उनकी एक और फिल्म कच्ची सड़क भी सिनेमाघरों में लगी थी।

शम्मी कपूर

शम्मी कपूर

बॉलीवुड के सबसे ज़्यादा एनरजेटिक अभिनेताओं में से एक शम्मी कपूर भी थे। उन्हें परदे पर देखना हर किसी को एक अलग ही ऊर्जा से भर देता था। शम्मी कपूर आखिरी बार रणबीर कपूर की रॉकस्टार में एक छोटे से किरदार में नज़र आए थे। फिल्म उनकी मौत के बाद रिलीज़ हुई थी।

जॉय मुखर्जी

जॉय मुखर्जी

जॉय मुखर्जी 1960-70 के दौरान के अभिनेता थे। लेकिन उनकी अंतिम फिल्म लव इन बॉम्बे अपनी मेकिंग के लगभग 42 साल बाद 2013 में उनके बेटों द्वारा रिलीज़ की गई। जॉय मुखर्जी का देहांत मार्च 2012 में हुआ था।

राजेश खन्ना

राजेश खन्ना

राजेश खन्ना बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार माने जाते हैं। उनकी मृत्यु के बाद उनकी फिल्म रियासत रिलीज़ की गई थी।

English summary
Reema Lagoo passed away called Salman Khan as best son in an interview.
Please Wait while comments are loading...

रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi