For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    राजू अगर ज़िंदा भी रहता तो उसकी ज़िंदगी बहुत मुश्किल हो जाती: जॉनी लीवर, गोविंदा के दोनों भांजे भी हुए भावुक

    |

    मंगलवार, 21 सितंबर की सुबह इंटरटेनमेंट जगत के लिए एक मुश्किल घड़ी लेकर आई जब कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव के निधन की खबर मिली। राजू श्रीवास्तव, लगभग डेढ़ महीने से ICU में अपनी ज़िंदगी के लिए लड़ रहे थे। इस बीच कई बार उनके निधन की अफवाहें उड़ीं लेकिन उनके दोस्तों ने लगातार इसका खंडन किया।

    राजू श्रीवास्तव की पत्नी शिखा ने राजू के फैन्स को ये वादा भी किया कि ज़िंदगी की हर लड़ाई की तरह, राजू ये लड़ाई भी जीतेंगे और जल्दी ही अपने फैन्स को हंसाने के लिए मंच पर वापस लौटेंगे। लेकिन राजू श्रीवास्तव, 58 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह गए।

    राजू श्रीवास्तव को भाई की तरह मानने वाले उनके साथी कलाकार, जॉनी लीवर ने भी इंटरटेनमेंट टाईम्स से की एक बातचीत में राजू श्रीवास्तव के साथ अपने रिश्ते के बारे में बात की। वहीं गोविंदा के दोनों भांजे कृष्णा अभिषेक और विनय आनंद भी राजू श्रीवास्तव के साथ अपनी भावुक यादें शेयर करते दिखे।

    स्तब्ध हैं जॉनी लीवर

    स्तब्ध हैं जॉनी लीवर

    जॉनी लीवर राजू श्रीवास्तव के बड़े भाई की तरह थे। उन्होंने राजू श्रीवास्तव के बारे में बात करते हुए कहा, मैं उसकी पत्नी से उसकी सेहत के बारे में लगातार पूछ रहा था। उसके ठीक होने की प्रार्थना कर रहा था। शिखा, उसके पास फोन भी रख देती थी कि शायद वो हमारी आवाज़ सुने तो हमसे बात करे। मैं एम्स में राजू से मिलने भी गया था। वो डेढ़ महीने से लड़ रहा था। सुबह साढ़े आठ बजे उसे खून बहने लगा और कुछ ही घंटों के अंदर हमें खबर मिली कि वो नहीं रहा। मैं इस खबर को सुनने के बाद स्तब्ध हूं।

    देखा है संघर्ष

    देखा है संघर्ष

    जॉनी लीवर ने आगे बताया, मैंने और राजू ने साथ में काफी काम किया है। मैंने जॉनी लीवर नाइट्स शुरू किया था और तब से वो मेरे साथ काम कर रहा है। कानपुर से मुंबई आया था और तब नया था। फिर उसने खुद शो करना शुरू किया। मैंने उसे सलाह दी अपना शो करने की। उसने टीवी और फिल्मों में भी काम किया। बहुत काम किया। हम साथ में कोई फिल्म नहीं कर पाए। उसकी शादी हमारे सामने हुई। वो मेरे लिए परिवार की तरह था। वो मेरे भाई का भी दोस्त था।

    मिमिक्री क्लब में रहते थे सक्रिय

    मिमिक्री क्लब में रहते थे सक्रिय

    हम साथ में पड़ोसी थी। कई सालों तक किराए के घर में रहते थे। राजू मिमिक्री एसोसिएशन की हर मीटिंग में मौजूद रहता था। उसने मेरे भाई के साथ भी कई शो किए हैं। हमारे बीच बहुत गहरा रिश्ता था और मज़बूत रिश्ता था। अगर वो बच भी जाता तो उसके दिमाग की रिपोर्ट्स अच्छी नहीं थी, उसके लिए ज़िंदगी बहुत ही ज़्यादा मुश्किल हो जाती। वो बहुत कष्ट में रहता।

    कृष्णा अभिषेक ने किया याद

    कृष्णा अभिषेक ने किया याद

    राजू श्रीवास्वत को याद करते हुए कृष्णा अभिषेक ने कहा, ये बहुत ही दुखद है। मैं राजू भाई को सालों से जानता हूं। मेरी पहली फिल्म थी दिल भी क्या चीज़ है। 2000 में आई थी और इस फिल्म में राजू भाई एक्टर थे और मैं असिस्टेंट डायरेक्टर। मेरा काम था उन्हें वैनिटी वैन से सेट तक लेकर आना। मैं उन्हें अपने संघर्ष के दिनों से जानता हूं। बाद में जब एक्टर बना तो उनके साथ काम करने का मौका भी मिला। जहां जाएगा हमें पाएगा नाम की एक फिल्म थी जिसमें चीची मामा (गोविंदा) और राजू भाई थे। मैंने उनके साथ कॉमेडी सर्कस सहित कई शो में काम किया है। वो भारत में कॉमेडी का स्तर अलग ऊंचाई पर लेकर गए। वो एक शानदार इंसान थे और सब उन्हें मिस करेंगे।

    राजू भाई की एनर्जी कमाल की थी

    राजू भाई की एनर्जी कमाल की थी

    कृष्णा अभिषेक ने आगे बताया, राजू जी साथ होते थे तो हंसी के दंगे होते थे। वो सेट पर भी हमेशा चुटकुले मारते रहते थे, मस्ती के मूड में रहते थे। मैं उन्हें चीची मामा के घर पर भी मिलता था। दोनों काफी अच्छे दोस्त थे और दोनों ने साथ में काफी काम किया है। उन्होंने मुझे असिस्टेंट डायरेक्टर से एक्टर और फिर कॉमेडियन बनते देखा है। वो अक्सर मुझे मेरे करियर के बारे में सलाह भी देते थे। उन्हें दिल का दौरा पड़ने से कुछ दिन पहले मैंने उन्हें स्टैंड अप कॉमेडी परफॉर्म करते देखा था। मैं कपिल शर्मा शो पर कुछ काम के लिए गया था। मैं उन्हें स्टेज पर परफॉर्म करते देख रहा था और बैकस्टेज जो लोग खड़े थे उन्हें बता रहा था, देखो राजू भाई की एनर्जी कितनी कमाल की है। बाद में मैं उन्हें स्टेज पर भी मिलने गया था।

    विनय आनंद ने शेयर की यादें

    विनय आनंद ने शेयर की यादें

    राजू श्रीवास्तव के साथ आमदनी अठन्नी खर्चा रूपैया में काम करने वाले एक्टर विनय आनंद, जो कि गोविंदा के भांजे भी हैं, उन्होंने राजू श्रीवास्तव के बारे में इंटरटेनमेंट टाइन्स से बात करते हुए बताया कि जब मैं संघर्ष कर रहा था तब राजू जी गोविंदा मामा के घर आते थे और दोनों में काफी अच्छी ट्यूनिंग थी। मैंने भी उनके साथ कुछ शो किए थे और उनकी स्टेज पर पकड़ उम्दा थी। एक्टिंग के साथ साथ वो शानदार इंसान थे। हर किसी को राजू जी जैसा होना चाहिए, हंसो और दुनिया को हंसाओ।

    English summary
    Johny Lever mourned friend Raju Srivastav's demise but said he passed away for better. While Govinda's nephews Vinay Anand and Krushna Abhishek also shared memories working with the comedian.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X