For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    अमिताभ बच्चन के ट्टीट पर बवाल, जलसा के बाहर मचा हंगामा, कहा- मुंबईकर को गर्व नहीं

    |

    अमिताभ बच्चन के मुंबई स्थित घर जलसा के बाहर बुधवार को प्रदर्शन किया गया। ये विरोध उस ट्टीट के खिलाफ है जो अमिताभ ने बीते दिन किया। अमिताभ ने मुंबई मेट्रो के सपोर्ट में एक ट्टीट किया था। इसी के बाद से उनके घर के बाहर कई लोग 'सेव आरे' के नाम से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

    वहां मौजूद एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि हमसे पूछा जा रहा है कि जलसा के बाहर इस तरह का प्रदर्शन क्यों किया जा रहा है। ये इस वजह से है ताकि हम बच्चन साहब के ट्टीट का जवाब दे सके। अमिताभ ने कहा कि गार्डन में पेड़ लगाना चाहिए। लेकिन गार्डन से जगंंल नहीं बनता है।

    कई दिनों से मेट्रो के बदले आरे के जगंल को काटने को लेकर लोग विरोध कर रहे हैं। ऐसे में अमिताभ बच्चन के इस ट्टीट ने एक बार फिर से इस पूरे मामले को गर्म कर दिया है।

    इस ट्टीट से मचा बवाल

    इस ट्टीट से मचा बवाल

    अमिताभ ने अपने ट्टीट में लिखा था कि मेरे एक दोस्त की मेडिकल इमरजेंसी थी। उसने अपनी कार के बदले मेट्रो से जाने का फैसला किया। वापस आया तो मेट्रो से प्रभावित दिखा और कहा कि सुविधाजनक और सबसे कुशल साधन है। प्रदूषण का समाधान, ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाओ। मैंने अपने गार्डन में लगाए हैं क्या आपने किया?

    अमिताभ पर उठे सवाल

    अमिताभ पर उठे सवाल

    अमिताभ के इस ट्टीट के बाद कई लोग उनसे सवाल करने लगे कि क्या वह मेट्रो के बदले आरे के जगंल को काटना सही ठहरा रहे हैं। राहुल एच डोंगरे ने लिखा है कि मेरा मानना है कि सर आपको आरे को बचाने आगे आना चाहिए। आपका प्रेम सिर्फ कैमरे के सामने ही है क्या।

    मुंबईकर को गर्व नहीं

    मुंबईकर को गर्व नहीं

    कैलाश चटर्जी नाम के यूजर ने लिखा है कि क्या आप ये सलाह दे रहे हैं कि आरे के जगंल को नष्ट करके यहां मेट्रो कार शेट होना चाहिए। इससे केवल देवेन्द्र फडवणीस आप पर गर्व कर सकते हैं। लेकिन एक मुंबईकर नहीं।

    मेरी निजता पर हमला

    मेरी निजता पर हमला

    गौरतलब है कि कुछ साल पहले अमिताभ इसी का विरोध कर रहे थेसाल 2010 में अमिताभ अपने बंगले प्रतीक्षा के पास मेट्रो लाइन के निर्माण के खिलाफ थे। उस वक्त कांग्रेस की सरकार थी। उन्होंने इसके बारे में एक ब्लॅाग भी लिखा था। जिसमें उन्होंने कहा था कि यह कैसी उनकी निजता पह हमला करेगा।

    ये है पूरा मामला

    ये है पूरा मामला

    मुंबई के गोरेगांव स्थित 3200 एकड़ में फैले आरे फॉरेस्ट को मेट्रो कार डिपो के निर्माण के लिए हटाया जा रहा है। मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए 2700 पेड़ काटे जायेंगे।

    English summary
    People protesting outside Amitabh Bachchan house for his tweet on metro,here read full news
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X