For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    बॉलीवुड स्ट्रगल को याद कर बुरी तरह रोईं नोरा फतेही, "गंदे लोगों से पाला पड़ा, खाई दर-दर की ठोकरें"! VIDEO

    |

    बॉलीवुड की इस समय सबसे हिट डांसर के तौर पर नोरा फतेही का नाम शुमार है। आज वह अपने टैलेंट के बदौलत इंडस्ट्री पर राज कर रही हैं। कोई भी एलब्म हो या बड़ी फिल्म, डायरेक्टर उन्हें अपनी फिल्म में कास्ट करना चाहते हैं। लेकिन एक समय था जब नोरा फतेही को बॉलीवुड में काफी कुछ फेस करना पड़ा था। हालिया एक इंटरव्यू में नोरा फतेही अपने स्ट्रगल के दिनों को याद किया, वह आज भी अपने उस समय को याद कर रो पड़ती हैं।

    हालिया एक इंटरव्यू में नोरा फतेही ने बताया कि जब वह इंडिया आ रही थीं तो वह काफी एक्साइटिड थीं कि वह अपने काम से कैसे सभी को अट्रैक्ट करेंगी। फिर नोरा ने भारत आकर ढेर सारे ऑडिशन देना शुरू किये, इस दौरान वह कई रिजेक्शन के साथ साथ बॉलीवुड के सबसे बुरे दौर से भी गुजरीं।

    नोरा के मुताबिक, कनाडा से मुंबई आईं तो नोरा फतेही का अनुभव बिल्कुल भी अच्छा नहीं था। एक बार नोरा को कास्टिंग डायरेक्टर ने खुद कॉल करके घर बुलाया। लेकिन इस फीमेल कास्टिंग डायरेक्टर ने नोरा की काफी बेइज्जती की जिसे आज भी नोरा कभी भूला नहीं पाई हैं।

    पासपोर्ट चोरी हो गया, लोगों ने बुली किया

    पासपोर्ट चोरी हो गया, लोगों ने बुली किया

    नोरा ने बताया कि जब मैं सपने संजो कर इंडिया आई थी तो मुझे नहीं मालूम था कि मुझे क्या क्या फेस करना पड़ेगा। मुझे लोगों ने बुली किया। मेरा पासपोर्ट चोरी हो गया। मैंने कभी नहीं सोचा था कि कैसे कैसे लोगों से मेरा पाला पड़ेगा।

    5 साल तक खाईं ठोकरें

    5 साल तक खाईं ठोकरें

    नोरा ने बताया कि मैंने 5 साल तक दर दर की ठोकरे खाईं। मुझे उम्मीद होती थी कि मैं यहां सिलेक्ट हो जाऊंगी या मेरी मेहनत अब रंग लाएगी लेकिन जब मैं उस दरवाजे तक पहुंचती तो मेरे मुंह पर वह दरवाजा बंद कर दिया जाता था।

    तुम्हारे पास कोई टैलेंट नहीं

    तुम्हारे पास कोई टैलेंट नहीं

    नोरा ने अपने संघर्ष को याद कर रो पड़ीं। उन्होंने बताया कि उस महिला ने मुझे नीचा दिखाया और कहा कि मैं वापस अपने घर लौट जाऊं क्योंकि मुझ में बिल्कुल भी प्रतिभा नहीं हैं। हमें तुम जैसे लोगों की कोई जरूरत नहीं है। ये सुन नोरा फूट फूटकर रोने लगी थीं।

    निराश हो गई थीं नोरा

    निराश हो गई थीं नोरा

    नोरा इस घटना के बाद निराश हो गई थीं। लेकिन नोरा ने हार नहीं मानीं और उन्हें भाषा सीखी, अपने टैलेंट पर और काम किया और दोबारा उन्हीं सब स्ट्रगल को फेस किया।

    इंसानियत हार जाती

    इंसानियत हार जाती

    नोरा का कहना है कि इंसान को कभी भी उम्मीद नहीं छोड़नी चाहिए। सबसे कठिन होता है आशाओं के साथ दौड़ना। लेकिन कभी भी होप लेस नहीं होना चाहिए।वह कहती हैं कि मैं बस चाहती हूं कि कोई भी हार न स्वीकार करें क्योंकि जब एक इंसान हारता है तो पूरी इंसानियत हार जाती है।

    आप पर लोग हसेंगे

    आप पर लोग हसेंगे

    नोरा कहती हैं कि इस रास्ते में आप पर लोग हंसेंगे। मुझे खुद ऑडिशन में बुलाकर मजाक उड़ाया जाता था। हिंदी डायलॉग बुलाने के बहाने मेरा भी मजाक बनाया गया था। लेकिन आप आगे बढ़ते रहो।

    English summary
    Nora Fatehi cries on talking about bollywood struggle says she face evil people and rejection
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X