For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    फिल्म इंडस्ट्री और ड्रग पैडलर्स के बीच कनेक्शन पर केंद्र सरकार का बड़ा बयान- 'कोई सबूत नहीं'

    |

    सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग एंगल को लेकर जारी जांच के बीच केंद्र सरकार ने मंगलवार को कहा कि नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) को कार्रवाई करने योग्य ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली है जिसमें फिल्म उद्योग के लोगों और ड्रग के तस्करों के बीच कथित लिंक का खुलासा होता हो। फिल्म इंडस्ट्री के ड्रग्स कनेक्शन के मामले पर गृह मंत्रालय ने बयान जारी किया है।

    केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि एनसीबी ने स्वयं द्वारा प्राप्त या अन्य सूत्रों से प्राप्त कार्रवाई योग्य जानकारी पर साल भर लगातार तलाशी, जब्ती, गिरफ्तारियां और जांच कीं। लॉकडाउन की अवधि के दौरान एनसीबी को ऐसी कोई कार्रवाई योग्य सूचना नहीं मिली जिसमें फिल्म इंडस्ट्री के लोगों और ड्रग तस्करों के बीच मिलीभगत का खुलासा होता हो।

    रेड्डी ने कहा, इस संबंध में एनसीबी की मुंबई इकाई ने 28 अगस्त, 2020 को एक मामला दर्ज किया था। अभी तक 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इस अभियान में गांजा, हशीश, टेट्रा हाइड्रो कैनिबनोल और लिसर्जिक एसिड डी-एथिलेमाइड जैसे नशीले पदार्थ जब्त किये गए।

    लोकसभा में दिया जवाब

    लोकसभा में दिया जवाब

    बता दें कि ये जवाब केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने एक सवाल के लिए दिया। लोकसभा में पूछा गया कि, क्या सरकार ने फिल्म उद्योगों के लोगों और ड्रग कारोबार में शामिल लोगों के बीच मिलीभगत के मामले में विस्तृत जांच कराई है?

    संसद में ड्रग मामला

    संसद में ड्रग मामला

    संसद में काफी देर की बहस के बाद गृह मंत्रालय ने यह जवाब दिया। यह मामला पहली बार लोकसभा के सदन में पहुंचा जब सांसद रवि किशन ने इसे सोमवार को उठाया।

    यहां से शुरु हुआ था मामला

    यहां से शुरु हुआ था मामला

    भारतीय जनता पार्टी के सांसद रवि किशन ने शून्यकाल के दौरान सुशांत सिंह राजपूत केस में आए ड्रग टैफिकिंग के मुद्दे को सदन में उठाया। उन्होंने कहा कि भारत में ड्रग ट्रैफिकिंग का मामला बढ़ता जा रहा है। पाकिस्तान और चीन से नशे की दवाइयां भारत भेजी जा रही हैं। सांसद ने केंद्र सरकार से बड़े स्तर पर जांच करने की अपील की।

    जया बच्चन ने दिया था जवाब

    जया बच्चन ने दिया था जवाब

    रवि किशन की अपील पर जया बच्चन ने कहा था, "जिन लोगों ने फिल्‍म इंडस्‍ट्री से नाम कमाया, वे इसे गटर बता रहे हैं। मैं इससे बिल्‍कुल सहमत नहीं हूं.. सरकार को मनोरंजन इंडस्‍ट्री के साथ खड़े होना चाहिए क्‍योंकि इंडस्‍ट्री हर बार सरकार की मदद के लिए आगे आती है।"

    जिस थाली में खाते हैं, उसी में छेद करते हैं

    जिस थाली में खाते हैं, उसी में छेद करते हैं

    सपा सांसद ने कहा, "मुझे लगता है कि यह बेहद अहम है कि सरकार इस इंडस्‍ट्री का साथ दे, सिर्फ इसीलिए उसकी हत्‍या नहीं करे क्‍योंकि कुछ लोग बुरे हैं। आप पूरी इंडस्‍ट्री की इमेज खराब नहीं कर सकते।"

    उन्‍होंने कहा, "मैं कल बेहद शर्मिंदा हुई जब लोकसभा में हमारे एक सदस्‍य ने, जो कि इंडस्‍ट्री से ही हैं, इंडस्‍ट्री के खिलाफ बोला। यह शर्मनाक है। जिस थाली में खाते हैं, उसी में छेद करते हैं। गलत बात है।"

    दो खेमों में बंटा बॉलीवुड

    दो खेमों में बंटा बॉलीवुड

    बॉलीवुड में ड्रग्स कनेक्शन को लेकर दो खेमे बन चुके हैं। एक जो चाहता है कि यदि एजेंसी जांच करना चाहे तो कर सकती है.. और दूसरा, जिनका कहना है कि बॉलीवुड की छवि जानबूझकर खराब की जा रही है, इसके पीछे राजनीतिक एजेंडा है।

    'शाहरुख, सलमान, आमिर जैसे सितारों पर ड्रग्स लेने का आरोप लगाने वालों का टेस्ट पहले होना चाहिए'

    English summary
    No actionable inputs have been received on any nexus between film industry and drug traffickers, the government told the Lok Sabha.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X