For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी की फिल्म मंटो के 4 साल, शेयर किया Unseen ट्रेलर, इसलिए 1 रूपये में की थी फिल्म

    |

    नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी की फिल्म मंटो की रिलीज़ को चार साल पूरे हो गए हैं। इस मौके पर नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी ने फिल्म का एक अनदेखा ट्रेलर शेयर किया। ट्रेलर शेयर करते हुए, नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी ने लिखा - ये फिल्म मेरे दिल के बहुत करीब थी। आज इसकी रिलीज़ को चार साल पूरे हुए हैं और इस मौके पर वो ट्रेलर शेयर कर रहा हूं जो लोगों ने नहीं देखा।

    गौरतलब है कि मंटो के लिए नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी को काफी तारीफें मिली थीं। फिल्म को डायरेक्ट किया था नंदिता दास ने और इस फिल्म में मशहूर लेखक मंटो की ज़िंदगी को उनकी कहानियों के साथ दिखाया गया था।

    फिल्म में रसिका दुग्गल और ताहिर राज भसीन भी मुख्य भूमिकाओं में थे। फिल्म सआदत हसन मंटो की भारत से लेकर पाकिस्तान तक की यात्रा बयान करती है। फिल्म 2018 में रिलीज़ हुए थे और इस फिल्म के लिए नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी को बेस्ट एक्टर क्रिटिक्स का फिल्मफेयर नॉमिनेशन भी मिला था। टोरंटो इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में भी इस फिल्म को नॉमिनेट किया गया था।

    छोटी सी शुरुआत

    छोटी सी शुरुआत

    नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने साल 1999 में मायानगरी मुंबई में कदम रखा, हीरो बनने की चाह उन्हें यहां खींच लाई। जैसे तैसे आमिर खान की फिल्म सरफरोश में काम करने का नवाजुद्दीन सिद्दीकी को मौका मिला। इस फिल्म में चंद सेकेंड का उनका रोल था। सालों के संघर्ष के बाद उन्होंने बिना किसी गॉडफादर सक्सेस हासिल की। साल 1999 में राम गोपाल वर्मा ने नवाजुद्दीन सिद्दीकी को शूल में और फिर जंगल में कास्ट किया। साल 2003 में आई मुन्नाभाई एमबीबीएस फिल्म में नवाजुद्दीन सिद्दीकी को छोटा सा चोर का रोल मिला।

    रातों रात मिला स्टारडम

    रातों रात मिला स्टारडम

    करियर के शुरुआत में नवाजुद्दीन सिद्दीकी को लगातार छोटे छोटे रोल मिले, जिन्हें उन्होंने रिजेक्ट करने से भला करना समझा। लेकिन साल 2002 से 2005 तक नवाजुद्दीन सिद्दीकी के लिए संघर्ष और दुगुना हो गया। 2004 से 2007 में भी नवाजुद्दीन सिद्दीकी अपने करियर में उतार चढ़ाव का सामना करते रहे। इक्का दुक्का फिल्में की और छोटे छोटे रोल लगातार निभाते चले गए। फिर साल 2012 में अनुराग कश्यप की फिल्म गैंग्स ऑफ वासेपुर से उनका सिक्का चमक गया। इसके बाद द लंचबॉक्स के साथ नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी सुपरस्टार हो गए।

    मिला एमी का नॉमिनेशन

    मिला एमी का नॉमिनेशन

    सुधीर मिश्रा की फिल्म सीरियस मेन नेटफ्लिक्स पर रिलीज़ हुई थी और इसे मिला जुला रिस्पॉन्स मिला था। ये फिल्म मनु जोसेफ के 2010 में आई नॉवेल सीरियस मेन पर आधारित थी। इस फिल्म के लिए नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी को एमी अवार्ड्स ने एक एक्टर की बेस्ट परफॉर्मेंस कैटेगरी में नामांकित किया गया है। इस सीरीज़ में नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी एक दलित तमिल की भूमिका में थे जो अपने तरीके से ऊंची जाति के लोगों को चैलेंज करता है।

    कंगना के साथ काम

    कंगना के साथ काम

    अगर आने वाली फिल्मों की बात करें तो नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी के पास कई प्रोजेक्ट्स हैं जिनमें वो कंगना रनौत के साथ टीकू वेड्स शेरू में काम कर रहे हैं। कंगना रनौत इस फिल्म को प्रोड्यूस कर रही हैं और इसके बारे में बात करते हुए नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी ने एक इंटरव्यू में बताया कि कंगना रनौत के साथ काम करना बहुत ही आसान हैं। वो अपने एक्टर्स को पूरा सम्मान देती हैं और उनके सेट पर माहौल बहुत ही शानदार होता है।

    हड्डी का पोस्टर

    हड्डी का पोस्टर

    कुछ महीनों पहले नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी की अगली फिल्म 'हड्डी' का पहला मोशन पोस्टर सामने आया है जिसमें वो जबरदस्त अवतार में दिखाई दे रहें है। नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने वहीं इस फिल्म के बारे में बात करते हुए कहा- 'मैंने अलग-अलग दिलचस्प किरदार निभाए हैं, लेकिन हड्डी एक अनोखा और खास किरदार होगा क्योंकि इसमें मैं पहले कभी न देखे गए लुक को स्पोर्ट करूंगा और यह मुझे एक अभिनेता के रूप में मेरी कैपेबिलिटी को आगे बढ़ाने में भी मदद करेगा। फिल्म की शूटिंग शुरू करने का मैं बेसब्री से इंतजार कर रहा हूं।'

    एक रूपये में की थी फिल्म

    एक रूपये में की थी फिल्म

    बात करें मंटो की तो एक इंटरव्यू में नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने बताया था कि जब उन्होंने मंटो फिल्म की स्क्रिप्ट सुनी तो उन्हें ये पटकथा काफी पसंद आई। उन्हें ये किरदार उनकी तरह मालूम हुआ। दोनों के विचार एक जैसे लगे। तो उन्होंने इस किरदार के साथ न्याय करना चाहते थे। उन्होंने कहा कि ये किरदार उनसे जुड़ा हुआ था इसके लिए पैसे लेना बेईमानी होती।

    English summary
    Nawazuddin Siddiqui shared an unreleased trailer of Manto as the Nandita Das directorial completes four years of release. Nawazuddin, won accolades for his protrayal of the writer in this biopic.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X