For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    नेशनल अवॉर्ड विजेता बनने पर विवेक अग्निहोत्री- पल्लवी जोशी का बयान - यकीन नहीं हुआ, निगेटिव कमेंट मिले थे

    By Filmibeat Desk
    |

    67 वां राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार का ऐलान सोमवार को किया गया। आपको बता दें कि देश की भिन्न भाषाओं की फिल्मों में से कई सारे नामों का चयन इस पुरस्कार में किया जाता है। दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म छिछोरे को बेस्ट हिंदी फीचर फिल्म का पुरस्कार दिया गया। तो वहीं कंगना रनौत को बेस्ट एक्ट्रेस और मनोज बाजपेयी को बेस्ट एक्टर का पुरस्कार दिया गया।

    लेकिन इसके साथ एक और नाम जो खबरों में अधिक छाया हुआ है वो है पल्लवी जोशी का। पल्लवी जोशी को बेस्ट सहायक अभिनेत्री का पुरस्कार मिला है फिल्म ताशकंद फाइल्स के लिए। राष्ट्रीय पुरस्कार की घोषणा होने के दौरान पल्लवी जोशी को इस बात पर यकीन नहीं हो रहा था कि उन्हें अपने करियर का इतना बड़ा सम्मान मिला है।

    इससे सभी वाकिफ हैं कि पल्लवी जोशी फिल्म इंडस्ट्री के लिए कोई नया नाम नहीं है। उनका नाम कई बड़े और बेहतरीन सिनेमा से जुड़ा है। चलिए जानते हैं कि राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार पाने के बाद पल्लवी जोशी की क्या प्रतिक्रिया रही है। साथ ही इस फिल्म के लिए उनके पति विवेक अग्निहोत्री को भी राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है।

    ताशकंद फाइल्स के लिए विवेक अग्निहोत्री को भी पुरस्कार

    ताशकंद फाइल्स के लिए विवेक अग्निहोत्री को भी पुरस्कार

    पल्लवी जोशी के साथ फिल्म ताशकंद फाइल्स के लिए निर्देशक विवेक अग्निहोत्री को स्क्रीन प्ले और डायलॅाग्स लिखने के लिए भी राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है।

    विवेक का नाम देख बहुत खुश हुई

    विवेक का नाम देख बहुत खुश हुई

    पल्लवी जोशी ने एबीपी न्यूज से बातचीत में बताया कि जब मैंने स्क्रीन पर विजेता के तौर पर विवेक का नाम देखा तो मैं बेहद खुश हुई।

    मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि मेरे नाम का ऐलान हुआ

    मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि मेरे नाम का ऐलान हुआ

    पल्लवी जोशी ने आगे कहा कि जब थोड़ी देर बार मैंने विजेता के तौर पर अपना नाम देखा तो मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि मेरे ही नाम का ऐलान किया गया है।

    पल्लवी ने कहा बाद मैं एहसास हुआ

    पल्लवी ने कहा बाद मैं एहसास हुआ

    पल्लवी ने आगे कहा कि थोड़ी देर बार मुझे इसका एहसास हुआ कि मैंने इस फिल्म को निर्माण करने के साथ इसमें अभिनय भी किया है।

    इससे बड़ी खुशी क्या हो सकती है

    इससे बड़ी खुशी क्या हो सकती है

    द ताशकंद फाइल्स देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के रहस्यमय मौत को लेकर बनाई गई है। विवेक अग्निहोत्री ने खुद को बेस्ट स्क्रीनप्ले पुरस्कार मिलने पर कहा कि लोग फिल्म में मेरे डायलॅाग्स को लेकर निगेटिव चर्चा कर रहे थे। फिल्म की लंबाई पर भी कमेंट किया जा रहा था आज मैंने इसी के लिए पुरस्कार जीता इससे बड़ी खुशी क्या हो सकती है।

    English summary
    National award for the tashkent files winner best supporting actress Pallavi joshi expressed their feelings
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X